देश में औसतन हर 10 में से 4 लोगों के पास स्वास्थ्य बीमा है परन्तु राजस्थान में हर 10 में से 9 लोगों के पास स्वास्थ्य बीमा: गहलोत

10 लाख रुपये के स्वास्थ्य बीमा की सुविधा उपलब्ध है

देश में औसतन हर 10 में से 4 लोगों के पास स्वास्थ्य बीमा है परन्तु राजस्थान में हर 10 में से 9 लोगों के पास स्वास्थ्य बीमा: गहलोत

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि प्रदेश की लगभग 90 प्रतिशत आबादी के पास स्वास्थ्य बीमा है। देश में औसतन हर 10 में से 4 लोगों के पास स्वास्थ्य बीमा है, लेकिन राजस्थान में हर 10 में से 9 लोगों के पास स्वास्थ्य बीमा है।

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि प्रदेश की लगभग 90 प्रतिशत आबादी के पास स्वास्थ्य बीमा है। देश में औसतन हर 10 में से 4 लोगों के पास स्वास्थ्य बीमा है, लेकिन राजस्थान में हर 10 में से 9 लोगों के पास स्वास्थ्य बीमा है। यह चिरंजीवी योजना की सफलता का परिणाम है। गहलोत ने कहा कि राजस्थान के सभी नागरिकों के लिए चिरंजीवी योजना में 10 लाख रुपये के स्वास्थ्य बीमा की सुविधा उपलब्ध है। चिरंजीवी योजना एवं आरजीएसएस से जुड़े हुए परिवार अब महंगे इलाज की चिंता से मुक्त हो चुके हैं। हम प्रदेश के प्रत्येक नागरिक को निशुल्क इलाज उपलब्ध करवाने के लिए प्रयासरत हैं। गहलोत ने प्रधानमंत्री से आग्रह करते हुए कहा कि आयुष्मान भारत योजना को सामाजिक, आर्थिक, जातिगत जनगणना  के पात्र परिवारों के साथ राजस्थान की चिरंजीवी योजना की तर्ज पर देश के हर नागरिक के लिए लागू करे, जिससे हर परिवार को 10 लाख रुपये के बीमा का लाभ मिल सके।

देश में क्या स्थिति
देश में हर पांच में से 2 लोग स्वास्थ्य बीमा के अंतर्गत आते है। उनमें से 46 प्रतिशत लोग राज्य हेल्थ इंश्योरेंस और तकरीबन 16 प्रतिशत राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना (आरएसबीवाई) के अंतर्गत कवर है और 3-6 प्रतिशत महिलाएं और 4-7 प्रतिशत पुरुष ईएसआईएस और केंद्र सरकार की हेल्थ स्कीम से जुड़े है, लेकिन राज्य स्तर पर स्वास्थ्य बीमा से जुड़ी आबादी के बीच काफी अंतर है। देश का राजस्थान अकेला ऐसा राज्य है, जहां हर 10 में से करीब 9 लोग यानि 88 प्रतिशत के पास स्वास्थ्य बीमा है या किसी न किसी स्वास्थ्य योजना से जुड़े है, लेकिन अंडमान निकोबार आइलैंड और जम्मू कश्मीर में 15  प्रतिशत से भी कम लोगों के पास स्वास्थ्य बीमा है।

Post Comment

Comment List

Latest News