एयरपोर्ट परिसर में लगी लापरवाही की आग , सूखी घास की आग आसपास के इलाकों तक फैली

- 3 घंटे से अधिक समय में 15 फायर बिग्रेड से पाया आग पर काबू

एयरपोर्ट परिसर में लगी लापरवाही की आग , सूखी घास की आग आसपास के इलाकों तक फैली

झालावाड़ रोड स्थित एयरपोर्ट परिसर में शनिवार को दोपहर बाद अचानक आग लग गई । हवा से आग आसपास के इलाकों में काफी दूर तक फैल गई। जिसे काबू करने में फायर बिग्रेड की 15 दमकलों को 3 घंटे से भी अधिक का समय लगा ।

 कोटा। झालावाड़ रोड स्थित एयरपोर्ट परिसर में शनिवार को दोपहर बाद अचानक आग लग गई । हवा से आग आसपास के इलाकों में काफी दूर तक फैल गई। जिसे काबू  करने में फायर बिग्रेड की 15 दमकलों को 3 घंटे से भी अधिक का समय लगा ।

हवाई अड्डा परिसर में मौसम विज्ञान केंद्र के पीछे की तरफ अचानक से दोपहर 1:30 बजे सूखी घास में आग लग गई । आग लगने और धुआं उठने पर जैसे ही एयरपोर्ट प्रबंधन को इसकी सूचना मिली उन्होंने तुरंत कंट्रोल रूम और अग्निशमन विभाग को सूचना दी । सूचना मिलते ही सब्जी मंडी स्थित अग्निशमन केंद्र और श्रीनाथपुरम स्थित अग्निशमन केंद्र से दमकल पहुंचना शुरू हो गई थी। दमकल पर मौजूद कर्मचारियों ने आग बुझाना शुरू किया लेकिन हवा के कारण आग बढ़ती जा रही थी और कंट्रोल नहीं हो पा रही थी । इसके बाद मुख्य अग्निशमन अधिकारी दीपक राजौरा, सहायक अग्निशमन अधिकारी देवेंद्र गौतम व अमजद खान समेत अन्य अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और एक के बाद एक कई दमकल सायरन मारती हुई एयरपोर्ट परिसर में पहुंची । एयरपोर्ट परिसर की चारदीवारी के चारों तरफ से आग को कंट्रोल करने के लिए फायरमैन मुस्तैद हो गए और लगातार कार्यवाही करते रहे। लेकिन आग घोड़ा बस्ती, जवाहर नगर ,किशोरपुरा समेत आसपास के कई रिहायशी इलाकों की तरफ बढ़ने लगी।  इसे देखते हुए डीसीएम और थर्मल समेत कई अन्य जगहों से भी दमकलों को मौके पर बुलाया गया । शाम करीब 4:30 बजे तक आग पर काबू  पाने के प्रयास लगातार जारी थे।

 मुख्य अग्निशमन अधिकारी दीपक राजौरा ने बताया कि एयरपोर्ट परिसर में काफी बड़ी और सूखी घास उगी हुई है। जिसे कटवाने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में हुई बैठक में भी एयरपोर्ट प्रबंधन को कई बार कहा जा चुका है। लेकिन इसके बावजूद उनके द्वारा घास को नहीं कटवाया जा रहा है। जिसकी वजह से हर बार आग लगती है । उन्होंने बताया कि मार्च और अप्रैल के 2 महीने में ही करीब 10 बार यहां पर आग लगने की घटनाएं हो चुकी हैं । अभी तक आग लगने की छोटी-छोटी घटनाएं थी जिन्हें तुरंत काबू पा लिया गया था । लेकिन शनिवार को आग काफी ज्यादा क्षेत्र में फैल गई थी जिसे कंट्रोल करने में काफी अधिक मशक्कत करनी पड़ी। एयरपोर्ट अधिकारी नरेंद्र मीणा और एडीएम सिटी महेंद्र लोढ़ा भी मौके पर मौजूद रहे और आग बुझाने की व्यवस्थाओं का जायजा लेते रहे। गौरतलब है कि हवाई अड्डा परिसर के चारों तरफ घनी बस्ती और पेट्रोल पंप भी है । यदि आग कंट्रोल नहीं हो पाती और इसी तरह से आग की चिंगारी उड़कर आसपास जाती तो पेट्रोल पंप अन्य स्थानों पर काफी नुकसान हो सकता था । मुख्य अग्निशमन अधिकारी ने बताया कि एयरपोर्ट प्रबंधन की लापरवाही की वजह से बार-बार आग लग रही है लेकिन उनके द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है जिससे कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है।

Post Comment

Comment List

Latest News