सरकारी स्कूलों में आठवीं तक के बच्चों को मिलेगा सप्ताह में 2 दिन दूध

मुख्यमंत्री ने की योजना की शुरुआत

सरकारी स्कूलों में आठवीं तक के बच्चों को मिलेगा सप्ताह में 2 दिन दूध

विद्यालयों, मदरसों और विशेष प्रशिक्षण केन्द्रों के विद्यार्थियों को सप्ताह में मंगलवार और शुक्रवार को पाउडर से तैयार दूध दिया जाएगा।

जयपुर। प्रदेश में पहली से आठवीं तक के सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को सप्ताह में दो दिन मिल्क पाउडर से बना दूध और निशुल्क यूनिफॉर्म का कपड़ा मिलेगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज सीएमआर पर राज्यस्तरीय कार्यक्रम में योजना की शुुरुआत की। योजना के तहत राजकीय विद्यालयों, मदरसों और विशेष प्रशिक्षण केन्द्रों के विद्यार्थियों को सप्ताह में मंगलवार और शुक्रवार को पाउडर से तैयार दूध दिया जाएगा। दूध प्रार्थना सभा के तत्काल बाद दिया जाएगा। सरकार ने वर्ष 2022-23 की बजट घोषणा में योजना के तहत पहली से आठवीं तक के विद्यार्थियों को सप्ताह में दो दिन डिब्बे का गर्म दूध उपलब्ध कराने की घोषणा की थी। इसके लिए 476.44 करोड़ रुपए का अतिरिक्त वित्तीय प्रावधान किया गया है। पहली कक्षा से पांचवीं तक के बच्चों को 150 मिलीलीटर और छठी से आठवीं तक के बच्चों को 200 मिलीलीटर दूध पिलाया जाएगा। इसमें चीनी की मात्रा भी तय की गई है। 150 मिलीलीटर दूध में 8.4 ग्राम और 200 मिलीलीटर दूध में 10.2 ग्राम चीनी मिलाई जाएगी। 15 ग्राम पाउडर दूध से 150 मिलीलीटर दूध और 20 ग्राम पाउडर से 200 मिलीलीटर दूध तैयार होगा।

दरअसल सरकार का मानना है कि स्कूल में दूध देने की योजना शुरू होने से पहली से आठवीं कक्षा तक के बच्चों के पोषण के स्तर में सुधार होगा साथ ही स्कूलों में बच्चों के नामांकन वृद्धि.ठहराव. ड्रॉप आउट भी रुक सकेगा। गौरतलब है कि जब सरकार ने स्कूलों में मिड डे.मील योजना शुरू की थी उस दौरान भी स्कूलों में ड्रॉप आउट में कमी आई थी।

दो सेट यूनिफॉर्म मिलेंगे निशुल्क

इसी तरह निशुल्क यूनिफॉर्म वितरण योजना के तहत पहली से 8वीं तक के राजकीय विद्यालयों के सभी विद्यार्थियों को यूनिफॉर्म के 2 सेट निशुल्क दिए जाएंगे। सिलाई के लिए 200 रुपए सीधे विद्यार्थी के खाते में जमा होंगे। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ने वर्ष 2021 के बजट भाषण में पहली से आठवीं कक्षा तक के बच्चों को निशुल्क यूनिफॉर्म उपलब्ध कराने की घोषणा की थी। प्रदेश के 64 हजार 479 सरकारी स्कूलों के 67 लाख 58 हजार से अधिक विद्यार्थी लाभान्वित होंगे। योजना में 500.10 करोड़ रुपए की राशि व्यय होगी।

मुख्यमंत्री निशुल्क यूनिफॉर्म वितरण योजना का लोगो लॉन्च

मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना का लोगो ने लॉन्च किया। राजस्थान के शिक्षा में बढ़ते कदम के दक्षता आधारित रिपोर्ट कार्ड का विमोचन किया। महात्मा गांधी स्कूलों में बाल वाटिका की प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ के पोस्टर का विमोचन किया।

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News

जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम
सचिव शिव जालान ने बताया कि इसमें अनेक कलाकार गीतों, गजलें और नज्मों से स्व. जगजीत सिंह को स्वरांजलि अर्पित...
सतीश पूनियां ने सीएम को लिखा पत्र, आमेर विस क्षेत्र की मांगों को बजट में शामिल करने का किया आग्रह
केरल का इंटरनेशनल थियेटर फेस्टिवल 5 फरवरी से होगा शुरू
मोबाइल फोन के बेतहाशा इस्तेमाल से बढ़ा विजन सिंड्रोम का खतरा
तालिबान प्रशासन व्याख्याता मशाल को तत्काल रिहा करें: संयुक्त राष्ट्र
अडानी सीमेंट के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग
खान सुरक्षा अभियान में निदेशक खान का जोधपुर दौरा