नए नियम से फर्जीवाड़े पर कसेगा शिकंजा

पीएम किसान सम्मान निधि का मामला

नए नियम से फर्जीवाड़े पर कसेगा शिकंजा

पीएम किसान सम्मान निधि की अगली किस्त के लिए किसानों को राशन कार्ड और भूमि का विवरण जमा करना जरूरी है। इसके लिए राशन कार्ड की हार्ड कॉपी जमा नहीं करनी होगी। केवल राशन कार्ड की पीडीएफ ही अपलोड करनी होगी।

कोटा। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में फर्जीवाड़े की आशंका को लेकर सरकार आए दिन नए नियम निकाल रही है। नए नियम के तहत अब लाभार्थी किसानों को राशनकार्ड और भूमि का विवरण देना जरूरी होगा। इन दस्तावेजों के अभाव में किसानों को योजना का लाभ नहीं मिलेगा। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत हर साल छह हजार रुपए की राशि किसानों को दो-दो हजार रुपए की तीन किस्तों में जारी की जाती है। पीएम किसान निधि की 13वीं किस्त दिसंबर से मार्च के बीच जारी की जानी है। सूत्रों का दावा है कि सरकार इस किस्त को 15 से 20 दिसंबर के बीच किसानों को देने का प्लान कर रही है। किसानों के खाते में हर बार की तरह इस बार भी पैसा डायरेक्ट बेनफिट ट्रांसफर के जरिये भेजा जाएगा। हालांकि सरकार की तरफ से इस बारे में कोई भी आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है।

 हजार किसान संदेह के घेरे में
सरकार ने योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए ई-केवाईसी को अनिवार्य कर दिया है। इसके बावजूद योजना का लाभ उठा रहे कई किसानों ने अभी तक ई-केवाईसी नहीं करवाई है। कोटा जिले के करीब 72 हजार 791 किसानों ने अभी तक ई-केवाईसी नहीं करवाई है। इस कारण यह किसान संदेह के दायरे में आ रहे हैं। जिले में इस योजना के तहत 1 लाख 74 हजार 431 किसानों ने पंजीकरण करवा रखा है। इनमें से अब तक 1 लाख 1 हजार 640 किसानों ने ई-केवाईसी करवा ली है। शेष किसानों ने कई बार तिथि बढ़ाने के बावजूद ई-केवाईसी नहीं करवाई है। सरकार ऐसे किसानों को लगातार ई-केवाईसी करवाने के लिए अपील कर रही है।

राशन कार्ड सबमिट करना जरूरी
पीएम किसान सम्मान निधि की अगली किस्त के लिए किसानों को राशन कार्ड और भूमि का विवरण जमा करना जरूरी है। इसके लिए राशन कार्ड की हार्ड कॉपी जमा नहीं करनी होगी। केवल राशन कार्ड की पीडीएफ ही अपलोड करनी होगी। पहले पीएम किसान की वेबसाइट पर विजिट करना होगा। यहां राशन कार्ड की पीडीएफ फाइल तैयार करने के बाद अपलोड करके सबमिट करनी होगी। वहीं भूमि का विवरण भी देना होगा। यदि इन दस्तावेजों को उपलब्ध नहीं कराया गया तो किसान को योजना का लाभ नहीं मिलेगा। 
  
इस तरह से करा सकते हैं रजिस्ट्रेशन
प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसान दो तरीकों से आॅनलाइन और आॅफलाइन माध्यम से रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले  क्षेत्र के पटवारी (लेखपाल) या पीएम किसान योजना के लिए चयनित नोडल अधिकारी के पास जाना होगा। यहां संबंधित फॉर्म भरकर अपने कागजात जमा कर दें। इसके अलावा नजदीकी जन सेवा केंद्र पर भी संपर्क कर सकते हैं। इस दौरान अपने सभी जरूरी दस्तावेज साथ लेकर जाने होंगे।

फैक्ट फाइल
कोटा जिले में लाभार्थी किसानों का विवरण
 जिले में लाभार्थी किसान   -    174431
 ई-केवाईसी वाले किसान  -    101640
 दीगोद उपखंड  -    37018
कनवास उपखंड  -    17937
लाडपुरा उपखंड -    19263
पीपल्दा उपखंड  -    35369
रामगंजमंडी उपखंड   - 27869
 सांगोद उपखंड   -    36975

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत अभी तक कई किसानों ने ई-केवाईसी नहीं करवाई है। योजना में फर्जीवाड़े को रोकने के लिए नए नियम लागू किए जा रहे हैं। अब योजना का लाभ लेने के लिए राशनकार्ड और भूमि का पूरा विवरण देना होगा।
- शशिशेखर, नोडल अधिकारी, पीएम किसान सम्मान निधि

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News