9488 नए रोगी, तीन की मौत, एक ही दिन में 33% मरीज व 47.45% संक्रमण बढ़ा, जयपुर हुआ कोरोना सिटी : पहली लहर के पीक पर प्रदेश में 3314 मरीज थे, अकेले जयपुर में 3659 आए

9488 नए रोगी, तीन की मौत, एक ही दिन में 33% मरीज व 47.45% संक्रमण बढ़ा, जयपुर हुआ कोरोना सिटी : पहली लहर के पीक पर प्रदेश में 3314 मरीज थे, अकेले जयपुर में 3659 आए

प्रदेश की संक्रमण दर 13.86 फीसदी हुई, सीएम ऑफिस में भी 43 कमी-अधिकारी संक्रमित मिले

जयपुर। प्रदेश में कोरोना की रफ्तार अब और तेज हो गई है। एक दिन में बुधवार को 9,488 नए रोगी आए हैं। वहीं जयपुर में दो और सीकर में एक व्यक्ति की मौत कोरोना से हुई। बुधवार को एक ही दिन में कोरोना के मरीजों में 33 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। मंगलवार को 6,366 रोगी ही आए थे। वहीं संक्रमण भी एक ही दिन में 47.45 फीसदी बढ़ा है। बीते दिन जहां 8.67 फीसदी संक्रमण दर थीं, वहीं यह अब 13.86 फीसदी जा पहुंची है यानि हर सौ जांचों में प्रदेश में 23 लोग संक्रमित निकल रहे हैं। जयपुर में और भी बुरे हालात हैं। प्रदेश में पहली लहर में 24 नवम्बर 2020 को  3314 मरीज पर पीक था, उससे भी ज्यादा 3659 मरीज तो जयपुर में एक ही दिन में बुधवार को आ गए हैं। जयपुर में चौबीस घंटे में ही मरीजों की संख्या 1493 बढ़ी है। वहीं संक्रमण दर 14.45 से 47.33 फीसदी बढ़कर 23.02 फीसदी हो गई है। पांच जिलों अलवर, जोधपुर, बीकानेर, उदयपुर, कोटा में 700-400 तक, छह जिलों भरतपुर, बाडमेर, अजमेर, चित्तौड़गढ़, सीकर, भीलवाड़ा में 400-200 तक, चार जिलों पाली, सवाईमाधोपुर, गंगानगर, चूरू में 200 से कम लेकिन 100 से ज्यादा नए केस हैं।


सीएम ऑफिस में 43 संक्रमित मिले
मुख्यमंत्री निवास के बाद अब सीएम ऑफिस भी में कोरोना के 43 कर्मी-अधिकारी संक्रमित मिले हैं। यहां बीते दिन 175 कर्मियों की सावधानी के चलते जांच हुई थी। जिनमें से यह संक्रमित निकले हैं। बुधवार को यहां 100 और कर्मियों के सैंपल लिए गए हैं। गौरतलब है कि पिछले दिनों सीएम अशोक गहलोत, उनकी पत्नी सुनीता गहलोत भी संक्रमित हुए थे। बाद में जांच में सीएम आवास पर कार्यरत कई कर्मी संक्रमित मिले थे।


किस जिले में कितने रोगी
जयपुर में 3659, अलवर में 755, जोधपुर में 591, बीकानेर में 495, उदयपुर में 423, कोटा में 406, भरतपुर में 364, बाडमेर में 319, अजमेर में 287,चित्तौड़गढ़ में 267, सीकर में 254, भीलवाड़ा में 218, पाली में 166, सवाईमाधोपुर में 134, गंगानगर में 117, चूरू में 105, सिरोही में 96, राजसमंद में 95, दौसा में 92, डूंगरपुर में 86, झालावाड़ में 76,  जैसलमेर में 75, टोंक में 70, प्रतापगढ़ में 68, झुंझुनूं में 59, गंगानगर में 47, बारां में 46, नागौर में 44, बांसवाड़ा में 37, बूंदी में 26, धौलपुर में 11, जालौर, करौली में कोई नया रोगी नहीं।

तीसरी लहर में मौतों से राहत : प्रति दस हजार मरीजों पर 4 ही मौतें
 राजस्थान में कोरोना की तीसरी लहर की तीन जनवरी को जयपुर से एंट्री हुई थी। जैसा उम्मीद था कि ओमिक्रॉन से मौतों से राहत रहेगी, वैसा ही अभी तक का ट्रेंड रहा है। प्रति दस हजार संक्रमितों पर केवल 4 लोगों की जान अभी तक कोरोना से गई है। लहर के 11 दिन में प्रदेश में अब तक 40,693 नए केस आए हैं। इनमें से 17 लोगों की जान गई है। इस तरह मृत्यु दर मात्र 0.04 फीसदी ही रही है। इससे साफ है कि कोरोना की तीसरी लहर का बड़ा कारण माने जाने वाला ओमिक्रॉन वेरिएंट संक्रमितों के लिए डेल्टा वेरिएंट की तरह जानलेवा साबित नहीं हो रहा है। हालांकि मरीजों के आने की रफ्तार से रिकवरी नहीं हो पा रही है जो चिंता का विषय है। प्रदेश में लहर की इस समयावधि में अब तक नए मरीजों के मुकाबले केवल 4312 ही मरीज रिकवर हुए हैं यानि रिकवरी रेट केवल 10.59 फीसदी ही है। इसके चलते एक्टिव केस जो तीन जनवरी को 2084 थे, वे 94.58 फीसदी बढ़कर 38448 हो गए हैं। इनमें सबसे ज्यादा एक्टिव केस जयपुर में 16919 हैं।

संक्रमण दर 3.70 थी, वह 374 फीसदी बढ़ गई
प्रदेश में लहर के पहले दिन 3.70 फीसदी संक्रमण दर थी, यानि कि हर सौं जांचों में 3-4 लोग संक्रमित निकल रहे थे, लेकिन यह बुधवार तक 374 फीसदी बढ़कर 13.86 फीसदी जा पहुंची है। अब हर सौ जांच में 13-14 लोग कोरोना पॉजिटिव निकल रहे हैं। तीसरी लहर का पीक आने तक इसके 40 फीसदी के करीब पहुंचने की आशंका एक्सपर्ट जता रहे हैं।

Read More 129वां राष्ट्रीय मेला दशहरा - 15वां तीन दिवसीय अखिल भारतीय चंबल केसरी कुश्ती दंगल 9 से

Post Comment

Comment List

Latest News