प्रधानमंत्री ने दिवंगत कर्नल की पत्नी से की मुलाकात, बताया साहसी

उमा सचदेवा ने प्रधानमंत्री को भेंट की पुस्तकें

प्रधानमंत्री ने दिवंगत कर्नल की पत्नी से की मुलाकात, बताया साहसी

मोदी ने 90 वर्षीय उमा जी को एक साहसी और उत्साह से परिपूर्ण बताते हुए उनकी सराहना की।मोदी ने ट्वीट किया कि आज मेरी श्रीमती उमा सचदेवा जी से एक यादगार मुलाकात हुई।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारतीय थल सेना के सेवानिवृत्त कर्नल दिवंगत एच के सचदेवा की पत्नी उमा सचदेवा से अपनी मुलाकात को ट्वीटर पर साझा किया। मोदी ने 90 वर्षीय उमा जी को एक साहसी और उत्साह से परिपूर्ण बताते हुए उनकी सराहना की।मोदी ने ट्वीट किया कि आज मेरी श्रीमती उमा सचदेवा जी से एक यादगार मुलाकात हुई। वह 90 वर्ष की हैं, और सौभाग्य है, कि वह भरपूर साहस और उत्साह से भरी हैं। उनके पति कर्नल एच के सचदेवा सेना के बहुत सम्मानित अधिकारी थे। उमा जी जर्नल वेद मलिक की रिश्तेदार हैं। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि उमा जी ने उन्हें अपने दिवंगत पति कर्नल सचदेवा द्वारा लिखी गयी 3 पुस्तकों की प्रतियां भेंट कीं। इनमें से 2 गीता पर केन्द्रित हैं, और तीसरी पुस्तक 'ब्लड एंड टीयर्स में कर्नल एच के सचदेवा ने भारत विभाजन की विभीषिका के अनुभवों और उनके जीवन पर उसके प्रभाव का दिल को छूने वाला विवरण प्रस्तुत किया है। मोदी ने उमा जी के साथ बातचीत करते हुए अपनी तस्वीर और 'ब्लड एंड टीयर्स के आवरण का फोटो शेयर किया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि बातचीत में केन्द्र सरकार द्वारा 14 अगस्त को विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस के रूप में मनाने के फैसले को लेकर भी चर्चा हुई। 

मोदी ने कहा कि यह दिवस विभाजन की पीड़ा झेलने वालों के प्रति समर्पित है, जिन्होंने न केवल विस्थापन के बाद भारत आकर अपनी नये सिरे से जिंदगी खड़ी की, बल्कि राष्ट्र की प्रगति में योगदान किया। प्रधानमंत्री ने लिखा कि ऐसे लोग मनुष्य की जिजीविषा, धैर्य और पुरुषार्थ के प्रतीक हैं।

Read More मेरी छवि खराब करने के लिए करोड़ों खर्च हो रहे, रिजिड होकर सरकार चला रहे संघ-भाजपा : राहुल गांधी

 

Post Comment

Comment List

Latest News