आतंक की चुनौती

सुरक्षा व्यवस्था को चुनौती देने का प्रयास करते है

आतंक की चुनौती

सेना व सुरक्षा बलों को अच्छी तरह पता है कि आतंकी संगठन विशेष अवसरों के आसपास अक्सर सुरक्षा व्यवस्था को चुनौती देने का प्रयास करते हैं।

राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस के  चंद दिन पहले सेना ने जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी हमले की बड़ी साजिश को नाकाम तो कर दिया, लेकिन इस कार्रवाई में 4 जवान शहीद हो गए। सेना व सुरक्षा बलों को अच्छी तरह पता है कि आतंकी संगठन विशेष अवसरों के आसपास अक्सर सुरक्षा व्यवस्था को चुनौती देने का प्रयास करते है। इसके मद्देनजर काफी निगरानी व सतर्कता रखी जाती है। इसके बावजूद अगर आत्मघाती आतंकी सैन्य शिविर में घुसने में सफल होते हैं, तो सुरक्षा संबंधी सतर्कता पर सवाल हो जाते हैं। यह काफी चिंता का विषय है। जम्मू इलाके के दारहल सैन्य शिविर में दो आतंकी उरी की तरह में घुस गए थे। हालांकि समय रहते सुरक्षा बलों ने उन्हें मार गिराया, लेकिन उन्होंने भी सामना किया, जिसमें हमारे 4  जवान शहीद हो गए। इस हादसे के एक दिन पहले बडगाम में सुरक्षा बलों के साथ आतंकियों की मुठभेड़ हुई थी, जिसमें 3 आतंकी मारे गए थे। उसी दिन पुलवामा में पुलिस ने करीब 30 किलो विस्फोटक बरामद किया, जिसका इस्तेमाल किसी बड़े हादसे को करेने के लिए किया जाना था। 

इन तीनों हादसों से साफ है कि चौकसी के बावजूद आतंकियों की मौजूदगी बनी हुई है और सुरक्षा बलों के सामने चुनौती बने हुए है। आतंकवादियों व अलगाववादियों के खिलाफ रोक और सीमा पर नजर रखने के चलते सरकार दावा करती रही कि आतंकवाद समाप्त हो रहा है, लेकिन हकीकत में आतंकी कहीं भी ज्यादा कमजोर नजर नहीं आ रहे हैं और सुरक्षा बलों की हर रणनीति के समक्ष वे चुनौती पेश करते दिखाई देते हैं। आतंकी हमले के तरीकों में बदलाव करते रहते है। आतंकियों की भर्ती जारी है। उन्हें हथियारों की आपूर्ति भी हो रही है। उन्हें सैन्य शिविरों व गतिविधियों की भी जानकारियां मिलती रहती हैं। केन्द्र सरकार को यह सारी जानकारी है। दूरदराज के इलाकों में आतंकियों को स्थानीय लोगों का समर्थन प्राप्त है। 

 

Read More डरावनी तस्वीर पेश करते आत्महत्या के आंकड़े

Post Comment

Comment List

Latest News

फर्जी दस्तावेज लेकर सेना मे भर्ती होने आया था युवक, कार्रवाई के डर से पत्थर की खान में उतरा  फर्जी दस्तावेज लेकर सेना मे भर्ती होने आया था युवक, कार्रवाई के डर से पत्थर की खान में उतरा 
आर्मी भर्ती प्रक्रिया के दौरान दस्तावेज संदिग्ध पाये जाने पर सेना के अधिकारी ने पकड़ लिया। इस दौरान वह कार्रवाई...
अकासा एयरलाइन ने दी पालतू पशुओं को विमान से ले जाने की सुविधा  
इक्वाडोर की जेल में 2 गिरोहों में संघर्ष, 5 कैदियों की मौत
स्वयंसेवकों ने स्वच्छता के लिए किया श्रमदान
छात्र संघ अध्यक्ष का निर्वाचन रद्द, कॉलेज प्रशासन ने उपाध्यक्ष को सौंपा चार्ज
गांधी और डॉ. अम्बेडकर के सिद्धांतों का करें अनुसरण : यादव
भारत फाइनेंस के ऑफिस में हुई लूट का खुलासा, 2 लुटेरे गिरफ्तार