हर साल 35 लाख से अधिक खर्च, फिर भी नाले उफान पर

चैन माउंटेंड, जेसीबी व मैन्युअल की जा रही नालों की सफाई, कोटा उत्तर में दो घंटे की बरसात से घरों में भरा पानी

हर साल 35 लाख से अधिक खर्च, फिर भी नाले उफान पर

शहर में बरसात से पहले ही नालों की सफाई का काम किया जा रहा है। करीब 35 लाख रुपए से अधिक सालाना खर्च करने के बाद भी नाले उफान पर हैं। जिससे लोगों के घरों में पानी भरने की समस्या बनी हुई है।

कोटा । शहर में बरसात से पहले ही नालों की सफाई का काम किया जा रहा है। करीब 35 लाख रुपए से अधिक सालाना खर्च करने के बाद भी नाले उफान पर हैं। जिससे लोगों के घरों में पानी भरने की समस्या बनी हुई है। शुक्रवार को दो घंटे की बरसात में ही कई घरों में पानी भर गया। तीन साल में नालों की सफाई पर ही करीब एक करोड़ रुपए से अधिक खर्च किए जा चुके हैं। शहर में पहले एक ही नगर निगम के माधयम से काम किया जा रहा था। लेकिन वर्तमान में कोटा उत्तर व कोटा दक्षिण नगर निगमों के माध्यम से काम किया जा रहा है। दोनों निगमों में जनप्रतिनिधि व वार्ड पार्षद बढ़े हैं। जबकि निगम के अधिकारी व कर्मचारी तो उतने ही हैं। दोनों नगर निगमों में हर साल की तरह इस साल भी बरसात से पहले अप्रैल-मई से ही नालों की सफाई का काम शुरू कर दिया था। कोटा दक्षिण निगम में तो महापौर ने स्वयं खड़े रहकर सभी नालों की सफाई करवाई है। जबकि कोटा उत्तर में भी अधिकारी व महापौर समय-समय पर नालों की मॉनिटरिंग करते रहे हैं। करीब तीन माह से अधिक समय से की जा रही नालों की सफाई के बावजूद भी कोटा दक्षिण की तुलना में कोटा उत्तर के क्षेत्रों में नालों के कारण पानी भरने की समस्या बनी हुई है। कोटा दक्षिण के अधिकतर नालों में पानी बह रहा है। दोनों निगमों में 35 लाख का टेंडर शहर में बरसाती नालों की सफाई के लिए दोनों नगर निगमों में इस साल चैन माउंटेंड मशीनों का टेंडर किया गया। दोनों निगमों में करीब 35 लाख रुपए इस पर खर्च किए गए। कोटा दक्षिण में 20 लाख व कोटा उत्तर में 15 लाख रुपए खर्च किए गए। इसके अलावा कोटा उत्तर में जेसीपी डंपर का भी ठेका हुआ। साथ ही मैन्युअल भी सफाई करवाई गई। जबकि कोटा दक्षिण निगम में जेसीबी डंपर नगर निगम के लगाए गए थे। इसी तरह से हर साल नालों की सफाई पर 30 से 35 लाख रुपए खर्च किए जा रहे हैं। इसके अलावा निगम के कर्मचारी व संसाधन भी नालों की सफाई में लगे हुए हैं। इस तरह गत तीन वर्ष में ही करीब एक करोड़ रुपए से अधिक नालों की सफाई पर खर्च किए जा चुके हैं। पुराने शहर में नहीं जाती चैन माउंटेंड नगर निगम कोटा उत्तर के पुराने शहर जिनमें घंटाघर, चश्मे की बावड़ी, मकबरा, लाड़पुरा व पाटनपोल समेत कई क्षेत्रों में चैन माउंटेंड मशीन बड़ी होने से नहीं जा पाती। जिससे यहां मैन्युअल ही सफाई करवाई जाती है। इस क्षेत्र में सबसे बड़े चश्मे की बावड़ी नाले की सफाई करवाने के बाद भी उसका पानी शुक्रवार को उफान पर आ गया। जिससे यहां शुक्रवार को दो घंटे की बरसात में मुख्य मार्ग व गली मौहल्लों में और घरों में पानी भर गया। हालांकि बरसात थमने के काफी देर बाद सड़को से तो पानी बह गया लेकिन घरों में भरे पानी को निकालने के लिए लोगों को मशक्कत करनी पड़ी। नए कोटा के मुख्य मार्ग भी जलमग्न हुए शहर में शुक्रवार को हुई तेज बरसात के चलते नए कोटा के कई इलाकों के मुख्य मार्ग व क्षेत्र जलमग्न हो गए। दादाबाड़ी व जवाहर नगर समेत कई क्षेत्रों में बरसात का पानी भरने से लोगों को घरों से बाहर निकलने व सड़कों से वाहन निकालने तक में परशानी हुई।

