दमकल का अभाव, आग से खाक हो रहे अन्नदाता के गेहूं

आग लगने पर 60 किमी दूर बारां से आती फायर ब्रिगेड, पंचायत मुख्यालय पर है जरूरत

दमकल का अभाव, आग से खाक हो रहे अन्नदाता के गेहूं

तहसील क्षेत्र में दमकल का अभाव होने से कस्बे व क्षेत्र के दर्जनों गांवों के ग्रामीणों के लिए परेशानी बनी हुई है। कस्बे व क्षेत्र में आगजनी की घटनाओं पर करीब 60 किमी दूर जिला मुख्यालय से दमकल पहुंचने में दो से तीन घंटे लग जाते है तब तक सब कुछ जल कर राख हो जाता है।

समरानियां।  तहसील क्षेत्र में दमकल का अभाव होने से कस्बे व क्षेत्र के दर्जनों गांवों के ग्रामीणों के लिए परेशानी बनी हुई है। कस्बे व क्षेत्र में आगजनी की घटनाओं पर करीब 60 किमी दूर जिला मुख्यालय से दमकल पहुंचने में दो से तीन घंटे लग जाते है तब तक सब कुछ जल कर राख हो जाता है। क्षेत्र में हर वर्ष घटित घटनाओं पर दमकल के अभाव में लाखों रुपए का नुकसान होता है। मांग के बावजूद सरकार के दमकल उपलब्ध नहीं करवाने पर ग्रामीणों में रोष है ।

पंचायत समिति मुख्यालय शाहाबाद की आबादी चौदह लाख से अधिक है। यहां मुख्य कस्बा समरानियां है जो क्षेत्र का सबसे बड़ा बाजार है। दर्जनों गांव इससे जुड़े हुए हैं। पंचायत समिति शाहाबाद में 36 ग्राम पंचायतें हैं। इनमें लाखों लोग निवास करते है। ग्रामीण क्षेत्र में खेतों में एवं आबादी क्षेत्र व ढाणियों में हर साल आग लगने की घटनाएं होती हैं। इस पर जिला मुख्यालय से दमकल बुलवानी पड़ती है, लेकिन उसके यहां पहुंचने पर कुछ भी नहीं बचता है। बारां से शाहाबाद की दुरी 80 किलोमीटर व क्षेत्र के गांव 50-60 किलोमीटर दूर है। ग्रामीण मार्ग खस्ताहाल है। इस पर आग लगने की घटना के कई घंटों बाद दमकल पहुंचती है।

हर साल कई घर एवं सैकड़ों बीघा जमीन आग की भेंट- चढ़ जाते हैं अभी दो चार दिन में कई आग की घटनाएं हो चुकी है। जब तक दमकल पहुंचती है तब तक किसान की फसल बर्बाद हो चुकी होती है। ऐसे में तहसील क्षेत्र को दमकल की जरूरत है। बारां से दमकल पहुंचने में करीब दो घंटे लग जाते हैं। ऐसे में जब तक दमकल पहुंचती है तब तक सब कुछ स्वाह हो जाता है।

सरकार दमकल उपलब्ध करवाएं- पंचायत समिति व उप तहसील मुख्यालय होने के बावजूद दमकल की व्यवस्था नहीं है। सरकार दमकल उपलब्ध करवाएं तो गरीबों का लाखों रुपए का नुकसान बच सकता है।
 रेखा रानी,सरपंच नाटई

लाखों का होता नुकसान- हर साल कई जगह पर आग लगने पर लाखों का नुकसान होता है। पंचायत समिति स्तर पर दमकल की व्यवस्था नहीं होने से गरीबों को नुकसान होता है।    - रामदयाल मेहता, ग्रामीण

क्षेत्र में लगातार आग की खबरें पढ़ने को मिल रही है आग लगने से किसानों का कुछ ही समय में लाखों का नुकसान हो जाता है क्योंकि जिला मुख्यालय की दूरी अधिक है दमकल को पहुंचाने में 2 से 3 घन्टें का समय लगता हमारी मांग है की एक दमकल हमारे तहसील मुख्यालय पर हो जिससे नुकसान होने से बचा जा सके ।  - सचिन किराड़,ग्रामीण

इस समय गर्मी और तेज धूप एवं बिजली की इस पार्किंग की वजह से खेतों में आग लगने की संभावना बनी रहती है संबंधित उपखंड क्षेत्र में दमकल नहीं होने से किसानों को काफी नुकसान हो जाता है इसके लिए मैं संबंधित विभाग को जानकारी देकर उपखंड क्षेत्र में दमकल की व्यवस्था करवाने का पूरा प्रयास करूंगी।
-कांति बाई मेहता, प्रधान शाहाबाद

क्षेत्र में दमकल ना होने की वजह से किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है क्योंकि गेहूं की फसल की कटाई शुरू हो चुकी है ऐसे में आगजनी की समस्या बनी रहती है बारां से शाहाबाद की दूरी अधिक होने के कारण समय पर दमकल नहीं पहुंच पाती जिसके कारण किसानों का काफी नुकसान हो जाता है हमारी मांग है क्षेत्र को दमकल मशीन उपलब्ध कराई जाए।
-नितेश मेहता, युवा कांग्रेस नेता शाहाबाद

क्षेत्र में आगजनी की घटनाएं ज्यादा हो रही है ऐसे में क्षेत्र में दमकल की व्यवस्था उपखंड स्तर पर सरकार को करनी चाहिए जिससे किसानों का नुकसान नहीं हो ।
-राजमल मेहता भाजपा मंडल अध्यक्ष शाहबाद

आगजनी की घटना लगातार हो रही है सरकार को हर तहसील स्तर पर दमकल की व्यवस्था करनी चाहिए या जनप्रतिनिधि अपने स्तर से किसानों को राहत प्रदान करें ताकि किसानों की फसलें बर्बाद नहीं हो।
-ललित मीणा,पूर्व विधायक किशनगंज

Post Comment

Comment List

Latest News