स्केटिंग में बेटियां दिखा रही उत्साह

सुविधाओं का अभाव फिर भी कम नहीं हुआ क्रेज

स्केटिंग में बेटियां दिखा रही उत्साह

कोटा में स्केटिंग करने के लिए भले ही सुविधाओं का अभाव हो, इसके बावजूद बेटियों में स्केटिंग का के्रज कम नहीं हुआ है। यही वजह है कि स्केटिंग सीखने के प्रति उत्साह बना हुआ है।

कोटा। कहते हैं हर बच्चे में कोई ना कोई हुनर जरूर होता है। जरूरत होती है उस हुनर को पहचानने की, उसे दुनिया के सामने बाहर लाने की और उसे सही दिशा में प्रेरित करने की। कुछ ऐसा ही हुनर कोटा में स्केटिंग करने वाली बेटियों में भी देखने को मिल रहा है। कोटा की बेटियां स्केटिंग में जुनून के चलते सफलता की उड़ान भर रही है। सुबह शाम कई महिला खिलाड़ी मैदानों में स्केटिंग करते हुए देखी जा सकती है। कोटा में स्केटिंग करने के लिए भले ही सुविधाओं का अभाव हो, इसके बावजूद बेटियों में स्केटिंग का क्रेज कम नहीं हुआ है। यही वजह है कि स्केटिंग सीखने के प्रति उत्साह बना हुआ है।

हर रोज 500 महिलाएं करती है स्केटिंग
कोटा में स्केटिंग का क्रेज इस कदर है कि यहां रोजाना 500 महिलाएं, बच्चियां व युवतियां स्केटिंग कर रही है। ज्यादातर महिलाएं शौक के लिए स्केटिंग करती है। स्केटिंग केवल मनोरंजन का ही साधन नहीं है, बल्कि इसे युवतियां अपना करियर भी बना रही है। देशभर में स्केटिंग के कई प्रशिक्षण केन्द्र है, बच्चों को चुनकर अन्य दूसरे देशों में चैम्पियनशिप के लिए भेजते है। कोटा में स्केटिंग का प्रशिक्षण केन्द्र नहीं होने से स्केटिंग करने वालों में थोड़ी मायूसी है। स्केटिंग करने के फायदे स्केटिंग एक ऐसी व्यायाम मशीन है, जिसको करने से मजा भी आता है और चुस्त और स्वस्थ भी रहा जा सकता है। स्केटिंग करने से पैरों की ताकत बढ़ती है और शरीर की सभी मसल्स की एक्सरसाइज हो जाती है। इससे दिमाग और समझने की क्षमता बढ़ती है। स्केटिंग करना साइकिल चलाने से अधिक फायदेमंद है। कई तरह की होती है स्केटिंग रोलर स्केटिंग, आइस स्केटिंग, इन लेन स्केटिंग। भारत में रोलर स्केटिंग का बहुत चलन है। क्योंकि इसे सीखना बहुत आसान है। आजकल स्कूलों में भी स्केटिंग सिखाई जानी लगी है। रोलर स्केटिंग जॉगिग के बराबर है। इसका उपयोग शरीर की चर्बी कैलोरी की खपत को कम करने और पैर की ताकत बढ़ाने के लिए विशेष रूप से किया जाता है।

इनका कहना है
आज के बदलते समय और बदलते सामाजिक परिवेश में युवा पीढ़ी के करियर के लिए कई विकल्प खुल गए है। स्केटिंग में कॉमर्स, सांइस स्ट्रीम व आर्ट फिल्ड के बच्चों के लिए करियर की अपार संभावनाए है। हालांकि कोटा में स्केटिंग करने वाले बच्चों को पूरी सुविधाएं नहीं मिल रही। - गोपाल श्रृंगी, ट्रेनर

Post Comment

Comment List

Latest News