नेपाल में सत्तारूढ़ गठबंधन को नहीं मिला बहुमत

कम्युनिस्ट पार्टी (एकीकृत माक्र्सवादी लेनिनवादी) 78 सीटों के साथ मुख्य विपक्षी दल

नेपाल में सत्तारूढ़ गठबंधन को नहीं मिला बहुमत

इस बार 12 दलों ने निचले सदन में अपनी जगह बनाई है। नवगठित राष्ट्रीय स्वतंत्र पार्टी 20 सीटें जीतकर चौथी सबसे बड़ी पार्टी बन गई है।

काठमांडू। नेपाल में हुए आम चुनावों में सत्तारूढ़ नेपाली कांग्रेस गठबंधन बहुमत हासिल करने में विफल रहा। चुनाव आयोग द्वारा मंगलवार की रात आम चुनाव के नतीजे घोषित किये गए। घोषित परिणामों में नेपाली कांग्रेस 89 सीटों पर जीत दर्ज कर प्रतिनिधि सभा में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है, इसके बाद नेपाल की कम्युनिस्ट पार्टी (एकीकृत माक्र्सवादी लेनिनवादी) 78 सीटों के साथ मुख्य विपक्ष है।

नेपाल की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी केंद्र) सत्तारूढ़ भागीदार के रूप में 32 सीटों के साथ तीसरे स्थान रही है।नेपाल की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी (यूनिफाइड सोशलिस्ट) 10 सीटों पर जीत मिली है, जबकि सत्तारूढ़ लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी ने चार सीटों पर जीत हासिल हुए तथा 20 नवंबर को आम चुनाव में चार सत्तारूढ़ दलों के साथ चुनावी गठबंधन बनाने वाले राष्ट्रीय जनमोर्चा को प्रतिनिधि सभा और सात प्रांतीय विधानसभाओं के चुनाव में एक सीट पर जीत मिली है।

सत्तारूढ़ गठबंधन को कुल 275 सीटों में से 136 सीटें हासिल हुई हैं जोकि सरकार बनाने के लिए बहुमत से दो सीटें कम हैं। नेपाल में मिश्रित चुनावी प्रणाली है। इसमें निचले सदन और प्रांतीय विधानसभाओं के 60 प्रतिशत प्रतिनिधि फास्ट-पास्ट-द-पोस्ट मतदान प्रणाली के जरिए चुने जाते हैं, जबकि शेष 40 प्रतिशत आनुपातिक प्रतिनिधित्व प्रणाली के माध्यम से भरे जाते हैं।

चुनाव आयोग के प्रवक्ता शालिग्राम शर्मा पौडेल ने मीडिया को बताया कि हमने वोटों की गिनती और सीट आवंटन का काम पूरा कर लिया है। हम आनुपातिक प्रतिनिधित्व के तहत अपने सांसदों के नाम के लिए बुधवार को पार्टियों को पत्र लिखेंगे। 

इस बार 12 दलों ने निचले सदन में अपनी जगह बनाई है। नवगठित राष्ट्रीय स्वतंत्र पार्टी 20 सीटें जीतकर चौथी सबसे बड़ी पार्टी बन गई है।

Tags: nepal

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News