क्लासिक विंटेज कारों की प्रदर्शनी शुरू 

इसके पार्ट्स यूएसए से लाए गए थे

क्लासिक विंटेज कारों की प्रदर्शनी शुरू 

क्लब के दयानिधी कासलीवाल ने बताया कि प्रदर्शनी में स्लूट कार ऐसी है, जिसे सही करने के लिए एक करोड़ रुपए का खर्च आया है।

जयपुर। राजपूताना ऑटोमोटिव स्पोर्ट्स कार क्लब की ओर से जय महल पैलेस में 25वीं विंटेज, क्लासिक कार प्रदर्शनी शुरू हुई। इस प्रदर्शनी में जयपुर, दिल्ली, गुरुग्राम, चंडीगढ़, मुंबई से आई 120 विंटेज कारों का शहरवासियों ने आनंद उठाया। ये कारें देश के बड़े बिजनेसमैन, फिल्म एक्टर और राजघरानों की हैं। ये सभी कारें 1913 से 1965 के बीच की हैं, जिन्हें इंग्लैंड और अमेरिका से भारत लाया गया था। इन कार की रैली निकाली जाएगी। इन कारों में गायत्री देवी की स्पेन से लाई गई मर्सडीज और बड़ौदा राजघराने की कारें भी शामिल हैं। क्लब के दयानिधी कासलीवाल ने बताया कि प्रदर्शनी में स्लूट कार ऐसी है, जिसे सही करने के लिए एक करोड़ रुपए का खर्च आया है। इसके पार्ट्स यूएसए से लाए गए थे।

  • प्रदर्शनी में कई विंटेज और क्लासिक कारें ऐसी है, जो फिल्मों में इस्तेमाल हुई थीं। एक कार 1930 की बड़ौदा राजघराने की रोल्स रॉयस थी, जिसके मालिक दिल्ली के आशीष जैन है। उन्होंने बताया कि ये कार एक्टर अशोक कुमार की फिल्म शतरंज में इस्तेमाल हुई थी। इसके पार्ट इंग्लैंड से मंगवाए गए थे।  
  •  यूएसए की हडसन सुपर सिक्स कार ऐसी थी, जिसका उपयोग अक्षय कुमार स्टारर मूवी भुलभुलैया की जयपुर में हुई शूटिंग के दौरान किया गया था। ये कार सुधीर कासलीवाल ने अयोध्या के महाराजा से खरीदा है। इसके अलावा भी ये कई फिल्मों में इस्तेमाल हुई है।
  •  प्रदर्शनी में स्पोर्ट्स कार आॅस्टिन हैली के पार्ट्स बहुत कम मिलते हैं। ये कार जयपुर के बिजनेसमैन मीत बढालिया की है। मीत ने ये कार मैसूर से खरीदी है। इस कार के पार्ट्स विदेश में मिलने की वजह से इसके रख रखाव पर ज्यादा खर्च होता है। 
  • 1934 की यूएसए में बनीं फोर्ड बी कार ने जयपुर के विक्रम राठौड़ ने कर्नाटक से खरीदा है। इस कार का पिछले दो साल से पार्ट्स का लगने का काम चल रहा था। कार के पार्ट्स यूएसए से लाए गए है। इसमें डायमंड का उपयोग भी किया गया है।  

Post Comment

Comment List

Latest News