कोरोना टीके की कीमत पर ममता बनर्जी का केंद्र पर निशाना, कहा- देश में एक वैक्सीन एक दाम क्यों नहीं?

कोरोना टीके की कीमत पर ममता बनर्जी का केंद्र पर निशाना, कहा- देश में एक वैक्सीन एक दाम क्यों नहीं?

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर को मोदी निर्मित आपदा करार दिया है। दक्षिण दिनाजपुर में एक जनसभा को संबोधित करते कोविड वैक्सीन के मुद्दे पर बीजेपी को कटघरे में खड़ा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोरोना संकट के लिए जिम्मेदार ठहराया।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर को मोदी निर्मित आपदा करार दिया है। दक्षिण दिनाजपुर में एक जनसभा को संबोधित करते कोविड वैक्सीन के मुद्दे पर बीजेपी को कटघरे में खड़ा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोरोना संकट के लिए जिम्मेदार ठहराया। तृणमूल सुप्रीमो ने कहा कि दूसरी कोविड लहर पहली कोरोना लहर से ज्यादा खतरनाक है। मैं कहूंगी कि यह मोदी निर्मित विपत्ति है। कोई इन्जेक्शन या ऑक्सीजन नहीं है। वैक्सीन और दवाएं देश से बाहर भेज दी गईं जबकि देश में इनकी कमी थी। इतना ही नहीं ममता ने वैक्सीन के दामों को लेकर भी केंद्र सरकार को घेरा।

ममता बनर्जी ने गुरुवार को कहा कि भाजपा हर समय एक राष्ट्र, एक पार्टी, एक नेता की बात करती रहती है, लेकिन लोगों की जान बचाने के लिए टीके की एक कीमत तय नहीं कर सकती। देश में क्यों नहीं वन वैक्सीन वन प्राइस होना चाहिए। क्यों केंद्र खरीदे तो 150 रुपए और राज्य खरीदे तो 400 रुपए। ये राज्यों के साथ भेदभाव नहीं तो क्या है। ममता बनर्जी ने कहा कि हर भारतीय को उम्र, जाति, पंथ, स्थान की परवाह किए बिना मुफ्त वैक्सीन की आवश्यकता होती है। भारत सरकार को कोविड-19 वैक्सीन के लिए एक मूल्य तय करना चाहिए, चाहे केन्द्र या राज्य कोई भी इसके लिए भुगतान करे। और वैसे तो इसे मुफ्त में देना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार की राज्य में एक बार फिर से लॉकडाउन लगाने की अभी कोई योजना नहीं है। उन्होंने कहा कि अभी लॉकडाउन लगाने का कोई सवाल ही नहीं उठता। ऐसा करने से लोग अपनी आजीविका कैसे चलाएंगे। रात्रि कर्फ्यू भी इसका कोई समाधान नहीं है। ममता बनर्जी ने दक्षिण दिनाजपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें राजनीति का अच्छा खासा अनुभव है और वह बंगाल को दिल्ली के दो गुंडों के हाथों में नहीं जाने देंगी। मैं कोई खिलाड़ी नहीं हूं, लेकिन मैं यह अच्छी तरह से जानती हूं कि कैसे खेलना चाहिए। मैं इससे पहले लोकसभा में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी थी। हम दिल्ली के दो गुंडों के समक्ष बंगाल का आत्मसमर्पण नहीं करा सकते।

Post Comment

Comment List

Latest News

प्रतिबंध की मार से 500 करोड़ की पॉलीथिन व डिस्पोजल इंडस्ट्री खत्म प्रतिबंध की मार से 500 करोड़ की पॉलीथिन व डिस्पोजल इंडस्ट्री खत्म
प्रदूषण नियंत्रण मंडल की ओर से सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने से कोटा शहर में करोड़ों का कारोबार सिमट...
हर साल 35 लाख से अधिक खर्च, फिर भी नाले उफान पर
कोटा उत्तर वार्ड 18- सुबह-शाम 3 घंटे मिलता पानी, दिनभर रहती मारामारी
पीओपी मूर्तियों पर प्रतिबंध ने छीना मूर्तिकारों का रोजगार
नगर परिषद की कार्रवाई के खिलाफ बीजेपी कार्यकर्ता और व्यापारियों का धरना प्रदर्शन
बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेल 2022: लक्ष्य ने पाया लक्ष्य, जीता गोल्ड मैडल
जेईई मेंस सेकेंड सेशन रिजल्ट: जयपुर के पार्थ को मिली ऑल इंडिया तीसरी रैंक