प्रदेश में ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान

किसानों के चेहरे मुरझा गए

प्रदेश में ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान

पश्चिमी विक्षोभ के असर के बीच प्रदेश के कई जिलों में मौसम ने पलटा खाया और बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई। इससे फसलों को भारी नुकसान हुआ और किसानों के चेहरे मुरझा गए।

जयपुर। पश्चिमी विक्षोभ के असर के बीच प्रदेश के कई जिलों में मौसम ने पलटा खाया और बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई। इससे फसलों को भारी नुकसान हुआ और किसानों के चेहरे मुरझा गए। मौसम में बदलाव का असर राजसमंद, नागौर, चित्तौड़गढ़, पाली, अजमेर, टोंक समेत कई जिलों में देखने को मिला। राजसमंद के कुम्भलगढ़ में करीब 15 मिनट ओले गिरे। मैदान और सड़कों पर ओलों की चादर बिछ गई। इधर इन जिलों में किसानों की समस्याएं बढ़ गई है। अजमेर, राजसमंद, पाली समेत कई जगह रबी की तैयार फसलों को काफी नुकसान पहुंचने की आशंका है। क्योंकि मौजूदा समय में सरसों की फसल कटकर खेतों में पड़ी है तो वहीं गेंहू की फसल खेतों में पककर खड़ी है। वहीं राजधानी जयपुर में सर्दी का असर लगभग खत्म हो गया है और यहां गर्मी की शुरुआत हो गई है। जयपुर के कई इलाकों में देर रात बूंदाबांदी हुई। बीती रात न्यूनतम तापमान 18.2 डिग्री और मंगलवार को दिन का तापमान 31.2 डिग्री दर्ज किया गया।

मौसम विभाग ने अजमेर, अलवर, जयपुर, भीलवाड़ा, बांसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, झालावाड़, डूंगरपुर, प्रतापगढ़, राजसमंद और उदयपुर जिलों के लिए बुधवार को येलो अलर्ट जारी करते हुए यहां तेज आंधी चलने के साथ बारिश और ओले गिरने की आशंका जताई है।

Post Comment

Comment List

Latest News

जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम
सचिव शिव जालान ने बताया कि इसमें अनेक कलाकार गीतों, गजलें और नज्मों से स्व. जगजीत सिंह को स्वरांजलि अर्पित...
सतीश पूनियां ने सीएम को लिखा पत्र, आमेर विस क्षेत्र की मांगों को बजट में शामिल करने का किया आग्रह
केरल का इंटरनेशनल थियेटर फेस्टिवल 5 फरवरी से होगा शुरू
मोबाइल फोन के बेतहाशा इस्तेमाल से बढ़ा विजन सिंड्रोम का खतरा
तालिबान प्रशासन व्याख्याता मशाल को तत्काल रिहा करें: संयुक्त राष्ट्र
अडानी सीमेंट के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग
खान सुरक्षा अभियान में निदेशक खान का जोधपुर दौरा