कृषि उपज मंडी में व्यापारी कर रहे टैक्स की चोरी

मंडी समिति को लगा रहे लाखों रुपए के राजस्व का चूना

कृषि उपज मंडी में व्यापारी कर रहे टैक्स की चोरी

खातौली कृषि उपज मंडी में व्यापारी मंडी टैक्स की चोरी कर मंडी समिति को लाखों रुपए का चूना लगाने में लगे हुए हैं।

खातौली। खातौली कृषि उपज मंडी में व्यापारी मंडी टैक्स की चोरी कर मंडी समिति को लाखों रुपए का चूना लगाने में लगे हुए हैं।
इसका खुलासा उस समय हुआ जब बुधवार को गेहूं से भरा एक ट्रक खातौली व इटावा के बीच केशवपुरा के पास कोटा-शयोपुर स्टेट हाइवे पर पलट गया। जानकारी करने पर व्यापारी ने बताया कि यह गेहूं वह खातौली कृषि उपज मंडी के लाइसेंस धारी व्यापारी से भरवा कर ला रहा है। जब लाइसेंस धारी व्यापारी से जानकारी ली गई तो उसने साफ मना कर दिया कि यहां से कोई ट्रक गेहूं का नहीं भरा गया है। क्रेन से सीधी कर गेहूं दूसरे ट्रक में भरवाया गया। खातौली कृषि उपज मंडी में जाकर वहां पर कार्यरत कर्मचारियों द्वारा जानकारी ली गई तो उनके पास मंडी के अंदर से गाड़ी भरने की कोई सूचना नहीं थी। चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी सोहनलाल बैरवा, गिर्राज बैरवा ने बताया कि हमें कोई जानकारी नहीं है। खातौली मंडी से गाड़ी नहीं भरी गई। ना हमारे पास गाड़ी के कागज पहुंचाए गए। शाम को 5 बजे व्यापारी गाड़ी के कागज लेकर पहुंचा। तब मंडी में बैठे कर्मचारियों द्वारा कागज लेने से मना कर दिया गया। कहा कि गाड़ी भरी गई व रवाना की गई तब कागज क्यों नहीं पहुंचाए। व्यापारी ने कहा कि मंगलवार रात को गोदाम से भरवाई थी। कागजों का क्या है, कागज तो 2 दिन बाद में भी दे देते हैं। इस तरह टैक्स की चोरी कर मंडी समिति को राजस्व का लाखों रुपए का चूना लगाया जा रहा है। व्यापारियों की लचर कार्यशैली से मंडी में तो राजस्व का नुकसान हो ही रहा है, साथ ही व्यापारियों द्वारा मंडी के बाहर किसानों से कम भाव में खरीद कर किसानों को भी चूना लगाने में लगे हुए हैं।

मंडी खुलने से पहले तुल रही जिंस
बुधवार को मंडी डाक में माल नहीं खरीद कर डाक नहीं लगने से पहले ही एक ट्रेडर्स के व्यापारी मनमानी कर माल तोल रहे थे। खातौली मंडी में 8 कर्मचारी कार्यरत हैं। फिर भी व्यापारी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। व्यापारी ने मंडी कर्मचारियों पर भी आरोप लगाया है कि यहां तो ऐसे ही चलता है। दो दिन बाद भी कागज दे देते हैं। मंडी के बाहर सवाई माधोपुर रोड पर 5 से 7 दुकानें लगी हुई हैं। अधिकांश  माल सभी व्यापारी बाहर से खरीद रहे हैं। रोज की 20-25 गाड़ी बाहर से जा रही हैं।
-वेदनाथ गर्ग, लाइसेंस धारी व्यापारी, कृषि उपज मंडी, खातौली

हमारे पास इस गाड़ी से संबंधित कोई सूचना नहीं है। ना ही व्यापारी द्वारा गाड़ी रवाना करने के बाद मंडी समिति को कागज पहुंचाए गए। हमारे पास ऐसा प्रावधान नहीं है कि जो गाड़ी भरने के 2 दिन बाद भी कागज लेले।
-गिर्राज बैरवा, चतुर्थ श्रेणी मंडी कर्मचारी

व्यापारी के खिलाफ रिपोर्ट तैयार करवाई जा रही है। कार्यवाही की जाएगी। अगर 20 से 25 गाड़ी अवैध जा रही हैं तो स्टॉक चेक कर कार्यवाही की जाएगी।
-पवन भास्कर, मंडी सचिव

मंडी सेक्रेटरी को अवगत करवा दिया गया है। इनके खिलाफ ठोस कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
-संतोष कुमार मीणा, उपखंड अधिकारी

Post Comment

Comment List

Latest News