असर खबर का : हरकत में आया प्रबंधन, चालू की यूनिट दो

सभी पॉवर प्लांटों में तीन दिन का ही कोयला

असर खबर का : हरकत में आया प्रबंधन, चालू की यूनिट दो

प्रदेश में चल रहे बिजली संकट के मामले में दैनिक नवज्योति ने पॉवर प्लांटों की 11 यूनिट बंद होने के सम्बंध में प्रमुखता से समाचार प्रकाशित किया था। इसमें कोटा थर्मल की तीन यूनिट बंद होने का भी उल्लेख था। मामले की जानकारी विद्युत उत्पादन निगम के उच्चाधिकारियों को मिली तो कोटा थर्मल प्रबंधन तुरन्त हरकत में आ गया और यूनिट दो को चालू करने में जुट गया। ऐसे में बुधवार को ही प्रबंधन ने यूनिट दो को लाइटअप कर दिया।

कोटा। छतीसगढ़ से आपूर्ति प्रभावित होने के कारण प्रदेश के पॉवर प्लांटों में कोयला संकट बना हुआ है। वर्तमान में सभी पॉवर प्लांटों में तीन दिन का ही कोयला बचा हुआ है। वहीं बुधवार को कोटा थर्मल पॉवर प्लांट की बंद पड़ी यूनिट दो को चालू कर दिया गया। अब प्लांट में सात में से पांच यूनिट चालू हो गई है। वहीं दो यूनिट बंद पड़ी हुई है। जानकारी के अनुसार राजस्थान के चार पॉवर प्लांट की 11 यूनिट्स बंद चल रही थी। जिसमें सूरतगढ़ थर्मल पावर प्लांट की 4, कोटा थर्मल पावर प्लांट की 3, राजवेस्ट की 2, छबड़ा थर्मल पावर प्लांट की 1 और रामगढ़ की 1 यूनिट शामिल है। इन यूनिटों से बिजली उत्पादन नहीं हो रहा है। बंद यूनिटों से 2400 मेगावाट कैपिसिटी बिजली प्रोडक्शन होता था, जो अब ठप पड़ गया है। बुधवार शाम को कोटा थर्मल की यूनिट दो को लाइटअप कर दिया गया। यह यूनिट 29 सितंबर से बंद पड़ी हुई थी। कोटा थर्मल पावर प्लांट में सात यूनिट हैं। इनमें से यूनिट एक, दो और तीन बंद पड़ी हुई थी, जबकि  यूनिट चार, पांच, छह व सात से बिजली उत्पादन जारी है। अब यूनिट दो को भी चालू कर दिया गया है।  

कोयला संकट बरकरार
कोटा थर्मल में केवल तीन दिन का ही कोयला स्टॉक बचा हुआ है। यहां पर रोजाना कोयले की 4 से 5 रैक आ रही है। केंद्र की गाइड लाइंस के मुताबिक थर्मल पॉवर प्लांटों में 26 दिन का कोयला स्टॉक होना जरूरी है, लेकिन कोयले की किल्लत की चलते राजस्थान के एक भी पॉवर प्लांट में गाइडलाइन की पालना नहीं हो पा रही है। प्रदेश के पॉवर प्लांटों में कोयले की कमी पिछले एक साल से बरकरार है। राजस्थान के सभी पॉवर प्लांट्स को पूरी क्षमता पर चलाने के लिए हर दिन 37 रैक कोयले की जरूरत होती है।

दैनिक नवज्योति ने उठाया था मामला
प्रदेश में चल रहे बिजली संकट के मामले में दैनिक नवज्योति ने पॉवर प्लांटों की 11 यूनिट बंद होने के सम्बंध में प्रमुखता से समाचार प्रकाशित किया था। इसमें कोटा थर्मल की तीन यूनिट बंद होने का भी उल्लेख था। मामले की जानकारी विद्युत उत्पादन निगम के उच्चाधिकारियों को मिली तो कोटा थर्मल प्रबंधन तुरन्त हरकत में आ गया और यूनिट दो को चालू करने में जुट गया। ऐसे में बुधवार को ही प्रबंधन ने यूनिट दो को लाइटअप कर दिया। 

Read More पहले दिन चार कांस्टेबलों का ‘हैप्पी मंडे’

कोटा थर्मल पॉवर प्लांट में यूनिट दो कुछ दिनों से बंद पड़ी हुई थी। दैनिक नवज्योति में समाचार प्रकाशित होने के बाद थर्मल का प्रबंधन हरकत में आया और बुधवार को ही यूनिट को लाइटअप कर दिया गया। प्लांट में अभी भी कोयला संकट बरकरार है।
- राम सिंह शेखावत, अध्यक्ष राजस्थान विद्युत उत्पादन कर्मचारी संघ

Post Comment

Comment List

Latest News

रीजनल कॉलेज फॉर एजूकेशन रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी में मोटिवेशनल प्रोग्राम का आयोजन रीजनल कॉलेज फॉर एजूकेशन रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी में मोटिवेशनल प्रोग्राम का आयोजन
संस्था के वाइस चेयरमैन डॉ. अंशु सुराना ने बताया कि कॉलेज में समय समय पर कैरियर गाइडेंस के कार्यक्रम आयोजित...
पायलट और मैं पार्टी एसेट, हमारे और नेता भी एसेट: गहलोत
आईएफएफआई जूरी प्रमुख की टिप्पणी कश्मीरी हिंदुओं पर हुए अत्याचारों की भयावहता का अपमान - रोड्रिग्स
30 लाख कीमत का 287 किलो गांजा बरामद, 6 अभियुक्त गिरफ्तार
राहुल, सोनिया की जुबान बोल रहे हैं खडग़े : भाजपा
बेकाबू मेटाडोर कार में घुसी, दो की मौत, तीन घायल
हिमालय से कोटा पहुंचे ब्लैक काइट शिकारी पक्षी