ईआरसीपी समझौते पर पीठ थपथपा रही सरकार, हकीकत कुछ और है: डोटासरा

यह केवल भ्रमित करने वाली सरकार

ईआरसीपी समझौते पर पीठ थपथपा रही सरकार, हकीकत कुछ और है: डोटासरा

पीसीसी मुख्यालय में गुरुवार को मीडिया से बात करते हुए डोटासरा ने समझौते को सार्वजनिक नहीं करने पर सरकार की मंशा पर सवाल उठाए हैं।

जयपुर। ईआरसीपी समझौते पर पीसीसी चीफ गोविन्द डोटासरा ने एक बार फिर भजनलाल सरकार को घेरा है। पीसीसी मुख्यालय में गुरुवार को मीडिया से बात करते हुए डोटासरा ने समझौते को सार्वजनिक नहीं करने पर सरकार की मंशा पर सवाल उठाए हैं।

हरियाणा और राजस्थान के बीच यमुना जल समझौते पर सवाल उठाते हुए डोटासरा ने कहा कि पहले ईआरसीपी के समझौते की बात राजस्थान सरकार ने की, फिर यमुना जल समझौते को लेकर अपने पीठ थपथपाई। राजस्थान की भाजपा सरकार एमओयू के बाद आभार यात्राएं निकाल रही है, लेकिन इसकी हकीकत कुछ और ही है। यमुना के पानी की बात जो यह लोग करते हैं, इसकी शुरुआत 1994 से हुई थी। राजस्थान की सरकार ने हरियाणा के सामने सरेंडर किया है। हरियाणा के सीएम एमएल खट्टर ने भी कहा है कि बरसात में जो अतिरिक्त पानी आयेगा, उसमें से राजस्थान को पानी दिया जाएगा। उस अतिरिक्त पानी में से भी 25 फीसदी पानी हरियाणा लेगा। हम इसे पची सरकार कहते हैं, कुछ लोग इसे भजन सरकार कहते हैं। पहले भजन सरकार, फिर भ्रमण सरकार बन गई, सीएम जयपुर में तो रुकते ही नहीं हैं। भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी की सभी आभार यात्राएं फैल साबित हुई हैं। यह केवल भ्रमित करने वाली सरकार है। यह केवल भ्रमण करने वाली सरकार और राजस्थान के हितों पर कुठाराघात करने वाली सरकार है। शिक्षा मंत्री मदन दिलावर पर हमला बोलते हुए डोटासरा ने कहा कि शिक्षा मंत्री शिक्षा से जुड़े मसलों के अलावा सभी बात कर रहे हैं। वे धार्मिक ध्रुवीकरण कर रहे हैं। इस दौरान कांग्रेस विधायक सुरेश मोदी ने भी ईआरसीपी पर भजनलाल सरकार को घेरते हुए अपनी बात रखी।

Post Comment

Comment List

Latest News