शेयर मार्केट पर कोरोना का फिर कहर : शेयर बाजार में भूचाल, सेंसेक्स और निफ्टी में 1.65 फीसदी की गिरावट

शेयर मार्केट पर कोरोना का फिर कहर : शेयर बाजार में भूचाल, सेंसेक्स और निफ्टी में 1.65 फीसदी की गिरावट

बीएसई का 30 शेयरों का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 949.32 अंक गिरकर 57 हजार अंक से नीचे 56747.14 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 17 हजार के मनोवैज्ञानिक स्तर से फिसलकर 16912.25 अंक पर रहा। इस दौरान छोटी और मझौली कंपनियों में भी बिकवाली हुयी जिससे बीएसई का मिडकैप 1.35 प्रतिशत उतरकर 24842.18 अंक पर और स्मॉलकैप 1.35 फीसदी गिरकर 28038.53 अंक पर रहा।

मुंबई।  देश में कोरोना के नये वेरिएंट ओमीक्रॉन के नये मामलों में हो रही वृद्धि के मद्देनजर रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत दरों को यथावत बनाये रखने की आशंका में सोमवार को शेयर बाजार में चौतरफा भारी बिकवाली हुयी जिससे बाजार में भूचाल आ गया और सेंसेक्स और निफ्टी में 1.65 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी।

बीएसई का 30 शेयरों का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 949.32 अंक गिरकर 57 हजार अंक से नीचे 56747.14 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 17 हजार के मनोवैज्ञानिक स्तर से फिसलकर 16912.25 अंक पर रहा। इस दौरान छोटी और मझौली कंपनियों में भी बिकवाली हुयी जिससे बीएसई का मिडकैप 1.35 प्रतिशत उतरकर 24842.18 अंक पर और स्मॉलकैप 1.35 फीसदी गिरकर 28038.53 अंक पर रहा।

बीएसई में शामिल सभी समूह लाल निशान में रहे। इसमें आईटी में सबसे अधिक 2.49 प्रतिशत, टेक 2.44 प्रतिशत और कैपिटल गुड्स में सबसे कम 0.99 फीसदी की गिरावट रही। बीएसई में कुल 3599 कंपनियों में कारोबार हुआ जिसमें से 2002 कंपनियां गिरावट में रही जबकि 1420 लाभ कमाने में सफल रही। 177 कंपनियों में कोई बदलाव नहीं हुआ।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अमेरिकी बाजार लाल निशान में खुले। एशियाई बाजार भी लाल रहे जबकि यूरोपीय बाजार हरे निशान में दिखे। हांगकांग का हैंगसेंग 1.76 प्रतिशत, चीन का शंघाई कंपोजिट 0.50 प्रतिशत , जापान का निक्केई 0.36 प्रतिशत की गिरावट में रहा जबकि ब्रिटेन का एफटीएसई 0.81 प्रतिशत और जर्मनी का डैक्स 0.57 प्रतिशत की बढ़त में रहा।

बीएसई का सेंसेक्स 82 अंकों की बढ़त के साथ 57778.01 अंक पर खुला। शुरूआती कारोबार में ही यह लिवाली के बल पर 57781.46 अंक तक चढ़ा लेकिन ओमीक्रॉन के नये मामलों में बढोतरी के आंकड़े आने से बाजार पर दबाव बनने लगा। रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति की तीन दिवसीय बैठक भी शुरू हो गयी है जिसमें रिवर्स रिपो दर में बढोतरी किये जाने की उम्मीद की जा रही है लेकिन ओमीक्रॉन के कारण इसबार भी नीतिगत दरों को यथावत बनाये रखने की उम्मीद बनने लगी है। इसका भी बाजार पर असर दिखा और निवेशकों विशेषकर विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बिकवाली शुरू कर दी जो अंतिम समय तक बना रहा। इस दौरान यह 57 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे 56687.62 अंक के निचले स्तर तक उतरा। अंत में यह पिछले दिवस के 57696.46 अंक की तुलना में 949.32 अंक अर्थात 1.65 प्रतिशत गिरकर 56747.14 अंक पर रहा। सेंसेक्स में शामिल सभी 30 कंपनियां लाल निशान में रही।

एनएसई का निफ्टी 13 अंकों की बढ़त के साथ 19209.05 अंक पर खुला। इसके बाद यह 17216.75 अंक के उच्चतम स्तर तक चढ़ा लेकिन इसी दौरान बिकवाली शुरू होने से यह 17 हजार अंक के स्तर से नीचे 16891.70 अंक तक उतरा। अंत में यह पिछले दिवस के 17196.70 अंक की तुलना में 1.65 प्रतिशत अर्थात 284.45 अंक गिरकर 16912.25 अंक पर रहा। निफ्टी में शामिल 50 कंपनियों में से 49 कंपनियां लाल निशान में रही। मात्र एक कंपनी हरे निशान में दिखी।

सेंसेक्स में शामिल सभी कंपनियां गिरावट में रही जिसमें इंड्सइंड बैंक 3.75 प्रतिशत, बजाज फिनसर्व 3.43 प्रतिशत, एयरटेल 2.96 प्रतिशत,एचसीएलटेक 2.94 प्रतिशत, टीसीएस 2.89 प्रतिशत, टीसीएस 2.89 प्रतिशत, टेक मङ्क्षहद्रा 2.56 प्रतिशत, इंफोसिस 2.38 प्रतिशत, एशियन पेंट्स 2.34 प्रतिशत, मारूति 2.22 प्रतिशत, एनटीपीसी 2.16 प्रतिशत, डॉ रेड्डीज 2.06 प्रतिशत, पावरग्रिड 2.01 प्रतिशत, सन फार्मा 1.96 प्रतिशत, मङ्क्षहद्रा 1.93 प्रतिशत, रिलायंस 1.86 प्रतिशत, आईटीसी 1.71 प्रतिशत, अल्ट्राटेक सीमेंट 1.69 प्रतिशत, नेस्ले इंडिया 1.67 प्रतिशत, स्टेट बेंक 1.66 प्रतिशत, बजाज फाइनेंस 1.64 प्रतिशत, हिन्दुस्तान यूनिलीवर 1.52 प्रतिशत, टाइटन 1.46 प्रतिशत, कोटक बैंक 1.43 प्रतिशत, एक्सिस बैंक 1.43 प्रतिशत, एल टी 1.11 प्रतिशत, बजाज ऑटो 0.99 प्रतिशत, आईसीआईसीआई बैंक 0.91 प्रतिशत, टाटा स्टील 0.80 प्रतिशत, एचडीएफसी बैंक 0.51 प्रतिशत और एचडीएफसी 0.40 प्रतिशत शामिल है।

Post Comment

Comment List

Latest News