पुलिस को मिली 25 हाईटेक नाइट हॉक इंटरसेप्टर

360 डिग्री का कैमरा रिकॉर्ड

पुलिस को मिली 25 हाईटेक नाइट हॉक इंटरसेप्टर

लेजर ट्रैक गति कैमरे के अतिरिक्त 360 डिग्री का कैमरा रिकॉर्डर, सांस से एल्कोहल की पहचान, टिंट मीटर, एलईडी साइनेज, एलईडी लाइटबार और उच्च क्षमता का साइरन और पीए सिस्टम उपलब्ध है। इसमें प्राथमिक बचाव और प्राथमिक चिकित्सा किट भी है।

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पुलिस मुख्यालय में हुई समीक्षा बैठक से पहले यातायात पुलिस के लिए उपलब्ध कराई जा रही इंटरसेप्टर को देखा। अतिरिक्त महानिदेशक (यातायात) वीके सिंह ने बताया कि यह 25 इंटरसेप्टर आधुनिक डिजिटल जीपीएस, वाईफाई और इंटरनेट तकनीक से लैस हैं। इसमें उच्च गुणवत्ता वाले हाई डेफिनेशन कैमरा सहित एक किलोमीटर दूरी से वाहनों की गति मापने की क्षमता का स्पीड लेजर गन उपलब्ध है। दिन में 250 मीटर और रात में 100 मीटर से अधिक तेज गति के वाहनों का स्वत: नम्बर प्लेट पहचान कर वाहन के फोटो और वीडियो लेकर इंटरनेट से एनआईसी-आईटीएमएस आॅनलाइन ई-चालान जारी करने में सक्षम है। सिंह ने बताया कि इसमें लेजर ट्रैक गति कैमरे के अतिरिक्त 360 डिग्री का कैमरा रिकॉर्डर, सांस से एल्कोहल की पहचान, टिंट मीटर, एलईडी साइनेज, एलईडी लाइटबार और उच्च क्षमता का साइरन और पीए सिस्टम उपलब्ध है। इसमें प्राथमिक बचाव और प्राथमिक चिकित्सा किट भी है। एडीजी ने बताया कि इंटेग्रा डिजाइन नाम की फर्म ने डिजाइन कर मारुति अर्टिगा वाहनों पर यह सिस्टम तैयार किया है। यह इंटरसेप्टर कुछ ही दिनों में ट्रेनिंग के बाद सभी जिलों में दी जाएंगी।

Post Comment

Comment List

Latest News

कम वोटिंग से राजनीति दलों में मंथन का दौर शुरू, दूसरे चरण की 13 सीटों को लेकर रणनीति बनाने में जुटे कम वोटिंग से राजनीति दलों में मंथन का दौर शुरू, दूसरे चरण की 13 सीटों को लेकर रणनीति बनाने में जुटे
ऐसे में इस बार पहले चरण की सीटों पर कम वोटिंग ने भाजपा को सोचने पर मजबूर कर दिया है।...
भारत में नहीं चाहिए 2 तरह के जवान, इंडिया की सरकार बनने पर अग्निवीर योजना को करेंगे समाप्त : राहुल
बड़े अंतर से हारेंगे अशोक गहलोत के बेटे चुनाव, मोदी की झोली में जा रही है सभी सीटें : अमित 
किडनी ट्रांसप्लांट के बाद मरीज की मौत, फोर्टिस अस्पताल में प्रदर्शन
इंडिया समूह को पहले चरण में लोगों ने पूरी तरह किया खारिज : मोदी
प्रतिबंध के बावजूद नौलाइयों में आग लगा रहे किसान
लाइसेंस मामले में झालावाड़, अवैध हथियार रखने में कोटा है अव्वल