Antibodies
स्वास्थ्य

ज्यादा एंटीबॉडीज होना हमेशा बेहतर नहीं, हो सकती है मल्टीपल मायलोमा की समस्या

ज्यादा एंटीबॉडीज होना हमेशा बेहतर नहीं, हो सकती है मल्टीपल मायलोमा की समस्या मल्टीपल मायलोमा एक तरह का ब्लड कैंसर है, जो बोन मैरो से शुरू होकर रक्त से शरीर में फैल जाता है। इस लाइलाज बीमारी में रक्त में प्लाज्मा सेल्स द्वारा बनाई जाने वाली एंटीबॉडीज बढ़ जाती है। अधिक मात्रा में इन एब्नार्मल एंटीबॉडीज के बढ़ने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है।
Read More...
भारत

पहली डोज के बाद कोवैक्‍सीन के मुकाबले कोविशील्‍ड बना रही ज्यादा एंटीबॉडी, टीके पर शोध में खुलासा

पहली डोज के बाद कोवैक्‍सीन के मुकाबले कोविशील्‍ड बना रही ज्यादा एंटीबॉडी, टीके पर शोध में खुलासा शरीर में कोरोना के खिलाफ एंटी बॉडीज के निर्माण में कोवैक्सीन के मुकाबले कोवीशील्‍ड ज्‍यादा असरदार है। एक ताजा स्‍टडी में इस बात का खुलासा हुआ है कि कोविशील्‍ड इंसानी शरीर में कोवैक्‍सीन से अधिक एंटी बॉडीज का निर्माण करती है। ये ताजा स्‍टडी कोरोना वायरस वैक्सीन-इंड्यूस्‍ड एंटीबॉडी टाइट्रे (कोवेट) ने की है।
Read More...

Advertisement

Advertisement