कोयला उत्पादन का नया रिकॉर्ड

अप्रैल-नवंबर में 17% का उछाल

कोयला उत्पादन का नया रिकॉर्ड

मंत्रालय ने एमएमडीआर (संशोधन) अधिनियम 2021 से कैप्टिव कोयला ब्लॉकों की खनन क्षमता का अधिक उपयोग करने तथा अतिरिक्त कोयले को बाजार में जारी करने का मार्ग प्रशस्त किया है।

एजेंसी,नवज्योति/नई दिल्ली। कोयला मंत्रालय कोयला उत्पादन क्षमता बढ़ाने के उद्देश्य से में कामयाब हुआ है, क्योंकि अप्रैल-नवंबर 2022 के दौरान रिकॉर्ड स्तर पर कोयला उत्पादन हुआ है। इस दौरान भारत का कोयला उत्पादन प्रभावशाली ढंग से 17.13 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 524.20 मिलियन टन (एमटी) हो गया है। मंत्रालय तेज परिवहन सुनिश्चित करने के लिए पीएम.गति शक्ति के तहत सभी प्रमुख खानों के लिए रेल संपर्क बढ़ा रहा है। कोयला उत्पादन क्षमता बढ़ाने के उद्देश्य से कोयला मंत्रालय ने वाणिज्यिक नीलामी के लिए 141 नए कोयला ब्लॉक पेश किये हैं। मंत्रालय देश की विभिन्न कोयला कंपनियों के साथ नियमित रूप से संवाद कर रहा है। घरेलू उत्पादन और परिवहन को बढ़ाने के लिए किए गए चौतरफा प्रयासों के अच्छे परिणाम सामने आए हैं। भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा ऊर्जा उपभोग करने वाला देश है और बिजली की मांग सालाना 4.7 प्रतिशत की दर से बढ़ रही है। कोयला मंत्रालय के आंकडेÞ बताते हैं कि अप्रैल-नवंबर 2022 के दौरान रिकॉर्ड स्तर 17.13 फीसदी की वृद्धि के साथ 524.20 मिलियन टन (एमटी) उत्पादन हुआ है। जबकि, पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 447.54 मिलियन टन उत्पादन हुआ था। कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) के लिए कोयले का उत्पादन वित्त वर्ष 23 के नवंबर तक 412.63 मीट्रिक टन दर्ज किया गया है। जबकि, पिछले वर्ष इसी अवधि के दौरान उत्पादन 353.41 मीट्रिक टन रहा था, जो 16.76 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है।


मंत्रालय ने एमएमडीआर (संशोधन) अधिनियम 2021 से कैप्टिव कोयला ब्लॉकों की खनन क्षमता का अधिक उपयोग करने तथा अतिरिक्त कोयले को बाजार में जारी करने का मार्ग प्रशस्त किया है, जिसके कारण अप्रैल-नवंबर 2022 के दौरान कैप्टिव और अन्य कंपनियों द्वारा कोयले के उत्पादन में 33.41 प्रतिशत की वृद्धि हुई है तथा वित्त वर्ष 2022 की इसी अवधि के दौरान 53.27 मीट्रिक टन के उत्पादन की तुलना में उत्पादन 71.07 मीट्रिक टन हो गया है। कोयला मंत्रालय तेज परिवहन सुनिश्चित करने के लिए पीएम गति शक्ति के तहत सभी प्रमुख खानों के लिए रेल संपर्क अवसंरचना को बढ़ाने के लिए कदम उठा रहा है। परिणामस्वरूप वित्त वर्ष 2022 की समान अवधि के दौरान 519.26 मीट्रिक टन की तुलना में अप्रैल-नवंबर 2022 के दौरान कुल कोयले का परिवहन 557.95 मीट्रिक टन रहा और इसमें 7.45 प्रतिशत की वृद्धि हुई है, जो पूरे देश में विभिन्न सेक्टर को कोयले के परिवहन में निरंतरता और कुशल मात्रा को दर्शाता है।

Tags:

Post Comment

Comment List

Latest News

जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम
सचिव शिव जालान ने बताया कि इसमें अनेक कलाकार गीतों, गजलें और नज्मों से स्व. जगजीत सिंह को स्वरांजलि अर्पित...
सतीश पूनियां ने सीएम को लिखा पत्र, आमेर विस क्षेत्र की मांगों को बजट में शामिल करने का किया आग्रह
केरल का इंटरनेशनल थियेटर फेस्टिवल 5 फरवरी से होगा शुरू
मोबाइल फोन के बेतहाशा इस्तेमाल से बढ़ा विजन सिंड्रोम का खतरा
तालिबान प्रशासन व्याख्याता मशाल को तत्काल रिहा करें: संयुक्त राष्ट्र
अडानी सीमेंट के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग
खान सुरक्षा अभियान में निदेशक खान का जोधपुर दौरा