कोटा दक्षिण वार्ड 44 : सांझ ढलते ही जम जाती है स्मैक्चियों की महफिल

समाज कल्याण विभाग के कन्या छात्रावास व नगर निगम कॉलोनी में नशेडियों का जमावड़ा, सड़कों पर फैला कचरा, घरों में घुस रहा बरसाती पानी

कोटा दक्षिण वार्ड 44 : सांझ ढलते ही जम जाती है स्मैक्चियों की महफिल

शहर को स्मार्ट बनाने में भले ही यूडीएच मंत्री पूरी ताकत झौंके हुए है लेकिन नगर निगम उनकी मेहनत पर पानी फेरने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा। वार्डों में आज भी लोग मूलभूत सुविधाओं को तरस रहे हैं। कोटड़ी तिलक नगर स्थित समाज कल्याण विभाग के कन्या छात्रावास व नगर निगम कॉलोनी में स्मैक्चियोंं व समाज कंटकों का जमावड़ा लगा होने से कोटा दक्षिण के वार्ड 44 के बाशिंदे परेशान हैं।

कोटा। स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत शहर में करोड़ों की लागत से विकास कार्य करवाए जा रहे हैं। जिसकी झलक कोटा की पहचान बने ऐतिहासिक धरोवर, चौराहों पर बने स्टेच्यू, नवनिर्मित फलाईओवर व अंडरपास के सौंदर्यीकरण में नजर आती है। बाहर से शहर मेटोसिटी का एहसास कराता है लेकिन अंदरूनी इलाकों की हालात देख समझ धोखा खा जाती है। शहर को स्मार्ट बनाने में भले ही यूडीएच मंत्री पूरी ताकत झौंके हुए है लेकिन नगर निगम उनकी मेहनत पर पानी फेरने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा। वार्डों में आज भी लोग मूलभूत सुविधाओं को तरस रहे हैं। वहीं, कोटड़ी तिलक नगर स्थित समाज कल्याण विभाग के कन्या छात्रावास व नगर निगम कॉलोनी में स्मेक्चियों व समाज कंटकों का जमावड़ा लगा होने से कोटा दक्षिण के वार्ड 44 के बाशिंदे परेशान हैं। खुले आम नशीली सामग्री बिक रही कोटड़ी स्थित नगर निगम कॉलोनी व समाज कल्याण विभाग के कन्या छात्रावास के सामने शाम पड़ते ही स्मेक्चियों का जमावड़ा लगना शुरू हो जाता है। वहीं खुलेआम नशा सामग्री खरीदी-बेची जाती है। मोहल्लेवासियों ने कई बार इन्हें भगाने की कोशिश भी की लेकिन ये अभद्रता पर उतारू हो जाते हैं। इलाके के लोगों ने पार्षद व पुलिस को भी इसकी शिकायत की लेकिन कोई ध्यान नहीं देता। वहीं, क्षेत्र की सभी सड़कें उधड़ी पड़ी है। बरसात में पानी जमा होने से दिखाई नहीं देते और यहां से गुजरने के दौरान राहगीर हादसे का शिकार हो जाते हैं। हाल ही में एक सप्ताह में करीब एक दर्जन से अधिक लोग क्षतिग्रस्त सड़कों के कारण चोटिल हो चुके हैं। - मोहसीन खान, नगर निगम कॉलोनी निवासी पानी के लिए रहती है मारामारी कुछ दिनों पूर्व नगर निगम कॉलोनी के पास पानी की पाइप लाइन फूट गई थी, जिसे अभी तक दुरुस्त नहीं किया गया। जबकि, जलदाय विभाग को इसकी शिकायत भी की जा चुकी है। इसकी वजह से नलों में पानी का प्रेशर डाउन हो गया। हालांकि, लंबे समय से जलापूर्ति व्यवस्था में सुधार के लिए पार्षद को भी अवगत कराया था उन्होंने समाधान का आश्वासन भी दिया था, जो अभी तक पूरा नहीं हुआ। छतों पर रखी पानीकी टंकियां भरने के लिए दिनभर मोटर चलानी पड़ती है। जिससे बिजली का बिल अधिक आता है। सुबह से शाम तक पानी के लिए मारामारी मची रहती है। देर रात को ही थोड़ा प्रेशर में सुधार होता है। वहीं, घर-घर कचरा संग्रहण के लिए लगे टीपर इलाके में आते ही नहीं है। कचरा पाइंटों से समय पर कचरा भी नहीं उठता। गंदगी से बीमारियों का खतरा बना रहता है। - शानू खान, नगर निगम कॉलोनी निवासी सड़कों पर गंदगी व कचरा अंजू आईसक्रीम फैक्टी से लेकर कन्या छात्रावास तक जगह जगह गंदगी का ढेर लगा हुआ है। छात्रावास के सामने कचरा पाइंट बना रखा है, जहां से समय पर कचरे का उठाव नहीं किया जाता। भोजन की तलाश में दिनभर आवारा श्वान व मवेशियों का जमावड़ा लगा रहता है, जो कचरे को सड़कों तक फैला देते हैं। वहीं, बरसात से सारा कचरा नालो व नालियों में जमा होने से पानी की निकासी अवरूद्ध हो गई। नाले व नालियां ओवरफ्लो होकर गंदा पानी सड़कों पर जमा रहता है। गंदगी का आलम यह है कि यहां से गुजरने के दौरान मुंह पर कपड़ा बांधना पड़ता है। गंदगी की वजह से बीमारियों का खतरा बना रहता है। इलाके में जगह-जगह जलभराव होने से मच्छर पनप रहे हैं। जिससे मौसमी बीमारियों का खतरा बना रहता है। पार्षद से नियमित सफाई करवाने का आग्रह किया लेकिन ध्यान नहीं दिया गया। - मजहर खान, तिलक नगर घरों में घुस रहा नालों व बरसात का पानी पालीवाल कम्पाउड स्थित कोटड़ी क्षेत्र में ड्रेनेज सिस्टम नहीं होने से बरसात का पानी सड़कों पर घुटनों से ऊपर तक भरा रहता है। घरों में तीन-तीन फीट पानी घुस जाता है। कमरों में गंदगी का ढेर लग जाता है। घर-गृहस्ती के कई सामान बह जाते हैं। जनहानी की आशंका से बचने के लिए छतों पर ढेरा जमाना पड़ता है। हाल ही में पूरे घर में घुटनों तक पानी भर गया था। वहीं, वार्ड में नियमित सफाई नहीं होती। दुर्गंध से मोहल्लेवासियों का जीना मुहाल हो रहा है। पार्षद इलाके में आते ही नहीं है। कहां शिकायत करें कुछ समझ में नहीं आता। कुछ दिनों पूर्व नगर निगम में भी शिकायत की थी लेकिन सुनवाई नहीं हुई। वहीं, शाम होते ही नुक्कड़ों पर समाज कंठकों का जमावड़ा लग जाता है। - अबरार हुसैन, कोटड़ी निवासी वार्ड में कई समस्याएं हैं, जिनके समाधान का पूरा प्रयास कर रहा हूं। नगर निगम कॉलोनी में स्मेक्चियों का जमावड़ा लगा रहता है, जिसके लिए गुमानपुरा पुलिस से कार्रवाई के लिए आग्रह किया है। वहीं, सफाई व्यवस्था के लिए सफाईकर्मी लगा रखे हैं। असल में परेशानी यह है, कन्या छात्रावास के सामने हमारा कचरा पाइंट है, जहां दूसरे वार्ड के लोग भी कचरा डालते हैं। मेरे वार्ड की सफाई के लिए नगर निगम से रोजाना एक ट्रैक्टर ट्रॉली कचरा उठाने आती है लेकिन हमारे वार्ड से सटे दूसरे वार्ड के पार्षद उनकी ट्रॉली वहां नहीं लगाते, जिससे कचरे का उठाव सही तरह से नहीं हो पाता। वहीं, एरोड्राम सर्किल से लेकर नए बस स्टैंड तक यूआईटी की ओर से नाला निर्माण करवाया जा रहा है, जब तक यह काम पूरा नहीं हो जाता तब तक बरसाती पानी को डायवर्ट नहीं कर पाएंगे। यह नाला बनने के बाद समस्या खत्म हो जाएगी। इसके अलावा पेयजल आपूर्ति के लिए यूडीएच मंत्री को प्रस्ताव बनाकर दिए हैं। 300 करोड़ की पेयजल योजना के तहत हमने धानमंडी की दोनों पानी की टंकी चालू करवाने व नगर निगम कॉलोनी में एक नई टंकी बनाने का प्रस्ताव रखा है, मंत्री धारीवाल से प्रस्ताव को हरि झंडी मिल चुकी है। टंकी बनने के बाद पेयजल आपूर्ति की समस्या खत्म हो जाएगी। - लेखराज योगी, पार्षद वार्ड 44

