मेयर सौम्या ने सीएम से मिलने के बाद डीएलबी को दिया नोटिस का जवाब

60 पेज का विस्तृत जवाब, अब सरकार विधिक राय के बाद लेगी फैसला

मेयर सौम्या ने सीएम से मिलने के बाद डीएलबी को दिया नोटिस का जवाब

 डीएलबी डॉयरेक्टर को अपना जवाब देने के बाद मीडिया से बात करते हुए सौम्या ने कहा कि मैंने अपना सारा रिप्रजेन्टेशन मुख्यमंत्री को दे दिया है और उनको सभी तथ्यों से अवगत करवा दिया है।

जयपुर। नगर निगम ग्रेटर जयपुर की महापौर सौम्या गुर्जर ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात के बाद डीएलबी डायरेक्टर को नोटिस का 60 पेज का विस्तृत जवाब पेश किया। इसमें सौम्या ने घटनाक्रम को लेकर क्रमबद्ध तरीके से जानकारी दी है। वहीं मामले में खुद की सीमित भूमिका बताई है।  डीएलबी डॉयरेक्टर को अपना जवाब देने के बाद मीडिया से बात करते हुए सौम्या ने कहा कि मैंने अपना सारा रिप्रजेन्टेशन मुख्यमंत्री को दे दिया है और उनको सभी तथ्यों से अवगत करवा दिया है। मुख्यमंत्री ने भी मेरी पूरी बात को अच्छे से सुना है। मुझे उम्मीद है कि न्याय मिलेगा। मैने डीएलबी के कारण बताओ नोटिस का जवाब दे दिया है। हाईकोर्ट के आदेशों के बाद सौम्या ने 12 नवंबर को महापौर का पद दोबारा संभाला था। उसी दिन राज्य सरकार ने उन्हें कारण बताओ नोटिस देते हुए सात दिन में जवाब पेश करने का समय दिया था। सौम्या ने 18 नवंबर को एक महीने का अतिरिक्त समय मांगा था, लेकिन सरकार ने एक महीने का न देकर एक सप्ताह का अतिरिक्त समय दिया था। राज्य सरकार सौम्या के जवाब का अब कानूनी अध्ययन करवाएगी। इसके बाद इस मामले में निर्णय लेगी।

Post Comment

Comment List

Latest News