मशहूर कव्वाल फरीद साबरी का निधन, गाए थे 'एक मुलाकात जरूरी है सनम' और 'देर ना हो जाए' जैसे गाने

मशहूर कव्वाल फरीद साबरी का निधन, गाए थे 'एक मुलाकात जरूरी है सनम' और 'देर ना हो जाए' जैसे गाने

ख्यातनाम एवं फिल्मी दुनिया के मशहूर कव्वाल फरीद साबरी का निधन हो गया है। वह निमोनिया से पीड़ित थे।

जयपुर। ख्यातनाम एवं फिल्मी दुनिया के मशहूर कव्वाल फरीद साबरी का निधन हो गया है। जयपुर के एक अस्पताल में बुधवार को उन्होंने अंतिम सांस ली। वे निमोनिया से पीड़ित थे। जयपुर सहित देश भर के कला रसिकों ने साबरी के निधन पर गहरा शोक जताया है। पद्मभूषण पंडित विश्व मोहन भट्ट, गायिका इला अरुण, गजल गायक मोहम्मद हुसैन सहित अनेक लोगों ने साबरी के निधन पर दुख एवं संवेदनाएं जताई है

फरीद साबरी, उनके भाई अमीन साबरी और उनके पिता सईद साबरी की पहचान 'साबरी ब्रदर्स' के नाम से देश और दुनिया में कव्वाली गाने वालों में मशहूर थी। वे जयपुर के रामगंज इलाके में चौकड़ी गंगापोल में परिवार के साथ रहते थे। फईद साबरी ने ही अपने पिता सईद साबरी और लता मंगेशकर के साथ में मिलकर 'हिना' फिल्म के लिए कव्वाली 'देर न हो जाए कहीं देर न हो जाए' गीत गाया था। बॉलीवुड फिल्म 'सिर्फ तुम' में गाए उनके गाने 'इक मुलाकात जरूरी है सनम' ने भी खासी लोकप्रियता हासिल की थी।

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News

एनआईए ने केरल , कर्नाटक में 3 जगहों पर मारे छापे एनआईए ने केरल , कर्नाटक में 3 जगहों पर मारे छापे
एनआईए सूत्रों ने कहा कि यह मामला पीएफआई के कार्यकर्ताओं, सदस्यों और पदाधिकारियों द्वारा रची गई आपराधिक साजिश से संबंधित...
चीन मुद्दे पर बहस से भाग रही है सरकार : कांग्रेस
चार राज्यों की नयी जातियों को मिलेगा एसटी का दर्जा
आगामी बजट को लेकर गहलोत ने किया किसान प्रतिनिधियों के साथ संवाद
अजय देवगन ने काजोल की फिल्म सलाम वेंकी की तारीफ की
क्या राहुल गांधी के पास जवाब है कि रामनवमी और हिंदू नववर्ष पर कांग्रेस की सरकार ने प्रतिबंध क्यों लगाया: डॉ. पूनियां
कोटा के विकास कार्य अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने वाले हैं