सफेद घोड़े 8 दिशाओं में नव संवत्सर के प्रचार के लिए रवाना

अश्वों की पूजा अर्चना करवाई

सफेद घोड़े 8 दिशाओं में नव संवत्सर के प्रचार के लिए रवाना

कार्यक्रम में संस्कृति युवा संस्था के अध्यक्ष पंडित सुरेश मिश्रा सपत्नीक नीलम मिश्रा ने विधि विधान से विद्वान पंडितों के साथ वैदिक रीति के साथ अश्वों की पूजा अर्चना करवाई। 

जयपुर। नव संवत्सर 2081 प्रारम्भ का प्रचार करने के लिये चार श्वेत अश्व (घोडे़) जयपुर के आराध्य देव गोविन्द देव से जयपुर के प्रमुख संत महंत, प्रबुद्ध व्यक्तियों एवं विद्वान पंडितों ने विधिवत पूजा अर्चना कर रवाना किया। यह अनूठा कार्यक्रम नवसंवत्सर के प्रति जागरूकता लाने और नव संवत्सर 2081 का प्रचार प्रसार करने के लिये किया गया। जिसमें श्वेत अश्व (घोडे़) के दोनों तरफ नव संवत्सर की शुभकामनाएं के बैनर लगे हुये है आगे ढोल बज रहे है। घोडे के उपर छतरी और नाचते गाते हुये कार्यकर्ता साथ चल रहे है। नव संवत्सर उत्सव समारोह समिति की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में संस्कृति युवा संस्था के अध्यक्ष पंडित सुरेश मिश्रा सपत्नीक नीलम मिश्रा ने विधि विधान से विद्वान पंडितों के साथ वैदिक रीति के साथ अश्वों की पूजा अर्चना करवाई। 

इसके पूर्व गोविन्द देव मंदिर के प्रबंधक मानस गोस्वामी ने पूजा अर्चना की और संत महंतों का स्वागत किया और उपस्थित लोगो को आशीर्वाद दिया।  इस अवसर पर हाथोज दक्षिण मुखी बालाजी महंत एवं विधायक बालमुकुंद आचार्य महाराज, सर्व ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय संयोजक आचार्य राजेश्वर, गीता गायत्री मंदिर के पं. राजकुमार चतुर्वेदी, सांगानेरी गेट हनुमान मंदिर कैलाश गौड़, परकोटा गणेश के अमित, लाडली मंदिर के संजय गोस्वामी एवं महंत दीपक वल्लभ गोस्वामी, धर्म प्रचारक विजय शंकर पाण्डेय, प्राचीन श्याम मंदिर के महंत लोकेश मिश्रा, केशवराय मंदिर जयसिंहपुरा खोर के महंत कैलाश शर्मा एवं कमलेश शर्मा, जयपुर पुजारी महासंघ के नीतीश चतुर्वेदी एवं पंकज शर्मा ने चारों अश्वों की लगाम पकड़कर गोविन्द देवजी मंदिर के चौराहे तक लाये उसके पश्चात पूर्व, पश्चिम, उत्तर, दक्षिण दिशा में रवाना किया गया। 

यह अष्व जयपुर शहर के प्रमुख मंदिरों में ईशान में खोले के हनुमानजी मंदिर, पूर्व में गलता, आग्नेय में गोनेर मंदिर, दक्षिण में सांगा बाबा, नैऋत्य में स्वामी नारायण मंदिर, पश्चिम में हाथोज हनुमान जी, वायव्य में कदम्ब डूंगरी व उत्तर में आमेर में काले हनुमान मंदिर जी के लिये छोडे गये और नव संवत्सर का 11 दिन तक अनूठे तरीके से प्रचार-प्रसार करेगें। नव संवत्सर की जानकारी युवाओं को देने के लिये कार्यक्रर्ता पम्पलेट बांटते हुए चल रहे हैं। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में संस्कृति युवा संस्था के संरक्षक एडवोकेट एचसी गणेशिया, प्रदेशाध्यक्ष गौरव धामाणी सहित पदाधिकारी व सदस्य थे। अश्वों के आगे ढोल नगाड़े पर नाचते गाते आगे चल रहे थे और सनातन धर्म की जय हो, नव संवत्सर का स्वागत है के नारे लगा रहे थे।

 

Read More Bharatpur रेंज आईजी राहुल प्रकाश का ऑपरेशन ‘एंटी वायरस’

Tags: temple

Post Comment

Comment List

Latest News

बेहद जरूरी है संकटग्रस्त जैव प्रजातियों का संरक्षण बेहद जरूरी है संकटग्रस्त जैव प्रजातियों का संरक्षण
वन्य जीव-जंतु और उनकी विविधता धरती पर अरबों वर्षों से हो रहे जीवन के सतत् विकास की प्रक्रिया का आधार...
उद्योगों के लिए संसाधन पर्याप्त, राजनीतिक इच्छा शक्ति नहीं
पेयजल सिस्टम गड़बड़ाया : पानी का प्रेशर कम, सप्लाई समय भी घटाया
लोकसभा चुनाव : 2019 की क्लोज कॉन्टेस्ट वाली वो सीटें जिनपर टिका है एनडीए और इंडिया दोनों का 2024 का चुनावी गणित!
म्यांमार में हिंदुओं और बौद्धों पर आफत, 5000 घर जलाए 
चार जून को करौली-धौलपुर का सबसे पहले और बाड़मेर का अंत में होगा नतीजा घोषित
कंप्यूटर पार्ट्स फैक्ट्री में लगी भीषण आग