नांता महल स्कूल का मामला, न्यायालय ने जिला शिक्षा अधिकारी व प्रधानाचार्य को नोटिस जारी कर मांगा जवाब

मामले में 15 सितंबर को होगी सुनवाई

नांता महल स्कूल का मामला, न्यायालय ने जिला शिक्षा अधिकारी व प्रधानाचार्य को नोटिस जारी कर मांगा जवाब

शहर की स्थाई लोक अदालत ने जर्जर नांता महल में चल रहे स्कूल के मामले में सुनवाई करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक और जिला शिक्षाअधिकारी माध्यमिक तथा प्रधानाचार्य को नोटिस जारी करते हुए 15 सितंबर 2022 तक जवाब तलब किया है ।

कोटा। शहर की स्थाई लोक अदालत ने जर्जर नांता महल में चल रहे स्कूल के मामले में सुनवाई करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक और जिला शिक्षाअधिकारी माध्यमिक तथा प्रधानाचार्य को नोटिस जारी करते हुए 15 सितंबर 2022 तक जवाब तलब किया है। इस मामले में अधिवक्ता लोकेश कुमार सैनी ने अदालत में 22 अगस्त 2022 को एक जनहित याचिका पेश करते हुए बताया कि नांता के रियासत कालीन 5 मंजिला महल में 2 सरकारी विद्यालय संचालित हो रहे हैं । महल की इमारतें पूरी तरह से जर्जर हो चुकी हैं । महल की 5 में से 3 मंजिल इमारत पूरी तरह खंडहर है जिनमें बंदरों का बसेरा रहता है ।  दूसरी मंजिल पर कक्षा एक से 12 वीं तक की कक्षाएं भी चलती हैं । दोनों मंजिलों को मिलाकर कुल 10  कमरे बने हुए हैं परंतु बैठने लायक एक भी नहीं है । छतों की पट्टियां टूटी हुई है जिन्हें लोहे के लेंटरों से रोका गया है। बंदरों की उछल कूद से छज्जे आए दिन गिर जाते हैं।  फर्श  टूटा पड़ा है ,चारों तरफ घना जंगल होने  से जहरीले जीव जंतु विद्यालय तक आ जाते है। 

याचिका में बताया गया कि इन सब खतरों से अनजान मासूम बच्चे जर्जर भवन में पढ़ने को मजबूर हो रहे हैं ।  63 बच्चे कक्षा 7 के पढ़ाई करते हैं जबकि अन्य कमरे गिर चुके हैं।  जर्जर महल में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय संचालित हो रहा है । यहां 416 बच्चों का नामांकन है पक्के कमरों के स्थान पर  तिवारे हैं जिनमें कक्षा 6 , 9 और 11वीं की क्लास एक साथ चलती हैं । वाटर कूलर भी नहीं है बोरिंग का गंदा पानी आता है जिसे बच्चे पीने को मजबूर हैं।  इस स्कूल में विगत 7 माह मेें 6 बार चोरियां हो चुकी हैं और लाखों का सामान चोरी हो गया है।  जिसमें कंप्यूटर ,स्पीकर सेट ,माइक्रोफोन ,पोषाहार के बर्तन,फर्नीचर शामिल है । कमरों के दरवाजे- बाथरूम में लग ेगेट तोड़ दिए गए हैं।  इसके बावजूद यहां विद्यालय संचालित किया जा रहा है । इस मामले में न्यायालय ने सुनवाई करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक ,जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक कोटा , प्रधानाचार्य को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है । 

 

Read More  कोटा उत्तर वार्ड 29 : सूअरों का आतंक,ऊंची नीची सड़कों से राहगीर परेशान

Post Comment

Comment List

Latest News

हिमाचल प्रदेश:वोटों की गिनती से पहले भाजपा और कांग्रेस की नजर बागियों पर हिमाचल प्रदेश:वोटों की गिनती से पहले भाजपा और कांग्रेस की नजर बागियों पर
सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने 8 दिसंबर को चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद प्रियंका...
करीना कपूर ने मलाइका अरोड़ा को नए शो के लिए बधाई दी
जापान: नर्सरी स्कूल के शिशुओं के साथ दुर्व्यवहार के आरोप में तीन शिक्षिकाएं गिरफ्तार
ट्विटर पर एप्पल विज्ञापन फिर से हुए बहाल: मस्क
राजू ठेहठ हत्याकांड में 24 घंटे के अंदर पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 5 बदमाशों को पकड़ा
पार्टी के नए नेताओं को देना पड़ेगा मौका : खड़गे
पंजाब में ड्रोन से 3 किलोग्राम हेरोइन बरामद