भाजपा के संकल्प पत्र पर गहलोत का निशाना- मंहगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर बात नहीं करती भाजपा

भाजपा के संकल्प पत्र पर गहलोत का निशाना- मंहगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर बात नहीं करती भाजपा

पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाजपा के घोषणा पत्र में जारी 'संकल्प पत्र' पर निशाना साधते हुए कहा है कि इसमें महंगाई और बेरोजगारी जैसे ज्वलंत मुद्दों पर वो बात नहीं कर रहे हैं।

जयपुर। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाजपा के घोषणा पत्र में जारी 'संकल्प पत्र' पर निशाना साधते हुए कहा है कि इसमें महंगाई और बेरोजगारी जैसे ज्वलंत मुद्दों पर वो बात नहीं कर रहे हैं।

मीडिया से बात करते हुए गहलोत ने कहा कि भाजपा वाले राम मंदिर, धारा 370 और जिनकी वे बात कर रहे हैं। ये मुद्दे नहीं बल्कि उनकी सरकार के फैसले हैं। आज देश मे ज्वलंत मुद्दा बेरोजगारी और महंगाई का बड़ा मुद्दा है। उस पर कोई बात नहीं कर रहा है। प्रदेश की सभी 25 लोकसभा सीटों पर भाजपा लगातार दो बार चुनाव जीती है, लेकिन इस बार माहौल वैसा नहीं है। अब माहौल कांग्रेस के पक्ष में है। देशभर में कांग्रेस के पक्ष में माहौल लगातार बन रहा है। कितनी सीट कांग्रेस के खाते में आएगी,इस पर तो नहीं कह सकते, लेकिन परिणाम चौंकाने वाले होंगे।

गहलोत ने कहा कि जो पार्टी सत्ता में होती है, उसकी पहली ड्यूटी यह होती है कि जो बर्निंग समस्याएं हैं, उनके बारे में विचार किया जाए। बेरोजगारी के लिए क्या प्लान है, उस पर कोई चर्चा नहीं है। महंगाई बहुत भयंकर है, उसकी चर्चा किसी भी बहस में नहीं हो रही है। बेरोजगारी और महंगाई पर राहुल गांधी बोलते हैं। कांग्रेस के नेता बोलते हैं या फिर इंडिया गठबंधन के नेता इन मुद्दों पर बात करते हैं। राहुल गांधी की 'भारत जोड़ो यात्रा' और 'भारत जोड़ो न्याय यात्रा' के दौरान जो फीडबैक मिला है। उसके आधार पर हमने अपना चुनावी घोषणा पत्र 'न्याय पत्र' जारी किया है। जिसमें पांच न्याय और 25 गारंटी दी है। मोदी के मिशन-2047 पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वे 2047 की बात करते हैं, उनमें कोई दम नहीं है।

Post Comment

Comment List

Latest News