देश लौट सकते हैं गोटाबाया राजपक्षे

आर्थिक संकट के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन के बाद देश छोड़कर भाग गए थे

देश लौट सकते हैं गोटाबाया राजपक्षे

राजपक्षे (73) श्रीलंका में अब तक के सबसे बड़े आर्थिक संकट के बीच उनकी सरकार के खिलाफ भड़के विद्रोह के बाद देश छोड़कर चले गए थे। उनके इस्तीफे की प्रदर्शनकारियों की मांग ने नौ जुलाई को उस समय जोर पकड़ लिया था, जब प्रदर्शनकारी कोलंबो में राष्ट्रपति के आवास और राजधानी में अन्य सरकारी इमारतों में घुस आए थे। राजपक्षे 13 जुलाई को देश छोड़कर चले गए थे।

कोलंबो। श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे शनिवार को स्वदेश लौट सकते हैं। वह जुलाई में आर्थिक संकट के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन के बाद देश छोड़कर भाग गए थे। एक मीडिया रिपोर्ट में शुक्रवार को यह जानकारी दी गयी। द आइलैंड अखबार ने बताया कि राजपक्षे अभी थाईलैंड में हैं। पूर्व राष्ट्रपति जिनकी देखरेख में 2009 में तमिल टाइगर्स को समाप्त किया गया था। वह थाईलैंड जाने से पहले कुछ समय के लिए पहले मालदीव और फिर सिंगापुर रुके थे। 

राजपक्षे (73) श्रीलंका में अब तक के सबसे बड़े आर्थिक संकट के बीच उनकी सरकार के खिलाफ भड़के विद्रोह के बाद देश छोड़कर चले गए थे। उनके इस्तीफे की प्रदर्शनकारियों की मांग ने नौ जुलाई को उस समय जोर पकड़ लिया था, जब प्रदर्शनकारी कोलंबो में राष्ट्रपति के आवास और राजधानी में अन्य सरकारी इमारतों में घुस आए थे। राजपक्षे 13 जुलाई को देश छोड़कर चले गए थे।

गोटबाया राजपक्षे के प्रभावशाली अन्य भाई पूर्व राष्ट्रपति और पूर्व प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे और पूर्व मंत्री बासिल राजपक्षे श्रीलंका में रहते हैं और उन्हें अदालत ने देश छोडऩे से रोक लगाई थी।

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News

जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम
सचिव शिव जालान ने बताया कि इसमें अनेक कलाकार गीतों, गजलें और नज्मों से स्व. जगजीत सिंह को स्वरांजलि अर्पित...
सतीश पूनियां ने सीएम को लिखा पत्र, आमेर विस क्षेत्र की मांगों को बजट में शामिल करने का किया आग्रह
केरल का इंटरनेशनल थियेटर फेस्टिवल 5 फरवरी से होगा शुरू
मोबाइल फोन के बेतहाशा इस्तेमाल से बढ़ा विजन सिंड्रोम का खतरा
तालिबान प्रशासन व्याख्याता मशाल को तत्काल रिहा करें: संयुक्त राष्ट्र
अडानी सीमेंट के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग
खान सुरक्षा अभियान में निदेशक खान का जोधपुर दौरा