बदहाल ट्रैफिक, रोंग साइडर्स ने बढ़ाई परेशानी

बढ़ा हादसों का खतरा : हर सड़क व चौराहे पर रोंग साइड चलने को मजबूर हैं वाहन चालक

बदहाल ट्रैफिक, रोंग साइडर्स ने बढ़ाई परेशानी

शहर की ट्रैफिक व्यवस्था पिछले काफी समय से बदहाल हो रही है। उसमें सबसे अधिक परेशानी का कारण बन रहे हैं रोंग साइडर्स वाहन। जिनसे शहर में हर समय हादसों का खतरा बना हुआ है।

कोटा । शहर की ट्रैफिक व्यवस्था पिछले काफी समय से बदहाल हो रही है। उसमें सबसे अधिक परेशानी का कारण बन रहे हैं रोंग साइडर्स वाहन। जिनसे शहर में हर समय हादसों का खतरा बना हुआ है। मोटर व्हीकल एक्ट व कानून के अनुसार वैसे तो रोंग साइड वाहन चलाना अपराध है। ऐसा करने पर ट्रैफिक पुलिस द्वारा वाहन चालकों का चालान बनाने का प्रावधान है। लेकिन हालत यह है कि कोटा शहर में हर सड़क पर रोंग साइड वाहनों को निकलते हुए सुबह से रात तक देखा जा सकता है। शहर की कोई सड़क व चौराहा ऐसा नहीं हैं जहां से लोग रोंग साइड वाहन नहीं निकाल रहे हों। 

नयापुरा स्थित शहर का प्रवेश विवेकानंद चौराहा हो या जेडीबी कॉलेज के सामने का चौराहा। गुमानपुरा थाने के पास से छावनी चौराहे का रास्ता हो या बड़ तिराहे से कोटड़ी की तरफ जाने का रास्ता। डीसीएम रोड से नई धानमंडी की तरफ जाने का रास्ता हो या नई धानमंडी से छावनी जाने का रास्ता। शॉपिंग सेंटर से सीएडी चौराहा जाने का रास्ता हो या एसपी कार्यालय से अदालत चौराहे जाने का रास्ता। कोई भी रास्ता व सड़क ऐसी नहीं हैं जहां से वाहन चालक सुरक्षित वाहन निकल सके। हर सड़क  पर रोंग साइड वाहन निकल रहे हैं। जिससे सही रास्ते पर चलने वाले वाहनों के दुर्घटनाग्रस्त होने का खतरा बना हुआ है। हालत तो यह है कि सही दिशा में चलने वाले वाहन चालकों को ही संभलकर वाहन चलाने पड़ रहे हैं। जबकि रोंग साइड से वाहन निकालने वाले बेखौफ  चल रहे हैं। सही चलने वालों से पहले रोंग साइड चलने वालों को निकालना पड़ रहा है। जिससे वहां ट्रैफिक जाम नहीं हो। रोंग साइडर्स के कारण सबसे अधिक ट्रैफिक जाम की समस्या गुमानपुरा थाने से छावनी चौराहा जाने वालीे सड़क पर देखने को मिलता है। यहां दिनभर में कई बार जाम लगता है। पहले गुमानपुरा थाने के पास फ्लाई ओवर के कोने पर ट्रैफिक पुलिस के जवान खड़े रहते थे। जिनके डर के कारण लोग रोेंग साइड से नहीं निकलते थे। लेकिन पिछले काफीे समय से वहां कोई ट्रैफिस पुलिस कर्मी नजर नहीं आने से रोंग साइड निकलने वालों की संख्या बढ़ी है। 

बार-बार बदले टीआई लेकिन सुधार नहीं
शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार के लिए शहर पुलिस अधीक्षक द्वारा बार-बार यातायात निरीक्षक(टीआई) को बदला जा रहा है। लेकिन ट्रैफिक में सुधार नजर नहीं आ रहा है। राजेन्द्र कविया से लेकर घनश्याम मीणा तक और चंद्र प्रकाश यादव से लेकर कलावती चौधरी तक तो बहुत जल्दी-जल्दी बदलाव हुए। उससे पहले भी शहर में कई टीआई रह चुके हैं। लेकिन ट्रैफिक व्यवस्था सुधरने  की जगह लगातार बिगड़ती ही जा रही है। 

Read More भाजपा के टेपन 978 वोट से हुए विजयी 

लोगों का कहना रोंग साइड चलना मजबूरी
इधर जब रोंग साइड चलने वाले वाहन चालकों से जानकारी की गई तो उनका कहना है कि उन्हें पता है कि रोंग साइड चलना गलत है। लेकिन उन्हें मजबूरी में रोंग साइड निकलना पड़ रहा है। शहर में यू टर्न बना दिए हैं। जिससे जरा सी दूरी भी पार करने के लिए लम्बा चक्कर काटना पड़ा रहा है। जिससे पेट्रोल व समय अधिक खर्च हो रहा है। महंगाई के दौर में पेट्रोल बचाने के लिए रोेंग साइड वाहन निकालने पड़ रहे हैं। सबसे अधिक परेशानी नई धानमंडी जाने वाले रास्ते पर हो रही है। 

इनका कहना है
 लोगों को यातायात नियमों की पालना करनी चाहिए। रोंग साइड वाहन चलाना गलत व अपराध है। ऐसे में चालान बनाने का प्रावधान है। अभी कुछ दिन पहले ही ट्रैफिक का चार्ज संभाला है।  रोंग साइड चलने वालों को समझाइश कर सही दिशा में चलने समेत शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार के प्रयास किए जाएंगे। 
-कलावती चौधरी, यातायात निरीक्षक 

Post Comment

Comment List

Latest News

भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस
उन्होंने कहा कि यात्रा को पहले दक्षिण के पांच राज्यों में भारी समर्थन मिला था और जब यात्रा  महाराष्ट्र पहुंची...
झुंझुनूं में विकास की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी : बृजेंद्र ओला
भारतीय संविधान विश्वभर के लोकतंत्रों की सर्वश्रेष्ठ व्याख्या: राज्यपाल मिश्र
खाद की कमीः क्षेत्र में खाद भी राशन की तरह बांटना पड़ा
वसुंधरा राजे हमारी नेता थी, हैं और हमारी नेता रहेगी : कालीचरण सर्राफ
सेना के जवान का बीमारी के चलते निधन राजकीय सम्मान से किया अंतिम संस्कार
भाजपा के टेपन 978 वोट से हुए विजयी