आरयू-शुक्ला विश्वविद्यालय के बीच होगा शोध

रजिस्ट्रार अवधेश सिंह ने हस्ताक्षर किए

आरयू-शुक्ला विश्वविद्यालय के बीच होगा शोध

दोनों विश्वविद्यालयों के बीच हुई इस सहमति के आधार पर दोनों विश्वविद्यालय अपने सांझा हितों को दृष्टिगत रखते हुए पी.जी. डिप्लोमा के साथ ही अन्य शैक्षणिक कार्यक्रमों में जॉइंट डिग्री प्रोग्राम प्रारम्भ करने की संभावनाओं की दिशा में भी कार्य करेंगे।

जयपुर। राजस्थान विश्वविद्यालय एवं छत्तीसगढ़ में रायपुर स्थित पं. रविशंकर शुक्ला विश्वविद्यालय के बीच में अब शोध कार्य होगा। इसको लेकर दोनों विश्वविद्यालयों के बीच शोध कार्यक्रमों एवं शैक्षणिक आदान-प्रदान के साथ दोनों उच्च शिक्षण संस्थानों में उपलब्ध संसाधनों के पारस्परिक सहयोग के आधार पर उपयोग करने की दिशा में एक औपचारिक सहमति को मूर्त रूप दिया गया। राजस्थान विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. अल्पना कटेजा एवं पं. रविशंकर शुक्ला विवि के कुलपति प्रो. एस.एन शुक्ला की उपस्थिति में आरयू की ओर से इस एमओयू पर विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार अवधेश सिंह ने हस्ताक्षर किए। 

यह कार्य होंगे : इस सहमति के आधार पर दोनों विश्वविद्यालय अपने शैक्षणिक कार्यक्रमों, पाठ्यक्रमों की गुणवत्ता के विकास को लेकर अपनी विशेषज्ञता एवं उपलब्ध संसाधनों का भी पारस्परिक रूप में उपयोग कर सकेंगे। साथ ही दोनों संस्थान अपने छात्रों के लिए आॅनलाइन समर रिसर्च इर्न्टनशिप को प्रोत्साहित करने का भी कार्य करेंगे। रिसर्च आधारित स्टार्ट अप एवं इण्डस्ट्री प्रोजेक्ट प्रारंभ करने की दिशा में आवश्यक परामर्श के साथ ही इन्क्यूबेशन सेन्टर स्थापित करना भी इस एमओयू का अहम हिस्सा है। जॉइंट डिग्री प्रोग्राम प्रारम्भ करने की संभावना : फैकल्टी के साथ ही स्टूडेंट एक्सचेंज, संयुक्त सेमिनार व कार्यशालाएं, अल्पकालीन शैक्षणिक कार्यक्रम, टेक्नोलॉजी ट्रांसफर जैसे मुख्य आयामों को भी आज हुई इस एमओयू में शामिल किया गया है। दोनों विश्वविद्यालयों के बीच हुई इस सहमति के आधार पर दोनों विश्वविद्यालय अपने सांझा हितों को दृष्टिगत रखते हुए पी.जी. डिप्लोमा के साथ ही अन्य शैक्षणिक कार्यक्रमों में जॉइंट डिग्री प्रोग्राम प्रारम्भ करने की संभावनाओं की दिशा में भी कार्य करेंगे।

 

Post Comment

Comment List

Latest News