इनका कहना है

घंटाघर व मकबरा क्षेत्र ढलान पर हैं। इस कारण से यहां तेज बरसात होने पर सभी जगह का पानी बहकर आने से पानी घरों में भर जाता है। लेकिन वह भी पहले की तुलना में कम है। नालों की सफाई करवाने से इसमें फर्क पड़ा है। फिर भी शनिवार से सफाई कर्मचारी लगाकर नालों की सफाई करवाई जाएगी। -फरीदुद्दीन कुरैशी, उप महापौर,

Read More शादी की तैयारियों के बीच मेरिज गार्डन पहुंचा भारी भरकम मगरमच्छ, मचा हड़कम्प

नगर निगम कोटा उत्तर कोटा उत्तर में नालों की सफाई के कारण अब बरसात में पानी भरने की समस्या नहीं हैं। तेज बरसात के समय में सब्जीमंडी समेत कई जगह पर कुछ देर के लिए पानी भरता है। लेकिन बरसात रूकते ही बह जाता है। घंटाघर व लाड़पुरा में चैन माउंटेंड व जेसीबी नहीं जाने से वहां मैन्युअल ही नालों की सफाई करवाई जाती है। -मंजू मेहरा, महापौर,

नगर निगम कोटा उत्तर बरसात से पहले ही नालों की सफाई का अभियान चलाया गया। सभी नालों को मौके पर खड़े रहकर गहराई से साफ कराया। जिससे इस बार बरसात में कहीं भी पानी नहीं भरा। तेज बरसात में कुछ देर तो पानी भर सकता है लेकिन वह अधिक समय तक ठहरता नहीं हैं। अगले साल यह समस्या भी नहीं रहेगी। -राजीव अग्रवाल, महापौर, नगर निगम कोटा दक्षिण

Post Comment

Comment List

Latest News

भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुई सोनिया गांधी, राहुल ने कहा,  यात्रा को मिलेगी मजबूती भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुई सोनिया गांधी, राहुल ने कहा, यात्रा को मिलेगी मजबूती
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जी भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुईं। इससे पहले कांग्रेस संचार विभाग के प्रभारी जयराम रमेश...
विकास के लिए धन की कोई कमी नहीं, आप मांगते-मांगते थक जाएंगे पर मैं देते-देते नहीं थकूंगा: गहलोत
दिल्ली के कपड़ा मार्केट में लगी भीषण आग, 1 व्यक्ति की मौत
फकीर आदमी हूं, मेरे यहां धेला नहीं मिलेगा और चुनाव में अखिलेश-जयंत की मदद करूंगा: सत्यपाल मलिक
बॉन्ड नीति के विरोध में रेजिडेंट डॉक्टर्स का अस्पतालों में पूर्णतया कार्य बहिष्कार
पूर्व पुलिसकर्मी ने चाइल्ड केयर सेंटर में की फायरिंग, 23 बच्चों समेत 34 लोगों की मौत
भारत में निर्मित कफ सिरप पीने से गाम्बिया में 66 बच्चों की मौत, डब्ल्यूएचओ ने दी चेतावनी