आरोपी रियाज एक साल पहले भी लोगों को भड़काने व उकसाने का काम कर चुका, उदयपुर और भीलवाड़ा के साथ आसपास के कई क्षेत्रों में दंगाइयों का नेटवर्क तैयार किया

दाढ़ी पर हाथ लगा तो पुलिसवाले का पुतला फूंका, प्रदर्शन के लिए उकसाया

आरोपी रियाज एक साल पहले भी लोगों को भड़काने व उकसाने का काम कर चुका,  उदयपुर और भीलवाड़ा के साथ आसपास के कई क्षेत्रों में दंगाइयों का नेटवर्क तैयार किया

उदयपुर। शहर में दुकान में घुसकर व्यापारी की गला रेतकर हत्या करने के मामले में पकड़ा गया आरोपी रियाज एक साल पहले भी लोगों को भड़काने व उकसाने का काम कर चुका है। उसने पुलिस के खिलाफ लोगों को भड़काया था और एक एएसआई का पुतला भी फूंका था। 11 भाई-बहनों में सबसे छोटा रियाज 20 वर्ष पूर्व ही भीलवाड़ा के आसींद से उदयपुर आ गया था और यहां छोटा-मोटा धंधा कर परिवार का पेट पाल रहा था।

 उदयपुर। शहर में दुकान में घुसकर व्यापारी की गला रेतकर हत्या करने के मामले में पकड़ा गया आरोपी रियाज एक साल पहले भी लोगों को भड़काने व उकसाने का काम कर चुका है। उसने पुलिस के खिलाफ लोगों को भड़काया था और एक एएसआई का पुतला भी फूंका था। 11 भाई-बहनों में सबसे छोटा रियाज 20 वर्ष पूर्व ही भीलवाड़ा के आसींद से उदयपुर आ गया था और यहां छोटा-मोटा धंधा कर परिवार का पेट पाल रहा था। दोनों आरोपियों के बैकग्राउंड को लेकर रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं। इन्होंने उदयपुर और भीलवाड़ा के साथ आसपास के कई क्षेत्रों में दंगाइयों का नेटवर्क तैयार किया। इनमें से रियाज जब्बार उर्फ मोहम्मद रियाज अत्तारी ने करीब एक वर्ष पूर्व उदयपुर शहर में लोगों को उकसाने की कोशिश की थी। बताया जा रहा है कि यहां लोगों में मामूली कहासुनी हो गई थी। पुलिस जब मामले को शांत कराने पहुंची तो जब्बार एएसआई से उलझ गया। एएसआई ने जब जब्बार को पकड़ने की कोशिश की तो उसकी दाढ़ी पर हाथ लग गया। इस घटना के बाद जब्बार ने मौके पर काफी लोगों को जमा कर लिया और प्रदर्शन किया। उसने माहौल बिगाड़ने के प्रयास में एएसआई का पुतला भी फूंका।

2002 में की शादी, दो बच्चों का पिता
रियाज के भतीजे युनूस ने दैनिक नवज्योति से बातचीत में बताया कि रियाज के 10 भाई और एक बहन है। बहन अजमेर में रहती है, जबकि अन्य भाइयों में सात अभी जीवित हैं। युनूस का कहना है कि उसके चाचा रियाज ने वर्ष 2002 में निकाह किया था। निकाह के दो-तीन माह बाद ही वह बेगम को लेकर उदयपुर चला गया। पेशे से मोटर रिपेयर और कबाड़ी का काम करने वाले रियाज के एक लड़का व एक लड़की है। परिजनों को भी यह नहीं पता था कि वह उदयपुर में कहां और क्या करता है। रियाज जब्बार ने कब माहौल बिगाड़ने वाला बड़ा नेटवर्क तैयार कर लिया, किसी को नहीं पता। तीन वर्ष पूर्व बड़े पापा (ताऊ) के लड़के की शादी की दावत में शामिल होने वह अंतिम बार अपने गांव आसींद आया था। तब वह खाना खाकर वापस चला गया। इसके बाद उससे कोई संपर्क में नहीं है। मुझे रात को ही पता चला कि उसने बड़ा कांड कर दिया है। उसने गलत काम किया है। जब तक वह हमारे साथ था, तब तक ऐसा नहीं था। उदयपुर में किसके साथ संपर्क में आया, कैसे बदला नहीं पता।

प्रोपर्टी का काम करता है गौस
हत्याकांड में शामिल दूसरा आरोपी गौस मोहम्मद उदयपुर का रहने वाला है। वह खांजीपीर में किराया का मकान लेकर रहता है। गौस उदयपुर में ही वेल्डिंग का काम करता है। इसके साथ प्रॉपर्टी डीलर के साथ छोटा-मोटा काम करता था। वह पिछले लंबे समय से हर काम में रियाज के साथ रहता था।

Post Comment

Comment List

Latest News