किसान आहत: खेतों में पड़ी फसल पर बारिश की चोट

बाजरा, मूंगफली, मक्का की 80 फीसदी फसल खराब 

किसान आहत: खेतों में पड़ी फसल पर बारिश की चोट

इन दिनों किसानों की फसल पककर खेत में तैयार है और किसान फसल को काट भी रहा है। लगातार हो रही बारिश से क्षेत्र में बाजरा, मूंगफ ली, मक्का की फ सलों पर 80 फीसदी खराब है।

लालसोट।  क्षेत्र में तीन दिन से रुक.रुक कर बारिश का दौर जारी है। मौसम के बदलते मिजाज से काले बादल छाने से दिन में ही रात जैसा नजारा दिख रहा है। वहीं तेज हवाओं के साथ बरसात होने से सर्दी का भी एहसास हो रहा है। पिछले 24 घंटे में लालसोट में 34 एमएम बारिश दर्ज हुई है। इन दिनों किसानों की फसल पककर खेत में तैयार है और किसान फसल को काट भी रहा है। लगातार हो रही बारिश से क्षेत्र में बाजरा, मूंगफ ली, मक्का की फ सलों पर 80 फीसदी खराब है। जिससे किसानों की चिंता की लकीरें भी बढ़ने लगी है। किसानों की 4 महीनों की मेहनत पर बारिश का पानी फिर रहा है। वहीं खेतों में कटकर पड़ी बाजरे की फ सल खराब हो रही है। बारिश होने की वजह से बाजरा, मूंगफली की पकी हुई फ सल दोबारा अंकुरित होने लग गई है। जिससे किसानों को नुकसान हो रहा है। उपखण्ड क्षेत्र में बारिश से बाजरे की कटी हुई फसल को भारी नुकसान पहुंचा है। विजयपुरा, निजामपुरा, तलावगांव, मंडावरी व झांपदा सहित क्षेत्र के कई गांवों में बारिश के कारण बाजरे की कटाई की फसल खेतों में पानी में तैर गई।

वहीं दूसरी तरफ खेतों में पड़े सिट्टो में बरसात के पानी के कारण फिर से बाजरा अंकुरित हो गया। भाजपा किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष रामजीलाल डोई, ग्राम सेवा सहकारी समिति मंडावरी के अध्यक्ष रामकेश मीणा, भाजपा जिला उपाध्यक्ष हरकेश मटलाना, निजामपुरा के भरतलाल मीणा, झांपदा फैलीराम बैपलावत सहित अनेकों किसानों ने कहा कि क्षेत्र में बाजरे की कटी हुई फसल में 80 प्रतिशत का खराब हो गया है। उन्होंने सरकार से नुकसान का सर्वे कराकर किसानों को मुआवजा दिए जाने की मांग की है।लालसोट क्षेत्र के कई गांवो में किसानों के खेतों में बारिश का पानी भर जाने से भी बाजरे की कड़बी सहित बाजरा खराब हो रहा है। ऐसे में निराशाजनक हालत में किसान सरकार से अपने नुकसान की भरपाई के लिए मुआवजे की मांग भी कर रहे हैं। कृषि विभाग के अधिकारी भी सक्रिय हो गए हैं। लालसोट कृषि विभाग के अधिकारी राम खिलाड़ी मीणा ने बताया कि लालसोट क्षेत्र में इन दिनों बरसात से फ सल में काफी नुकसान हो गया है। उन्होंने बताया कि इंश्योरेंस कंपनी के अधिकारियों को बुलाकर क्षेत्र के सभी गांव में सर्वे करवाया जा रहा है और नुकसान की भरपाई को लेकर इंश्योरेंस कंपनी से किसानों को मुआवजा भी दिलवाया जाएगा। जिसके लिए शनिवार को लालसोट कृषि सेवा केंद्र कार्यालय पर में कैंप भी लगाया गया है।

Post Comment

Comment List

Latest News

ऐतिहासिक विरासतों के संरक्षण के लिए सरकार प्रतिबद्ध: दीया कुमारी ऐतिहासिक विरासतों के संरक्षण के लिए सरकार प्रतिबद्ध: दीया कुमारी
इस इवेंट में शामिल होने के लिए दिल्ली, चंडीगढ़ और वड़ोदरा जैसे शहरों सहित देशभर से विटेंज कार लवर्स आए...
नेत्रदान के प्रति आमजन में जागरूकता आवश्यक: सुधांश पंत
प्रदेश में 14 धार्मिक और पर्यटन स्थलों पर बनेंगे रोप-वे
दिनदहाड़े रेप पीड़िता पर दुष्कर्मियों ने फरसे से किए 15 वार, गोली मारी, दो गिरफ्तार
रक्तदान शिविर का हुआ पोस्टर विमोचन
"शिक्षा में गुणवत्ता बनाए रखने के लिए रिसर्च व कौशल विकास को आधार बनाएं हायर एजुकेशन इंस्टिट्यूट" –डॉ. तोमर 
कौशांबी:पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट, चार की मौत