एक तरफ प्यासे कंठ, दूसरी तरफ अमृत की बर्बादी

कोटड़ी में फूटी पाइप लाइन, हजारों लीटर व्यर्थ बहा पानी, कई इलाके प्रभावित, जलमग्न हुआ बल्लभबाड़ी क्षेत्र

एक तरफ प्यासे कंठ, दूसरी तरफ अमृत की बर्बादी

गर्मी के मौसम में एक और जहां लोगों को पीने का पर्याप्त पानी तक नहीं मिल पा रहा है। उनके कंठ सूख रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ हालत यह है कि पाइप लाइनें फूटने से अमृत रूपी हजारों लीटर पानी व्यर्थ सड़कों पर बह रहा है।

कोटा । गर्मी के मौसम में एक और जहां लोगों को पीने का पर्याप्त पानी तक नहीं मिल पा रहा है। उनके  कंठ सूख रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ हालत यह है कि पाइप लाइनें फूटने से अमृत रूपी हजारों लीटर पानी व्यर्थ सड़कों पर बह रहा है।

कोटड़ी चौराहे पर चल रहे ग्रेड सेपरेटर के काम के दौरान एक बार फिर से शाम के समय अचानक से जलदाय विभाग की पाइप लाइन फूट गई। जिससे उसमें से हजारों लीटर पानी व्यर्थ बह गया। पानी भी इतना अधिक बहा कि वह पूरे बल्लभबाड़ी क्षेत्र में पहुंच गया। सड़कों व मोहल्ले में पानी ही पानी हो गया। ऐसे में उस क्षेत्र से जो भी दो पहिया व चार पहिया वाहन निकले वे सभी पानी से होकर निकले। पानी की हलात को देखकर ऐसा लग रहा था मानो बरसात हुई हो। वहां से गुजरे वाहन चालक इतना अधिक पानी देखकर अचंभित हो गए। उन्हें लगा कि इस क्षेत्र में बरसात हुई होगी।

इतना ही नहीं पाइप लाइन फूटने से उस क्षेत्र कीे आधा दर्जन से अधिक कॉलोनियों में पानी की सप्लाई बाधित हुई। जलदाय विभाग द्वारा देर रात को पाइप लाइन ठीक करने का काम शुरु  किया गया। जिससे लोगों को पानी नहीं मिल सका। वहीं बुधवार को भी कम दबाव से ही पानी मिलने की संभावना है।

जलदाय विभाग के अधिशासी अभियंता भारत भूषण मिगलानी ने बताया कि ग्रेड सेपरेटर का निर्माण कर रही कम्पनी द्वारा पाइप लाइन तोड़ी गई है। जिससे रात को 12 बजे बाद उसे ठीक करने का काम किया गया। इस कारण से बुधवार को सुबह कोटड़ी, बल्लभबाड़ी, वल्लभ नगर, बजरंग नगर क्षेत्र, न्यू कॉलोनी गुमानपुरा,आकाशवाणी, छावनी क्षेत्र की जलापूर्ति बाधित रहेगी। मिगलानी ने बताया कि इधर नया नोहरा में गैस पाइप लाइन डालने वाली एजेंसी द्वारा जलदाय विभाग की 8 इंची पाइप लाइन शाम 6 बजे तोड़ दी गई। इस कारण उसे बुधवार को सुबह ठीक किया जाएगा  जिसमें  समय लगेगा। जिससे बुधवार को मानपुरा व नयानोहरा की  सप्लाई बाधित होगी।

गौरतलब है कि शहर में चल रहे विकास कार्यों के कारण कभी सीवरेज लाइन डालने से, कभी न्यास के कामों की खुदाई करने से और कभी गैस लाइन डालने के दौरान आए दिन किसी न किसी क्षेत्र की पाइप लाइन फूट रही है। जिससे पानी की बर्बादी तो हो ही रही है। साथ ही लोगों को पीने का पानी तक नहीं मिल रहा है। पाइप लाइन ठीेक होने में समय लगने व नए सिरे से लाइन में पानी आने में समय लगने पर लोगों को कम दबाव से पानी मिल रहा है। जिससे उनका काम ही नहीं चल रहा । वहीं 80 फीट रोड स्थित जयहिंद नगर में भी पिछले दो दिन से पानी नहीं आ रहा है। स्थानीय लोगों ने बताया कि गर्मी के मौसम में दो-दो दिन तक शहर की कॉलोनियों में पानी नहीं मिल रहा है। जिससे पीने के पानी तक की समस्या हो रही है। लोगों को कैम्पर खरीदकर काम चलाना पड़ रहा है।

हालांकि नगर विकास न्यास के अधिकारियों का कहना है कि न्यास द्वारा अंडरपास व फ्लाई ओवर के काम करवाए गए हैं। ऐसे में वहां सड़क के बीच से गुजर रही पाइप लाइनों को साइड में शिफ्ट किया जा रहा है। कोटड़ी में ग्रेड सेपरेटर का काम करने वाली एजेंसी ही इस काम को करेगी।

Post Comment

Comment List

Latest News