सदर थाना भवन खाली कराने धरने पर बैठ गए जिला प्रमुख

घंटों चलता रहा हाई वॉल्टेज ड्रामा

सदर थाना भवन खाली कराने धरने पर बैठ गए जिला प्रमुख

चित्तौड़गढ़। निम्बाहेड़ा मार्ग पर स्थित सदर पुलिस थाना भवन को खाली करवाने के लिए मंगलवार को घंटों तक हाई वॉल्टेज ड्रामा चलता रहा। अतिरिक्त जिला कलक्टर द्वारा एक माह में भवन खाली करवाने का आश्वासन देने के बाद जिला प्रमुख सुरेश धाकड़ ने धरना खत्म किया।

 चित्तौड़गढ़। निम्बाहेड़ा मार्ग पर स्थित सदर पुलिस थाना भवन को खाली करवाने के लिए मंगलवार को  घंटों तक हाई वॉल्टेज ड्रामा चलता रहा। अतिरिक्त जिला कलक्टर द्वारा एक माह में भवन खाली करवाने का आश्वासन देने के बाद जिला प्रमुख सुरेश धाकड़ ने धरना खत्म किया।


जानकारी के अनुसार, लगभग 10 वर्ष पूर्व जिला परिषद के स्वामित्व वाले निम्बाहेड़ा मार्ग पर स्थित खाली पड़े एक भवन को सदर पुलिस थाना संचालित करने के लिए अस्थाई तौर पर किराए पर दिया गया था, जिसके लिए जिला परिषद एवं पुलिस प्रशासन के बीच एक अनुबंध भी हुआ। लगभग 10 वर्ष पूर्व पुलिस कोतवाली चित्तौड़गढ़ में शामिल सदर थाना क्षेत्र को अलग करने की वजह से इस भवन की आवश्यकता पड़ी।

एक माह का दिया था समय
किराए पर देने के बावजूद पुलिस प्रशासन द्वारा जिला परिषद को किसी तरह का कोई किराया नहीं दिया गया। इस पर कुछ समय पूर्व जिला प्रमुख सुरेश धाकड़ ने गांधीगीरी अपनाते हुए सदर थानाधिकारी को गुलाब का फूल देकर भवन खाली करने के लिए एक माह का समय देते हुए कहा कि जिला परिषद को इस भवन की आवश्यकता है, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। जिला प्रमुख ने मौके पर पहुंचे अधिकारियों से कहा कि अब तक 60 लाख रुपए से अधिक का किराया बकाया हो चुका है, लेकिन न तो भवन खाली किया जा रहा है और न ही अब तक किसी तरह का कोई किराया दिया गया है। पानी सिर के ऊपर गुजरने के कारण ही उन्हें भवन खाली करवाने के लिए आना पड़ा।
  

 

Post Comment

Comment List

Latest News

भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस
उन्होंने कहा कि यात्रा को पहले दक्षिण के पांच राज्यों में भारी समर्थन मिला था और जब यात्रा  महाराष्ट्र पहुंची...
झुंझुनूं में विकास की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी : बृजेंद्र ओला
भारतीय संविधान विश्वभर के लोकतंत्रों की सर्वश्रेष्ठ व्याख्या: राज्यपाल मिश्र
खाद की कमीः क्षेत्र में खाद भी राशन की तरह बांटना पड़ा
वसुंधरा राजे हमारी नेता थी, हैं और हमारी नेता रहेगी : कालीचरण सर्राफ
सेना के जवान का बीमारी के चलते निधन राजकीय सम्मान से किया अंतिम संस्कार
भाजपा के टेपन 978 वोट से हुए विजयी