मोटापा, जोड़ों का दर्द जैसे रोग दूर हो रहे हैं प्राकृतिक चिकित्सा से

मोटापा, जोड़ों का दर्द जैसे रोग दूर हो रहे हैं प्राकृतिक चिकित्सा से

प्राकृतिक उपचार की इन विधियों के साथ रोगियों को प्रतिदिन योग-प्राणायाम कराया जाता है |

जयपुर | जल, अग्नि, वायु, आकाश और पृथ्वी को आधार मानकर प्राकृतिक चिकित्सालय में रोगियों का प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार किया जा रहा है | यह चिकित्सा बिना दवाओं के प्रकृति प्रदत्त चीजों से लोगों को दी जा रही हैं जिनमें छोटे-छोटे प्रयोगों मिट्टी की पट्टी बांधकर, गीली चादर लपेट, मड बाथ, स्टीम बाथ, सूर्य स्नान, कटि स्नान, एनीमा स्पाइन स्प्रे बाथ आदि से विभिन्न रोगों के मरीजों का सफल उपचार किया जा रहा है | इस उपचार से विशेष रूप से जोड़ों का दर्द, आर्थराइटिस, स्पान्डिलाइटिस, साइटिका, कब्ज, मोटापा, डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को प्राकृतिक चिकित्सा दी जा रही है जिससे उनका शरीर बिना दवा के रोगों से लड़ने के लिए मजबूत बन रहा है |


प्राकृतिक चिकित्सालय के चिकित्सक डाॅ दिलीप सारण ने बताया कि यह चिकित्सा शरीर की कमजोर आंतों को मजबूत करती है | प्राकृतिक उपचार की इन विधियों के साथ रोगियों को प्रतिदिन योग-प्राणायाम कराया जाता है | तरल आहार के रूप में लौकी, पेठा, खीरा, मूली, पत्तागोभी, शीशम की पत्ती, पीपल के पत्तों का रस इत्यादि के मूंग, मोठ इस्प्राउट्स देकर बीमारी से निजात दिलाई जाती है | चिकित्सालय के सचिव कुलभूषण बैराठी ने बताया कि रोजाना 100 लोग अस्पताल में आकर प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार करा रहे इससे उनकी सेहत तंदरुस्त बन रही है |

Post Comment

Comment List

Latest News