भजनलाल शर्मा का 33 दिन का तूफानी चुनाव प्रचार, 70 से ज्यादा सभाओं-रैलियों से बिछाई बिसात 

नेता-कार्यकर्ताओं से सीधे संवाद करने पहुंचे

भजनलाल शर्मा का 33 दिन का तूफानी चुनाव प्रचार, 70 से ज्यादा सभाओं-रैलियों से बिछाई बिसात 

क्षेत्रवार भाजपा का चक्रव्यूह तैयार किया। इसके बाद प्रत्याशियों के साथ नामांकन में साथ खड़े दिखे और फिर प्रदेश भर में तूफानी चुनावी सभाएं, रैलियां, रोड़ शो किए हैं।

जयपुर। राजस्थान में पहले चरण का चुनाव 19 अप्रैल को है। बीते 33 दिन में सीएम भजनलाल शर्मा ने चुनाव में अब तक प्रदेश का करीब पूरा इलाका नाप लिया है। 70 बैठकें, सभाएं, रैलियां, रोड़ शो, सामाजिक सम्मेलन, किसान सम्मेलन और नेता-कार्यकर्ताओं से सीधे संवाद करने पहुंचे। भाजपा में जब 25 सीटों पर प्रत्याशियों के चेहरों पर मंथन चल रहा था, तब भजनलाल राजनीति की जमीनी नब्ज नाप रहे थे। वे क्षेत्रीय नेता और कार्यकर्ताओं से जीताऊ समीकरणों को समझकर रणनीति को उन्होंने पहले मूर्तरूप दिया। लोकसभावार कलस्टरों, कोर कमेटियों की बैठकें ली। क्षेत्रवार भाजपा का चक्रव्यूह तैयार किया। इसके बाद प्रत्याशियों के साथ नामांकन में साथ खड़े दिखे और फिर प्रदेश भर में तूफानी चुनावी सभाएं, रैलियां, रोड़ शो किए हैं। पीएम नरेन्द्र मोदी, केन्द्रीय गृह मंत्री अमित की सभाओं, रोड शो की देखरेख भी खुद की। 

जमीनी स्तर पर प्रबन्धन की यूं थामी कमान  :
सीएम भजनलाल शर्मा 19 से 23 मार्च तक चुनावी प्रबन्धन, रणनीति के मूर्तरूप, चुनावी प्रचार-प्रचार की व्यूह रचना, क्षेत्रीय समीकरणों को साधने की तैयारियों के लिए खुद संभागों, जिलों में पहुंचे। उन्होंने इस दौरान भाजपा के लोकसभा कलस्टर व कोर कमेटी की बैठकें ली। उन्होंने जोधपुर, उदयपुर, झुंझुनूं, चूरू, अजमेर, कोटा, भरतपुर, जयपुर में यह बैठकें ली।  

प्रत्याशियों को नामांकन भरवाने गए, रैली-सभाएं की
सीएम ने इसके बाद 26 मार्च से अपनी जनसभाओं और रैलियों की शुरूआत भाजपा प्रत्याशियों के नामांकन भरने से की। उन्होंने सीकर में भाजपा प्रत्याशी सुमेधानंद सरस्वती, नागौर में ज्योति मिर्धा, जयपुर में मंजू शर्मा, अलवर में भूपेन्द्र यादव, करौली में इंदु देवी जाटव, जोधपुर में गजेन्द्र सिंह के पक्ष में नामांकन भराने के वक्त रैली व जनसभाएं की। यहीं नहीं वे गुजरात के भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में बनासकांठा में भी नामांकन भरवाने गए और रैली भी की।  

22 से अधिक चुनावी सभाएं की 
एक मार्च से सीएम ने अपनी चुनावी सभाएं भी शुरू की। उन्होंने अब तक चित्तौडगढ़,  जयपुर ग्रामीण, कोटा, जालौर, बालोतरा के आसोतरा, भीलवाड़ा, बांसवाड़ा, चूरू, लक्ष्मणगढ़, पुष्कर, दौसा के सिकराय, जमवारामगढ़ के आंधी, अलवर के कठमूर, करौली, अलवर के थानागाजी, बाड़मेर, हनुमानगढ़ के भादरा, नोहर, डीग के सीकर, कुम्हेर, धौलपुर के सैपऊ, अलवर के खैरथल में चुनावी सभाएं की। 

Read More मैडम! तीन साल बीत ग्या छै, अब तो सुणलो...

