बैंसला का अंतिम संस्कार: नम आंखों से कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला को अंतिम विदाई

बैंसला को अंतिम विदाई देने किसान नेता राकेश टिकैत सहित कई दिग्गज रहें मौजू

बैंसला का अंतिम संस्कार: नम आंखों से कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला को अंतिम विदाई

आंदोलन के केंद्र स्थली दौसा पर उन्हें श्रद्धांजलि देने उमड़ा जन-सैलाब

दौसा/करौली। कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला को आज हर किसी ने नम आंखों से विदाई दी। कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला की पार्थिव देह शुक्रवार को उनके पैतृक गांव मुंडिया (करौली) पहुंचा। बैंसला के अंतिम दर्शन करने के लिए आम और खास मौजूद रहें। इससे पहले उनके आंदोलन के केंद्र स्थली रहे दौसा में उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए जन सैलाब उमड़ा।


हजारों लोग, मंत्री-विधायक, पूर्व मंत्री, पूर्व विधायक, समाज के पदाधिकारी मुंडिया गांव पहुंचे और कर्नल को अंतिम विदाई दी। बैंसला को अंतिम विदाई देने किसान नेता राकेश टिकैत, दिल्ली उपनेता प्रतिपक्ष रामवीर विधुड़ी, टोंक सवाई माधोपुर सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया, मंत्री शकुंतला रावत, विधायक जोगेंद्र अवाना, जयपुर हेरिटेज मेयर मुनेश गुर्जर, बीज निगम चेयरमैन धीरज गुर्जर, उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ समेत कई राजनीतिक सामाजिक हस्तियां मुंडिया गांव पहुंचकर बैंसला को अंतिम विदाई दी।

बता दे कि कर्नल बैंसला का गुरुवार को निधन हो गया था। जयपुर के एक निजी अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली। शुक्रवार को कर्नल बैंसला की शवयात्रा जयपुर के वैशाली नगर से सुबह छह बजे शुरू हुई। सेना के फूलों से सजे ट्रक में कर्नल की पार्थिव देह जहां से गुजरा वहां मौजूद लोगों ने बैसला को नम आंखों से अंतिम विदाई दी। करीब 150 किलोमीटर के इस सफर में जगह-जगह बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे और कर्नल जिंदाबाद के नारे लगाए।

गुर्जर समाज के पुरोधा माने जाने वाले कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला की पार्थिव देह जयपुर से रवाना होकर सुबह करीब 10-11 बजे सिकंदरा, मानपुर पर पहुंची। जहां कर्नल बैंसला के अंतिम दर्शन के लिए जन सैलाब उमड़ पड़ा। इस दौरान गुर्जर समाज के महिला और पुरुष हर कोई कर्नल बैंसला के अंतिम दर्शन के लिए लालायित नजर आया। कर्नल बैंसला गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष हुआ करते थे और उन्होंने गुर्जर समाज को आरक्षण देने की मांग को लेकर बड़े आंदोलन किए थे। उनके आंदोलन के केंद्र स्थली दौसा रहा था।  ऐसे में उनके प्रति लोगों का प्यार आज भी देखने को मिला जब उनकी पार्थिव देह नेशनल हाईवे 21 से गुजरा तो जगह-जगह भीड़ नजर आईं। इस दौरान सिकंदरा चौराहे पर सड़क पर गुलाल से लिखा गया कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला अमर रहें वहीं मौजूद लोग भी जमकर नारे लगाते रहे कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला अमर रहें।


Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News