गैंगरेप के आरोपियों को गिरफ्तार करने के बजाए पुलिस ने करा दिया समझौता

एएसपी के पास पहुंची पीड़िता, मामला दर्ज करने के आदेश

गैंगरेप के आरोपियों को गिरफ्तार करने के बजाए पुलिस ने करा दिया समझौता

एएसपी के पास पहुंची पीड़िता, मामला दर्ज करने के आदेश

 उदयपुर। जिले के बेकरिया थाना क्षेत्र में भाई के साथ घर लौट रही 15 वर्षीय किशोरी से गैंगरेप का मामला सामने आया है। वारदात की सूचना पर मौके पर पहुंचे परिजनों व ग्रामीणों ने दो युवकों को पकड़ कर पुलिस के हवाले भी किया लेकिन पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार करने के बजाय पीड़ित पक्ष को धमका कर राजीनामा करा दिया। पीड़िता सोमवार को एसपी कार्यालय पहुंची, जहां उसने एएसपी (सिटी) को आपबीती सुनाई, तब जाकर उसकी रिपोर्ट दर्ज करने के आदेश हुए और उसका मेडिकल करवाया गया।

पीड़िता के पिता ने अधिवक्ता मंजू सोलंकी के साथ पहुंच एएसपी (सिटी) को सौंपे परिवाद में बताया कि उसकी पुत्री गत 11 फरवरी की रात करीब 11 बजे भाई के साथ भैरूजी के जागरण से घर लौट रही थी। सुखाआंबा पुल के पास गोविंद पुत्र पुष्कर भारती गोस्वामी, कमलेश पुत्र शिवभारती गोस्वामी, सुरेश पुत्र वालाराम गरासिया व अन्य तीन-चार लड़कों ने उसका हाथ पकड़ लिया। इन सभी ने जंगल में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। उसके भाई की सूचना पर मौके पर पहुंचे परिजनों और ग्रामीणों ने दो युवकों को पकड़ लिया। थानाधिकारी शंकरलाल राव दोनों युवक सौंप दिए।


थानाधिकारी पर धमकाने का आरोप: परिवाद में थानाधिकारी शंकरलाल पर आरोप लगाया कि उन्होंने मामले को समाज के स्तर पर देखने के लिए दबाव बनाया और 12 फरवरी को रिपोर्ट दर्ज करने के बहाने सुबह 10 से शाम 7 बजे तक थाने में बिठाए रखा। इस दौरान थानाधिकारी ने जबरन राजीनामा करवा दिया। इसके अनुसार चार लाख रुपए एक आरोपी के पिता पुष्कर भारती गोस्वामी द्वारा देना तय किया।

Read More जेईसीआरसी में प्लेसमेंट फिएस्टा, 24 कंपनियों ने 500 विद्यार्थियों को दिए प्लेसमेंट

पीड़िता कार्यालय में आई थी। उसने गैंगरेप होने की बात कही है। मेडिकल करवा दिया है। साथ ही संबंधित थाना पुलिस को आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश दे दिए है।
- अशोक मीणा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर

चल भी नहीं पा रही थी पीड़िता
पीड़िता की हालत काफी खराब है। सोमवार को जब पीड़िता एसपी कार्यालय पहुंची, तब वह ढंग से चल भी नहीं पा रही थी। एएसपी ने आपबीती सुनने के तुरंत बाद भूपालपुरा थाना पुलिस के जरिये उसका मेडिकल करवाया। साथ ही बेकरिया थाना पुलिस को निर्देश दिए कि वे मामले को दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करें।


Post Comment

Comment List

Latest News