कैच पर असहमति जताने के लिए सैमसन पर लगा जुर्माना

कैच पर असहमति जताने के लिए सैमसन पर लगा जुर्माना

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन पर दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ खेले गये मैच के दौरान आचार संहिता के उल्लंघन के लिए मैच फीस का 30 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया है।

नयी दिल्ली । इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन पर दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ खेले गये मैच के दौरान आचार संहिता के उल्लंघन के लिए मैच फीस का 30 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया है। सैमसन को अंपायर के फैसले से असहमति व्यक्त करने के लिए आचार संहिता के अनुच्छेद 2.8 के तहत लेवल एक का दोषी पाया गया। और उन्होंने मैच रेफरी की सजा स्वीकार कर ली।

 मंगलवार को अरुण जेटली स्टेडियम में खेले गये मैच में 222 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए सैमसन 16वें ओवर में मुकेश कुमार की गेंद पर शाई होप ने लॉन्ग-ऑन पर कैच लेकर आउट कर दिया था। होप ने सीमा रेखा के करीब कैच लपका और अपने पैर जमाने से पहले थोड़ी देर के लिए लडख़ड़ा गए। इस बात को लेकर अनिश्चिता थी कि उनका पैर बाउंड्री को छू गया था या नहीं  टीवी अंपायर माइकल गफ ने कैच आउट पर फैसला दिया था। 

सैमसन के मैदान छोडऩे से पहले मैदानी अंपायरों से काफी देर बहस हुई थी। आरआर के मुख्य कोच कुमार संगकारा ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यह रिप्ले और एंगल पर निर्भर करता है और कभी-कभी आपको लगता है कि पैर छू गया है लेकिन तीसरे अंपायर के लिए निर्णय करना कठिन होता है। खेल निर्णायक चरण में था इसलिए क्रिकेट में ऐसा होता है। इस पर हमारे अलग-अलग द्रष्टिकोण हैं। 

Post Comment

Comment List

Latest News

जेडीए ने अवैध निर्माण किए ध्वस्त, 200 से अधिक अवैध निर्माणों को तोड़ा जाएगा जेडीए ने अवैध निर्माण किए ध्वस्त, 200 से अधिक अवैध निर्माणों को तोड़ा जाएगा
शहर में अवैध निर्माण एवं अतिक्रमणों को लेकर की जा रही कार्रवाई के दौरान जयपुर विकास प्राधिकरण के प्रवर्तन दस्ते...
सदन में अब नहीं चल पाएगी भाजपा की मनमानी: कांग्रेस
"स्वस्थ और तंदुरुस्त राजस्थान": इस बार के बजट में चिकित्सा और स्वास्थ्य पर होगा सर्वाधिक फोकस
डंपर चालक ने ली बाइक सवार की जान
जनता के सामने एक्सपोज हो चुकी मोदी की गारंटी: गहलोत
मोदी 30 जून को करेंगे मन की बात, देशवासियों से मांगे सुझाव
High Court के निर्देश पर अवैध खनन के खिलाफ जांच अभियान