Post Comment

Comment List

Latest News

पत्नी और नाबालिग बच्चों की जिम्मेदारी से नहीं भाग सकता कोई व्यक्ति : सुप्रीम कोर्ट पत्नी और नाबालिग बच्चों की जिम्मेदारी से नहीं भाग सकता कोई व्यक्ति : सुप्रीम कोर्ट
अदालत ने उस व्यक्ति की अर्जी को खारिज कर दिया जिसमें उसका कहना था कि वह अपनी पत्नी और बच्चों...
भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुई सोनिया गांधी, राहुल ने कहा, यात्रा को मिलेगी मजबूती
विकास के लिए धन की कोई कमी नहीं, आप मांगते-मांगते थक जाएंगे पर मैं देते-देते नहीं थकूंगा: गहलोत
दिल्ली के कपड़ा मार्केट में लगी भीषण आग, 1 व्यक्ति की मौत
फकीर आदमी हूं, मेरे यहां धेला नहीं मिलेगा और चुनाव में अखिलेश-जयंत की मदद करूंगा: सत्यपाल मलिक
बॉन्ड नीति के विरोध में रेजिडेंट डॉक्टर्स का अस्पतालों में पूर्णतया कार्य बहिष्कार
पूर्व पुलिसकर्मी ने चाइल्ड केयर सेंटर में की फायरिंग, 23 बच्चों समेत 34 लोगों की मौत