120 किलो वजन के साथ दो बार एंजियोप्लास्टी करवा चुके मरीज का हुआ सफल नी रिप्लेसमेंट 

अगले ही दिन वॉकर की मदद से चलने लगा मरीज

120 किलो वजन के साथ दो बार एंजियोप्लास्टी करवा चुके मरीज का हुआ सफल नी रिप्लेसमेंट 

120 किलो का वजन होने के कारण यह बहुत जटिल ऑपरेशन था। इतना ज्यादा वजन होने के कारण मरीज को हार्ट की बीमारियों ने भी जकड़ लिया जिसके चलते उसे दो बार एंजियोप्लास्टी भी करानी पड़ी।

जयपुर। भरतपुर निवासी 50 वर्षीय हरीश गुप्ता (परिवर्तित नाम) को कई वर्षों से चलने फिरने में परेशानी थी व नी रिप्लेसमेंट कराना था। लेकिन 120 किलो का वजन होने के कारण यह बहुत जटिल ऑपरेशन था। इतना ज्यादा वजन होने के कारण मरीज को हार्ट की बीमारियों ने भी जकड़ लिया जिसके चलते उसे दो बार एंजियोप्लास्टी भी करानी पड़ी। जब मरीज का चलना-फिरना बिलकुल बंद होने लगा तब परिजनों ने जयपुर में कार्यरत जोड़ प्रत्यारोपण विशेषज्ञ डॉ. आशीष राणा गोयल को दिखाया। डॉ. आशीष राणा ने अपनी सहयोगी टीम के साथ 120 किलो के इस मरीज के जटिल जोड़ प्रत्यारोपण सर्जरी को सफलतापूर्वक अंजाम दिया।

सर्जरी के अगले ही दिन वॉकर की मदद से मरीज चलने लगा और करीब दो हफ़्तों के आराम के बाद पुनः अपनी जीवनशैली में लौट सकता है। डॉ. आशीष राणा ने बताया कि इतने ज्यादा वजन और दो बार एंजियोप्लास्टी होने से यह ऑपरेशन बहुत जटिल था व रिस्क भी ज्यादा था। लेकिन मरीज के सहयोग और टीम के साथ से यह ऑपरेशन सफल हुआ।

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News

जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम
सचिव शिव जालान ने बताया कि इसमें अनेक कलाकार गीतों, गजलें और नज्मों से स्व. जगजीत सिंह को स्वरांजलि अर्पित...
सतीश पूनियां ने सीएम को लिखा पत्र, आमेर विस क्षेत्र की मांगों को बजट में शामिल करने का किया आग्रह
केरल का इंटरनेशनल थियेटर फेस्टिवल 5 फरवरी से होगा शुरू
मोबाइल फोन के बेतहाशा इस्तेमाल से बढ़ा विजन सिंड्रोम का खतरा
तालिबान प्रशासन व्याख्याता मशाल को तत्काल रिहा करें: संयुक्त राष्ट्र
अडानी सीमेंट के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग
खान सुरक्षा अभियान में निदेशक खान का जोधपुर दौरा