भीम में कांस्टेबल के गले पर धारदार हथियार से हमला

भीड़ में शामिल हुड़दंगी ने की वारदात, कांस्टेबल की हालत नाजुक

भीम में कांस्टेबल के गले पर धारदार हथियार से हमला

कांस्टेबल पर भीड़ में शामिल अज्ञात युवक द्वारा धारदार हथियार से हमला

 भीम/अजमेर/ब्यावर। भीम थाना क्षेत्र में हुड़दंगी भीड़ को समझाइश करने व धारा 144 की पालना के लिए मौके पर जाप्ते के साथ गए पुलिस कांस्टेबल पर भीड़ में शामिल अज्ञात युवक द्वारा धारदार हथियार से हमला कर दिया। हमले में गले पर गंभीर वार लगने से घायल कांस्टेबल की हालत नाजुक बनी हुई है। उसका अजमेर के जेएलएन अस्पताल में उपचार जारी है। अजमेर कलक्टर अंश दीप एवं पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा सहित अन्य पुलिस अधिकारियों ने अस्पताल पहुंचकर उसके बेहतर उपचार की व्यवस्था कराई। घटना के बाद पुलिस प्रशासन ने भीम में कर्फ्यू लगा दिया है। 

पुलिस सूत्रों के अनुसार मंगलवार को उदयपुर में एक दुकानदार की जघन्य हत्या की घटना के विरोध में बुधवार को भीम में दोपहर करीब 1 बजे सौ-डेढ़ सौ शरारती तत्वों का हुजूम एकत्र हो गया, जो भीम के बदनोर चौराहे से मस्जिद मार्ग की ओर आ रहे थे। पुलिस को जब इसकी सूचना मिली तो थाना प्रभारी गजेन्द्र सिंह मय पुलिस जाप्ता मौके पर पहुंच गए। जिसमें नौ पुलिसकर्मी थे। उनमें कांस्टेबल संदीप जाखड़ भी था। पुलिस दल ने भीड़ को रोककर प्रदेश में धारा 144 लागू होने का हवाला देते हुए समझाने की कोशिश की कि वे यहां से चले जाएं। इस पर भीड़ में शामिल एक युवक ने अचानक धारदार हथियार से कांस्टेबल संदीप जाखड़ के गले पर वार कर दिया। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। उसके गले का बड़ा हिस्सा कट गया, वह खून से सन गया और जमीन पर गिर गया। उस दौरान उसके साथी पुलिसकर्मियों ने उसे संभाला और भीड़ को इधर-उधर कर उच्चाधिकारियों को सूचना देकर बुला लिया। घायल संदीप को सरकारी अस्पताल में प्राथमिक उपचार दिलाकर ब्यावर के अमृतकौर अस्पताल में पहुंचाया गया। जहां उसकी हालत नाजुक होने पर उसे चिकित्सक ने उपचार देकर अजमेर के जेएलएन अस्पताल के लिए रैफर कर दिया। उसे ब्यावर से एम्बुलैंस में पूरे पुलिस जाप्ता सहित सुरक्षा घेरे में अजमेर के जेएलएन अस्पताल की इमरजेंसी पहुंचाया जहां चिकित्सकों की टीम ने तुरंत भर्ती कर उसे उपचार दिया। चिकित्सक ने उसकी हालत नाजुक बताई है। 

कलक्टर व एसपी भी पहुंचे

Read More  मानसून सक्रिय बारिश से झील लबालब,  रिकॉर्ड की 124 एमएम बारिश 

कांस्टेबल पर हमले की सूचना से प्रशासन व पुलिस अधिकारी भी सकते में आ गए। अजमेर जिला कलक्टर अंश दीप व एसपी विकास शर्मा भी अस्पताल पहुंचे। जहां उन्होंने चिकित्सकों से मुलाकात कर कांस्टेबल के बेहतर उपचार के निर्देश देते हुए उसके चिकित्सक द्वारा परीक्षण के बाद स्वास्थ्य की जानकारी ली। साथ ही पुलिस जाप्ते को कानून व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। कांस्टेबल की देखरेख के लिए पुलिसकर्मियों को अस्पताल में तैनात कर दिया गया है। 

हमलावर फरार, हथियार बरामद, 40 लोग पकड़े

भीम में पुलिस कांस्टेबल पर हमले के बाद में पुलिस अधिकारी व जाप्ता मौके पर पहुंच गया। पुलिस को मौके पर एक तलवार मिली है। जिसे पुलिस ने जप्त कर लिया। इसके अलावा पुलिस ने मौके से करीब 40 लोगों को भी पूछताछ के लिए पकड़ा है। उनसे पुलिस हमलावर के संबंध में पूछताछ कर रही है। सूत्रों की मानी जाए तो पुलिस ने हमलावर को भी पकड़ लिया है। लेकिन पुलिस ने अधिकृतरूप से इसकी घोषणा नहीं की है। संभवत: पुलिस मामले में गुरुवार को जानकारी देगी। घटना के बाद भीम क्षेत्र में पुलिस ने कर्फ्यू लगा दिया है। वहीं अधिकारी स्थिति का जायजा ले रहे हैं। 

Read More अवकाश के बावजूद खुले निजी स्कूल, नहीं माने सरकारी आदेश

 दो घंटे चला ऑपरेशन, सर्जीकल आईसीयू में किया शिफ्ट

। जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय में भर्ती कांस्टेबल संदीप चौधरी की स्थिति गम्भीर बनी हुई है। लगभग दो घंटे चले आॅपरेशन के पश्चात उसको वेन्टीलेटर पर सर्जीकल आईसीयू में शिफ्ट कर दिया है। इमरजेंसी मॉड्यूलर ऑपरेशन थियेटर ले जाया गया, जहां सीटीवीएस डॉ.अनुराग गोयल, ईएनटी सर्जन डॉ.दिग्विजय सिंह एवं डॉ.योगेश असेरी, न्यूरोसर्जन डॉ.संतोष आचार्य एवं डॉ.गोगराज गढ़वाल, सर्जन डॉ.अनिल शर्मा एवं डॉ.भागचंद खोरवाल, एनेस्थिेटिक डॉ.अरविंद खरे एवं डॉ.बीना की टीम ने उसका ऑपरेशन किया, जो लगभग दो घंटे तक चला। घायल कांस्टेबल को वेन्टीलेटर पर रखकर सर्जीकल आईसीयू में शिफ्ट कर दिया गया है। जहां पर उसकी हालत गम्भीर बनी हुई है। ऑपरेशन के दौरान उसको चार यूनिट ब्लड चढ़ाया गया। 

अधिकारी कहिन

Read More  कर्नल बैंसला का अस्थि विसर्जन कार्यक्रम होगा ऐतिहासिक

अस्पताल अधीक्षक डॉ.अनिल जैन ने बताया कि कांस्टेबल के धारदार हथियार से वार करने के कारण गर्दन पर शार्प ट्रोमा था। इसके कारण खून बहुत बह गया था। उसकी सिर की ओर जाने वाली कई नसें कट गई थीं। जिनको रिपेयर किया गया। उसकी सिर के कई हिस्सों में खून पहुंचाने वाली केरोटिड आर्टरी बच हुई थी। सम्भवत: इसीलिए उसकी जान बच गई।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Post Comment

Comment List

Latest News