भाजपा कितना भी झूठ बोल ले, प्रदेश की जनता सच के साथ: गहलोत

सरदारशहर उपचुनाव में जनकल्याणकारी योजनाओं पर जनता ने लगाई मुहर

भाजपा कितना भी झूठ बोल ले, प्रदेश की जनता सच के साथ: गहलोत

गहलोत ने सोशल मीडिया के जरिए कहा कि जनता का स्पष्ट संदेश है कि 2023 में राजस्थान में कांग्रेस पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएगी। राजस्थान में विगत चार सालों में हुए 9 उप चुनावों में कांग्रेस ने सात सीटों पर जीत दर्ज की है।

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सरदारशहर उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी अनिल शर्मा को जीत की बधाई एवं सभी मतदाताओं का आभार जताते हुए कहा कि यह जीत कांग्रेस सरकार के पारदर्शी, संवेदनशील, जवाबदेह सुशासन एवं शिक्षा, स्वास्थ्य एवं सामाजिक सुरक्षा की जनकल्याणकारी योजनाओं पर जनता की मुहर है। वहीं हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की विजय पर नेता एवं कार्यकर्ताओं को बधाई एवं हिमाचल की जनता का धन्यवाद। गुजरात में आए जनादेश को विनम्रता से स्वीकार करते हैं। हमारी नीतियों, कार्यक्रमों और सिद्धांतों की लड़ाई आगे भी जारी रहेगी।

गहलोत ने सोशल मीडिया के जरिए कहा कि जनता का स्पष्ट संदेश है कि 2023 में राजस्थान में कांग्रेस पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएगी। राजस्थान में विगत चार सालों में हुए 9 उप चुनावों में कांग्रेस ने सात सीटों पर जीत दर्ज की है। बीजेपी महज एक सीट जीत सकी है। इनमें भी भाजपा एक सीट पर जमानत जब्त एवं एक सीट पर तीसरे नंबर पर पहुंचं गई। यह दिखाता है कि राजस्थान की जनता ने भाजपा को पूरी तरह से नकार दिया है। भाजपा कितना भी झूठ बोल ले, पर राजस्थान की जनता सच के साथ है एवं 2023 में रिवाज बदलकर फिर से कांग्रेस को जिताएगी।

Post Comment

Comment List

Latest News

प्रदेशभर में मनाया लैब टेक्नीशियन दिवस प्रदेशभर में मनाया लैब टेक्नीशियन दिवस
प्रदेश भर के सभी चिकित्सा संस्थानों में 15 अप्रैल को लैब टेक्नीशियन दिवस बड़े जोश उल्लास के साथ मनाया गया।...
5.25 लाख की आबादी भुगत रही जेडीए की हठधर्मिता का खामियाजा
भाजपा के संकल्प पत्र पर गहलोत का निशाना- मंहगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर बात नहीं करती भाजपा
आरपीआई पार्टी के अध्यक्ष और केन्द्रीय मंत्री रामदास अठावले बोले- पार्टी भाजपा के साथ
निर्वाचन आयोग ने की रिकार्ड 4650 करोड़ की जब्ती, 75 साल के इतिहास की सबसे बड़ी जब्ती
ट्यूबवेल सात माह से खराब, पेयजल का संकट
टोल बचाने की जुगत: सुकेत में भारी वाहनों का दबाव बढ़ा