कोटा दक्षिण वार्ड 11 : चैम्बर डालने के लिए खोदी सड़क, बच्चे हो रहे चोटिल

वार्ड 11 के बाशिंदे मूलभूत सुविधाओं को तरसे : उखड़ी सड़कें, बेतरतीब निर्माण कार्य से बढ़ रहा लोगों का दर्द, पाइप लाइन टूटने से व्यर्थ बह रहा पानी, नलों में प्रेशर हुआ डाउन

  कोटा दक्षिण वार्ड 11 : चैम्बर डालने के लिए खोदी सड़क, बच्चे हो रहे चोटिल

आरयूआईडीपी द्वारा डाली जा रही सीवरेज पाइप लाइन कार्य ने कॉलोनियों की सूरत बिगाड़ रख दी। अच्छी भली सड़कों को पूरी तरह से उधेड़ रख दिया। जगह-जगह गहरे गड्ढे और उनमें भरा बरसाती पानी स्थानीय बाशिंदों को गहरे जख्म दे रही है।

कोटा। आरयूआईडीपी द्वारा डाली जा रही सीवरेज पाइप लाइन कार्य ने कॉलोनियों की सूरत बिगाड़ रख दी। अच्छी भली सड़कों को पूरी तरह से उधेड़ रख दिया। जगह-जगह गहरे गड्ढे और उनमें भरा बरसाती पानी स्थानीय बाशिंदों को गहरे जख्म दे रही है। बरसात के पानी की निकासी नहीं होने से कीचड़ व गंदगी की समस्या हो गई। वहीं, जलभराव होने से मच्छरजनित बीमारियों का खतरा बढ़ गया। बच्चों को घर से स्कूल पहुंचाना व वापस घर लाना काफी जोखिमभरा रहता है। कोटा उत्तर नगर निगम के वार्ड 11 के हालातों से दुखी बाशिंदोें ने कुछ इस तरह पीड़ा बयां की।

बिजली कटौती से व्यवसाय हो रहा चौपट
बोरखेड़ा के वार्ड 11 में बिजली की अघोषित कटौती जी का जंजाल बनी हुई है। यहां बिजली आने-जाने का कोई समय निर्धारित नहीं है। दिनभर में 5 से 6 बार बिजली जाती है। ट्रांसफार्मर पर लोड सेटिंग बराबर नहीं है। घंटों तक बिजली गुल रहती है। केडीएल के टोल फ्री नम्बर पर सुनवाई नहीं होती। बिजली के तार झूल रहे हैं। बड़े वाहनों के आवागमन के दौरान तार उलझकर टूट जाते हैं। केईडीएल के आॅफिस में जाकर भी समस्या बताई लेकिन व्यवस्थाओं में सुधार नहीं हुआ।
- अजय कुश्वाह, बोरखेड़ा निवासी

सीवरेज लाइन के लिए तोड़ी पेयजल लाइन
कुछ दिनों पहले खूंट वाली गली में सीवरेज लाइन डालने के लिए सड़क की खुदाई की थी। इस दौरान पानी की पाइप लाइन भी फूट गई, जिससे हजारों लीटर पानी व्यर्थ बह गया। साथ ही प्रेशर डाउन होने से घरों में पानी नहीं आ रहा। हालात यह हो गए, एक बाल्टी भरने में भी 15 मिनट से ज्यादा समय लग रहा है। ठेकेदार को पाइप लाइन दुरुस्त करवाने को बोला था लेकिन अनसुना कर दिया। सुबह-शाम जरूरत के मुताबिक पानी एकत्रित करना चुनौती बन गया।
- संतोष बाई, वार्ड 11 निवासी

बस स्टैंड वाली गली में सीवरेज लाइन व चेम्बर लगाने के लिए सीसी सड़क को जगह-जगह से काट दिया और काम भी अधूरा छोड़ रखा है। बरसात में पानी भरने से गड्ढ़े दिखाई नहीं देते और स्कूल से लौटते वक्त बच्चे गड्ढ़ों में गिरकर चोटिल हो रहे हैं। घर तक वाहन नहीं पहुंच पा रहे।  वाहन चोरी होने का खतरा बना रहता है। वहीं, अभिभावकों के लिए बच्चों को स्कूल ले जाना और वापस लाना जोखिमभरा रहता है।
- बाबूलाल सिंह

बोरखेड़ा क्षेत्र में बरसों से बाशिंदे आवासीय पट्टों की मांग कर रहे हैं, नगर निगम व यूआईटी के चक्कर भी काट रहे लेकिन कहीं भी सुनवाई नहीं हो रही। वहीं, पार्षद से भी शिकायत की लेकिन फायदा नहीं हुआ। पट्टों के अभाव में मकानों बनाने के लिए कोई बैंक ऋण तक नहीं देता। बारिश के दौरान पूरी गली में कीचड़ पसरा रहता है। कई राहगीर व दुपहिया वाहन चालक  गिरकर चोटिल हो चुके हैं।
- मथूरालाल कुश्वाह

नई सड़कें और पट्टे दिलाना प्राथमिकता
वार्ड 11 में अभी सीवरेज लाइन डालने का काम चल रहा है, जिन इलाकों में काम पूरा हो गया वहां खुद खड़े रहकर सीसी सड़क बनवा भी रहे हैं। जहां पानी की लाइन टूटी है, वहां शुक्रवार सुबह दुरुस्त करवा देंगे। वहीं, बोरखेड़ा क्षेत्र का आधा हिस्सा यूआईटी और आधा नगर निगम के दायरे में आता है। मैंने पट्टे बनवाने के लिए वार्ड में दो दिवसीय शिविर लगवाया था, जिसके लिए मुनादी भी करवाई थी, लोग आए और आवेदन भी किया था, उन्हें तो पट्टे मिलेंगे लेकिन जिन्होंने आवेदन ही नहीं किया उन्हें कैसे मिलेगा। केडीएल मनमानी कर रही है। कंपनी की वितरण व्यवस्था घटिया है, लोग परेशान हैं। वार्डों में विकास कार्यों के लिए एक करोड़ का बजट जारी हुआ है। आधुनिक शौचालय का निर्माण करवाना साथ ही रोड लाइटें लगवाना प्राथमिकता में शामिल है।
- रचना शर्मा, पार्षद वार्ड 11 कोटा उत्तर

Post Comment

Comment List

Latest News