जनता से सीधे मुखातिब होने को 7 रोड़ शो
उन्होंने रैलियां, नामांकन सभाएं, चुनावी सभाओं के साथ ही अब तक सात चुनावी क्षेत्रों में रोड शो कर दिए हैं। उन्होंने अब तक चाकसू, देवली, चूरू के रतनगढ़, जयपुर के सांगानेर में रोड शो, श्रीगंगानगर के सूरतगढ़, हनुमानगढ़, भरतपुर, कुचामनसिटी में रोड़ शो कर चुके हैं।  

Read More लाखेरी का जिग जेग बांध प्रशासन की अनदेखी के चलते खाली हुआ

सभाओं के साथ सीधे कार्यकर्ताओं से संवाद
सीएम ने सभाओं, रैलियों, रोड़ शो के साथ ही कार्यकर्ताओं और सामाजिक सम्मेलनों में भी लोगों से सीधा संवाद किया। चूरू में कार्यकर्ता सम्मेलन, बीकानेर के मुकाम में सामाजिक सम्मेलन, नोखा के पांचू में किसान सम्मेलन, बाड़मेर में जनप्रतिनिधि सम्मेलन, बाड़मेर के सेडवा में सामाजिक सम्मेलन, भरतपुर के रूपबास में सामाजिक सम्मेलन किए, जोधपुर के रातानाड़ा में बैठक व सम्मेलन किए।  

Read More पूनियां ने हरियाणा के सीएम के साथ बांटे हरियाणा खेल गौरव पुरस्कार

राजधर्म के साथ आध्यात्म के संग भी  
सीएम ने राजनीतिक यात्राओं के दौरान आध्यात्म को भी तवज्जो दी। उन्होंने बालातेरा के आसोतरा, सीकर के सांगलिया धूणी, पुष्कर में सरोवर पूजा व बह मंदिर दर्शन, बीकानेर के मुकाम में मुकाम धाम दर्शन, बीकानेर के देशनोक में मंदिर दर्शन, बाडमेर के सेडवा में जम्भेश्वर भगवान मंदिर दर्शन, चूरू के सरदारशहर और दौसा के बांदीकुई में पूजा अर्चना और रामनवमी शोभायात्रा में शिरकत की।  

Tags: bhajanlal

Post Comment

Comment List

Latest News

टीबी दवाओं की आपूर्ति स्थानीय स्तर पर खरीद कर उपलब्ध करवाई जा रही दवा, केंद्र से आपूर्ति बाधित टीबी दवाओं की आपूर्ति स्थानीय स्तर पर खरीद कर उपलब्ध करवाई जा रही दवा, केंद्र से आपूर्ति बाधित
विगत दिनों कुछ समय के लिए राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के तहत क्षय औषधियों की केन्द्र से आपूर्ति बाधित हुई...
जहां पर समर्थन मूल्य पर सरसों चना की खरीद रहेगी शून्य, वे खरीद केंद्र अगले सीजन में होंगे बंद
फर्जी चेकिंग निरीक्षक बन कर रहा था बस चैक, पकड़ा
डंपर की टक्कर से बाइक सवार की मौत, एक घायल
लाखेरी का जिग जेग बांध प्रशासन की अनदेखी के चलते खाली हुआ
उत्पादकों और निर्यातकों के साथ संवाद कर समाधान का प्रयास करे सरकार - आरतिया
ओवेरियन मॉस का दूरबीन से सफल ऑपरेशन