शिवालयों पर उमड़ी भीड़, भोले का किया अभिषेक

शिवालयों पर उमड़ी भीड़, भोले का किया अभिषेक

बारां शहर समेत जिले भर में महाशिवरात्रि का पर्व गुरुवार को श्रद्धा के साथ मनाया गया। शिवालयों में सुबह से ही श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। दर्शनार्थियों की शिवालयों में भीड़ उमड़ी।

बारां। बारां शहर समेत जिले भर में महाशिवरात्रि का पर्व गुरुवार को श्रद्धा के साथ मनाया गया। शिवालयों में सुबह से ही श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। दर्शनार्थियों की शिवालयों में भीड़ उमड़ी। शहर के मनिहारा महादेव मंदिर, अटरू रोड स्थित भूतेश्वर महादेव मंदिर, कोटा रोड स्थित द्वार्दश ज्योतिर्लिंग मंदिर, पंचवटी कॉलोनी स्थित पशुपतिनाथ मंदिर, मांगरोल रोड स्थित दुर्गा भूतेश्वर मंदिर समेत कई शिवालयों में श्रद्धालु सुबह से पूजा के लिए पहुंचना शुरू हो गए थे। महादेव को दूध दही शहद घी शक्कर के पंचामृत से स्नान कराकर आंक, धतूरा, बेलपत्र व पुष्प भोले बाबा को चढ़ा कर खुशाली की कामना की। शिवालयों में घंटा घड़ियाल झालर शंख की ध्वनि के साथ पूजा अर्चना की।

महाशिवरात्रि पर्व पर भाया दम्पती ने किया अभिषेक
महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर राज्य के खान एवं गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया द्वारा पत्नी समाजसेविका उर्मिला जैन भाया के साथ शिव अभिषेक किया। गौवंश को गुड तथा पक्षियों को चुग्गा डाला। महाशिवरात्रि पर्व पर सुबह भाया दम्पती द्वारा जयपुर लालकोठी स्थित ताड़केश्वर महादेव पर जाकर भगवान शिव की पूजा की। वीर पाताली हनुमान मंदिर स्थित शिवालय में आचार्यों की उपस्थिति में रूद्राभिषेक किया। सुख समृद्धि की ईश्वर से कामना की। गौवंश को गौशाला में अपने हाथों से गुड तथा पक्षियों को चुग्गा दाना डाला।

Post Comment

Comment List

Latest News

खराब फॉर्म के चलते टेस्ट रैंकिंग में फिसले कोहली, 6 साल में पहली बार विराट टॉप-10 से बाहर खराब फॉर्म के चलते टेस्ट रैंकिंग में फिसले कोहली, 6 साल में पहली बार विराट टॉप-10 से बाहर
दुबई। खराब फॉर्म से गुजर रहे भारत के स्टार बल्लेबाज विराट कोहली छह साल में पहली बार आईसीसी टेस्ट रैंकिंग...
11वें विम्बलडन सेमीफाइनल में पहुंचे जोकोविच
सुपरहीरो शक्तिमान की यादें फिर होगी ताजा, रणवीर सिंह निभायेंगे किरदार!
चीन में फिर कोरोना का कहर, शीआन शहर में लगा एक सप्ताह का लॉकडाउन
अब वार्ड वार लगेंगे प्रशासन शहरों के संग अभियान शिविर
रिश्वतखोर पटवारी को 3 साल की सजा , 50000 रुपए जुमार्ना
कन्हैयालाल हत्याकांड सरकार की तुष्टीकरण की नीति का है परिणाम : पूनिया