विस्तारा एयरलाइन का एयर इंडिया में होगा विलय 

250 मिलियन डॉलर का निवेश

विस्तारा एयरलाइन का एयर इंडिया में होगा विलय 

विस्तारा एयरलाइंस में टाटा समूह की वर्तमान हिस्सेदारी 51 फीसदी और बाकी 49 फीसदी हिस्सेदारी सिंगापुर एयरलाइंस के पास है। टाटा समूह एयरलाइंस एयर इंडिया का संचालन करता है।

दिल्ली। डॉमेस्टिक सेक्टर की देश की दूसरे नंबर की एयरलाइंस विस्तारा के विलय की पुष्टि हो गई है। विस्तारा एयरलाइंस में 49 फीसदी हिस्सेदारी वाली सिंगापुर एयरलाइंस ने कहा है कि विस्तारा का विलय टाटा समूह के स्वामित्व वाली एयलाइंस एयर इंडिया में किया जाएगा। बता दें कि विस्तारा में टाटा समूह की वर्तमान में 51 प्रतिशत हिस्सेदारी है। विस्तारा अक्टूबर में 9.2 प्रतिशत की बाजार हिस्सेदारी के साथ देश की दूसरी सबसे बड़ी घरेलू एयरलाइंस है। सिंगापुर एयरलाइंस लिमिटेड ने मंगलवार को विस्तारा-एयर इंडिया के विलय की पुष्टि कर दी है। एसआईए ने कहा कि लेन.देन के हिस्से के रूप में वह एयर इंडिया में लगभग 250 मिलियन डॉलर का निवेश करेगा। कहा गया कि मार्च 2024 तक विलय को पूरा करने का लक्ष्य।

विस्तारा एयरलाइंस में टाटा समूह की वर्तमान हिस्सेदारी 51 फीसदी और बाकी 49 फीसदी हिस्सेदारी सिंगापुर एयरलाइंस के पास है। टाटा समूह एयर लाइंस एयर इंडिया का संचालन करता है। टाटा समूह ने विस्तारा की हिस्सेदार सिंगापुर एयरलाइंस को एयर इंडिया में मर्ज करने के लिए तैयार कर लिया है। अब इसकी पुष्टि भी कर दी गई है। विस्तारा के सीईओ विनोद कन्नन ने कहा कि विस्तारा अपने मूल ब्रांड टाटा संस और सिंगापुर एयरलाइंस की एक अच्छी अभिव्यक्ति है। हमें खुशी है कि हम एयर इंडिया के साथ विलय के रूप में उनकी विरासत से निर्देशित होते रहेंगे। उन्होंने कहा कि विलय प्रक्रिया में कुछ समय लगेगा। उन्होंने कहा कि हम अपने ग्राहकों, कर्मचारियों और भागीदारों के लिए वैश्विक मंच पर अधिक अवसर प्रदान करने के लिए तत्पर हैं। 

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News