नवरात्र से पहले ही हो गया 3 करोड़ का कारोबार

सप्ताह भर में 2 करोड़ के नारियल बिके

नवरात्र से पहले ही हो गया 3 करोड़ का कारोबार

पूजन सामग्री में रोली, सुपारी, मोली, जनेऊ, खोपरा चंदन लोग इलाइची, अक्षत आदि की करीब 10 से 15 लाख रुपए की बिक्री हुई है। पूजन सामग्री में कुछ में पांच तो कुछ में दस प्रतिशत तक का इजाफा हुआ है। दुर्गा पूजा में मुख्य रूप से उपयोग किए जाने नीबू के रेट भी दोगुना हो गए हैं।

कोटा। नवरात्र की शुरुआत हो चुकी है। इसकी तैयारियों को लेकर मंदिरों और पांडालों में पूजन सामग्री की खूब बिक्री हुई है। नवरात्रा के पहले 7 दिनों में 3 करोड़ से ज्यादा की पूजन सामग्री की बिक्री हो चुकी है। इस में भी खास बात यह है कि दो करोड़ के तो नारियल ही बिक चुके हैं। किराना व्यवसायी कालूराम मेवाड़ा ने बताया कि पिछले साल की नवरात्रि के मुकाबले इस बार हवन सामग्री के रेट दोगुना तक बढ़ गए है।  वहीं कपूर के रेट 300 रुपए का इजाफा हुआ है। हालांकि सिंदूर, रोली, सुपारी, चुनरी और हवन सामग्री आदि के रेट में 5 से 10 फीसदी तक की बढ़ोतरी हुई है। इनका भी 7 दिन में तीन करोड़ तक का कारोबार चुका है। अभी नवरात्रा की खरीद फरोक्त में तेजी बनी हुई है। इस बार पूजन सामग्री में कुछ में पांच तो कुछ में दस प्रतिशत तक का इजाफा हुआ है। दुर्गा पूजा में मुख्य रूप से उपयोग किए जाने नीबू के रेट भी दोगुना  हो गए हैं।

इसलिए बढ़ रहे दाम
हवन सामग्री के रेट दोगुने हो गए हैं। इसकी वजह और काले तिल दामों में बढोत्तरी हुई है। बाकी अन्य सामग्री महंगे होने की वजह बारिश के कारण कई दिनों तक माल से भरे ट्रक रास्ते में खड़े है रहे जिससे इनका परिवहन लागत बढ़ गई। 

नवरात्रा के पहले 20 हजार का नींबू बिक गया
नवरात्रा में नींबू का विशेष महत्व होता है। मंडी व्यापारियों के अनुसार नवरात्रा के पहले दिन 20 हजार रुपए का निंबू बिक गया। नवरात्र में नींबू 10 रुपए तीन बिक रहे है। अन्य पूजन सामग्री में  रोली, सुपारी, मोली, जनेऊ, खोपरा चंदन लोग इलाइची, अक्षत आदि की करीब 10 से 15 लाख रुपए की बिक्री हुई है। 

Read More 80 प्रतिशत विधायकों का साथ नहीं मिला तो हम छोड़ देंगे दावेदारी : गुढ़ा

नारियल रिटेल में 30 रुपए तक बिका
किराना व्यवसायी अशोक जैन ने बताया कि  शहर में सजे पांडालों की संख्या लगभग  400 से अधिक है। इनमें एक-एक पांडाल द्वारा कम से कम 5-5 नारियल की खरीद की है। देवी मंदिरों और घरों में भी घट स्थापना होते है। अनुमान है कि 7 दिन में 1000 बोरे नारियल की खपत हुई है एक बोरे में 200 नारियल होते हैं। एक नारियल की कीमत 25 से 30 रुपए तक है।

हवन सामग्री के पैकेट की रही डिमांड
हवन लकड़ी के पैकेट की लकड़ी पैकेट 50 रुपए से लेकर 150 रुपए तक बिके हैं। इसका भी करीब 10 हजार रुपए तक का कारोबार हो चुका है। इसके धूप और अगरबती का एक करोड़ का कारोबार हुआ है। 

हवन सामग्री की बिक्री हुई 5 हजार किलो
नवरात्रि के लिए नौ दिवसीय हवन के लिए अभी तक 5 हजार किलो हवन सामग्री की बिक्री हो चुकी है। इस के रेट 180 से 250 रुपए किलो तक है। पिछले साल सामग्री 100 रुपए से 120 रुपए तक बिकी थी। पिछले  साल के मुकाबले इस बार इसके दामों में बढोत्तरी हुई है।  

Read More अहिंसा का सन्देश फैलाने के लिए सरकार ने बनाया विभाग

कपूर टिकिया हुई महंगी
देसी कपूर और टिकिया मिलकर 2 क्विंटल से अधिक की बिक्री हुई है। कपूर गत वर्ष 800 से लेकर 900 रुपए किलो तक बिका था। जबकि इस बार 1050 और 1100 रुपए किलो मिल रहा है।

माता की चुनरी खूब बिक रही
हवन सामग्री विक्रेता रामसिंह ने बताया कि माता को चुनरी की कीमत 10 रुपए से लेकर 100 है लेकिन लोग 30 से 50 रुपए तक की खरीदते है। इसकी अब तक नई से 20 हजार रुपए तक कारोबार हो चुका है। 

Tags: navratri

Post Comment

Comment List

Latest News