औंधे मुंह गिरे नए लहसुन के भाव

मंडी में 2 रुपये किलो तक बिक रहा, किसान नाखुश

औंधे मुंह गिरे नए लहसुन के भाव

भामाशाह कृषि उपज मंडी में इन दिनों नए लहसुन की आवक हो गई है, लेकिन इसके भाव अचानक से जा गिरे है। स्थिति ऐसी है कि कोविड काल में 70 रुपये किलो बिकने वाला लहसुन 2 रुपये किलो तक जा पहुंचा है। ऐसे में किसान दु:खी है। क्योंकि, इस बार बारिश की अधिकता होने से 70 हजार हैक्टेयर में लहसुन की बुआई हुई थी।

कोटा। भामाशाह कृषि उपज मंडी में इन दिनों नए लहसुन की आवक हो गई है, लेकिन इसके भाव अचानक से जा गिरे है। स्थिति ऐसी है कि कोविड काल में 70 रुपये किलो बिकने वाला लहसुन 2 रुपये किलो तक जा पहुंचा है। ऐसे में किसान दु:खी है। क्योंकि, इस बार बारिश की अधिकता होने से 70 हजार हैक्टेयर में लहसुन की बुआई हुई थी। उत्पादन भी  4 लाख क्विंटल अनुमानित हैं। ऐसे में भाव गिरने से लागत भी नही निकल रही है। हाड़ौती किसान यूनियन के महामंत्री दशरथ शर्मा का कहना है कि उत्पादन अधिक होने की भाव गिरे है। अन्य फसलों की तरह इसका भी न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किया जाना चाहिए, ताकि किसानों को प्रोत्साहन मिले।

1 हजार कट्टों की आवक
भामाशाह कृषि उपज मंडी में नए लहसुन की आवक होना शुरु हो गई है। प्रतिदिन एक हजार कट्टों की आवक हो रही है। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में नए लहसुन तैयार किया जा रहा है। किसान रामदयाल सुमन ने बताया कि 10 बीघा में लहसुन की बुआई कर रखी है। इसमें करीब 2 लाख से अधिक खर्च हो चुके है,लेकिन भाव नही मिले तो बर्बाद हो जाएंगे। उनका कहना है कि सरकार को प्रोत्साहन देना चाहिए। ऐसा नही होता है तो किसान बर्बाद हो जाएंगे।

आत्महत्या को लेकर सुर्खियों में आया था लहसुन
कोटा संभाग में लहसुन किसानों की प्रमुख फसल है। करीब चार साल पहले कम भावों के चलते आधा दर्जन से अधिक किसानों ने आत्महत्या कर ली थी। ऐसी स्थिति इन दिनों फिर से आ पहुंची है। क्योंकि, इस बार भी भाव 2 रुपये किलों जा पहुंचे है। जबकि, इसका उत्पादन अधिक है।

एक्सपर्ट व्यू
जब भी कोई फसल का उत्पादन अधिक होता है तो उसके भाव गिर जाते है। मांग पूर्ति का अहम रोल होता है।
. डॉ अमिताभ बसु, एसोसिएट प्रोफेसर, अर्थशास्त्र, राजकीय कला महाविद्यालय

सरकार की गलत नीतियों से ऐसा हो रहा है। इनको सही तरह से खपाने की सरकार के पास कोई योजना नही है।
. दुलीचन्द बोरदा, जिलाध्यक्ष, अखिल भारतीय किसान संघ

मंडी में नए लहसुन की आवक शुरू हो गई है। अभी और भी किसानों द्वारा इसको तैयार किया जा रहा है। भावों में गिरावट हुई है।
. एमएल जाटव, सचिव, कृषि उपज समिति,भामाशाह मंडी, कोटा

Post Comment

Comment List

Latest News

शहर में विसर्जन के लिए बने अलग कुंड तो स्वच्छ रहेंगे जलाशय शहर में विसर्जन के लिए बने अलग कुंड तो स्वच्छ रहेंगे जलाशय
प्रति वर्ष की भांति अनन्त चतुर्दशी, कृष्ण जन्मोत्सव, गणेशोत्सव और नवरात्रि में सार्वजनिक पांडालों में विराजित विशाल और छोटी बड़ी...
उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम. वैंकया नायडू विदाई के मौके पर हुए भावुक
सावधान: कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार दे रही चौथी लहर की दस्तक
बैडमिंटन में अब कोटा की बेटियां भी बढ़ा रही कदम
बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेल 2022: टेबल टेनिस खिलाड़ी अचंता शरत कमल ने पुरुष एकल में गोल्ड मैडल जीता
पाइप लाइन टूटने से पेयजल सप्लाई बंद
हर जगह लावारिस मवेशियों का जमावड़ा, यातायात हो रहा प्रभावित