दुनिया को करीब से देखने के लिए एडवर्ड ने साइकिल से तय किया 11 हजार किलोमीटर का सफर

दुनिया का भ्रमण साइकिल से करेंगे

दुनिया को करीब से देखने के लिए एडवर्ड ने साइकिल से तय किया 11 हजार किलोमीटर का सफर

वहीं 11000 किमी का सफर तय कर जयपुर स्थित खजाना म्यूजियम पहुंचने पर एडवर्ड और सोफी ने रत्नों और ज्वैलरी का बारीकी से अध्ययन किया। 

जयपुर। अब के युवाओं के सपने अलग होते हैं। किसी भी तरह का चैलेंज लेने को तैयार हो जाते हैं। ऐसा ही निश्चय किया जर्मनी के दो दोस्त एडवर्ड और सोफी ने। उन्होंने तय किया कि वे आधी दुनिया का भ्रमण साइकिल से करेंगे और दुनिया को करीब से देखेंगे। इस सफर में जो भी चैलेंज सामने आएंगे, उसका भी सामना किया जाएगा। दोनों ने कहा कि इस सफर के माध्यम से एक दूसरे को करीब से समझने का मौका मिलेगा। एडवर्ड ने कहा कि वे जयपुर पहुंचने से पहले ऑस्ट्रिया, हंगरी, क्रोएशिया, बोस्निया, अल्बानिया, ग्रीस, तुर्की, जॉर्जिया, आर्मेनिया, ईरान, पाकिस्तान सहित अन्य देशों की गालियों में साइकलिंग कर चुके हैं। वहीं 11000 किमी का सफर तय कर जयपुर स्थित खजाना म्यूजियम पहुंचने पर एडवर्ड और सोफी ने रत्नों और ज्वैलरी का बारीकी से अध्ययन किया। 

खजाना महल के फाउंडर डायरेक्टर अनूप श्रीवास्तव ने बताया कि एडवर्ड और सोफी ने म्यूजियम में लगभग पूरा दिन बिताया। भारतीय परंपराओं में 16 श्रृंगार के हिसाब से विभिन्न तरह की ज्वैलरी देख सोफी अचंभित हो गई। एडवर्ड और सोफी ने कहा कि भारत में सफर के दौरान किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा। यहां हर जगह स्वागत सत्कार हुआ। हिंदुस्तान से हमें प्यार होने लगा है। शादी के बाद पुन: भारत भ्रमण पर जरूर आएंगे। अनूप ने बताया कि देसी पर्यटकों के साथ-साथ म्यूजियम विदेशी पर्यटकों की भी पसंद बनता जा रहा है। 

 

Read More 2019 के बाद लोकसभा चुनाव में 10 बड़े नवाचार, जो हर मतदाता को जानना जरूरी

 

Read More 2019 के बाद लोकसभा चुनाव में 10 बड़े नवाचार, जो हर मतदाता को जानना जरूरी

Tags: bicycle

Post Comment

Comment List

Latest News