भाजपा ने जिन 11 सीटों पर परिवार में टिकट दिया, उनमें 6 सीटों पर ही बढ़ा मतदान

भाजपा ने जिन 11 सीटों पर परिवार में टिकट दिया, उनमें 6 सीटों पर ही बढ़ा मतदान

राजस्थान में भाजपा ने कुल 11 सीटों पर भाजपा के पूर्व नेता, सांसद, पूर्व विधायक के बेटे, पोते, बहू, भतीजे और बेटियों को टिकट दिया।

जयपुर। राजस्थान में भाजपा ने कुल 11 सीटों पर भाजपा के पूर्व नेता, सांसद, पूर्व विधायक के बेटे, पोते, बहू, भतीजे और बेटियों को टिकट दिया। इन सीटों में से 6 सीटों पर मतदान पिछली बार के मुकाबले बढ़ा, लेकिन 5 सीटों पर कम हो गया। सादुलशहर में पूर्व विधायक गुरजंट सिंह के पोते गुरवरी सिंह को टिकट दिया, यहां 4.62 फीसदी वोटिंग कम हुई। जबकि धरियावद विधानसभा सीट पर पूर्व विधायक गौतमलाल मीणा के बेटे कन्हैया लाल मीणा को टिकट दिया, जहां सर्वाधिक 11.47 फीसदी मतदान में बढ़ोतरी हुई है। 

1. कोलायत : 0.56 फीसदी कम मतदान
अंशुमान सिंह भाटी को टिकट दिया, जो पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी के पोते हैं। इस बार यहां 78.24 फीसदी मतदान हुआ, जबकि पिछली बार 78.8 फीसदी मतदान था। 

2. महुआ : 2.3 फीसदी मतदान कम 
राजेन्द्र मीणा को टिकट दिया। वे सांसद व सवाई माधोपुर के प्रत्याशी किरोड़ी लाल मीणा के भतीजे हैं। इस बार 71.60 फीसदी मतदान हुआ, जबकि पिछली बार 73.9 फीसदी मतदान था। 

3.सादुलशहर : 4.62 फीसदी मतदान ज्यादा 
गुरवीर सिंह बराड़ को प्रत्याशी बनाया। वे पूर्व विधायक गुरजंट सिंह के पोते हैं। इस बार 81.72 फीसदी मतदान हुआ, जबकि पिदली बार 77.1 मतदान था। 

Read More सड़क पर वाहनों की अव्यवस्थित पार्किंग से बिगड़ी यातायात व्यवस्था

4. बहरोड़ : 0.25 फीसदी मतदान कम 
 जसंवत यादव को प्रत्याशी बनाया। वे पूर्व में मंत्री रहे। पिछली बार उनके बेटे मोहित यादव को टिकट दिया था। वे हार गए। इस बार फिर से जसवंत पर दांव खेला। इस बार 74.25 फीसदी मतदान हुआ, जबकि पिछली बार 74.5 फीसदी मतदान था। 

Read More वोट के बदले नोट मामले में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, सांसदों-विधायकों को नहीं मिलेगी केस की छूट

5. गुढ़ामलानी : 2.57 फीसदी मतदान कम 
केके विश्नोई को चेहरा बनाया। वे पूर्व नेता लादूराम विश्नोई के बेटे हैं। इस बार 80.83 फीसदी मतदान हुआ, जबकि पिछली बार 83.4 फीसदी मतदान था। 

Read More केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय में होगा रूपक महोत्सव

6. रामगढ़ : 1.47 फीसदी मतदान कम 
 पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा के भतीजे जय आहूजा को टिकट दिया। इस बार 77.43 फीसदी मतदान हुआ, जबकि पिछली बार 78.9 फीसदी मतदान था। 

7. मकराना : 2.2 फीसदी मतदान कम 
सुमिता भींचर को टिकट दिया। वे पूर्व विधायक श्रीराम भींचर की पुत्र वधू हैं। इस बार 75.50 फीसदी मतदान हुआ, जबकि पिछली बार 77.7 फीसदी मतदान था। 

8. धरियावद : 11.47 फीसदी मतदान ज्यादा 
कन्हैया लाल मीणा को प्रत्याशी बनाया। वे पूर्व विधायक गौतम लाल मीणा के बेटे हैं। इस बार 80.47 फीसदी मतदान हुआ, जबकि पिछली बार 69 फीसदी मतदान हुआ था। 

9. राजसमंद : 7.82 फीसदी मतदान ज्यादा 
दीप्ति माहेश्वरी को टिकट दिया। वे पूर्व दिवंगत विधायक किरण माहेश्वरी की बेटी हैं। उपचुनाव में भी उन्हें ही चेहरा बनाया था। इस बार 75.02 फीसदी मतदान हुआ, जबकि पिछली बार 67.2 फीसदी मतदान हुआ था। 

10. देवली-उनियारा : 2.47 फीसदी मतदान ज्यादा 
विजय बैंसला को टिकट दिया। वे टोंक-सवाई माधोपुर से भाजपा के लोकसभा प्रत्याशी रहे कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के बेटे हैं। इस बार 73.57 फीसदी मतदान हुआ, जबकि पिछली बार 71.1 फीसदी मतदान हुआ था। 

11. पचपदरा : 1.02 फीसदी मतदान ज्यादा 
अरुण चौधरी को टिकट दिया। यह भाजपा के पूर्व मंत्री अमराराम के बेटे हैं। इस बार 73.22 फीसदी मतदान हुआ, जबकि पिछली बार 72.2 फीसदी मतदान हुआ था।

Post Comment

Comment List

Latest News