पाक को परमाणु और मिसाइल तकनीक  दे रही कंपनियों पर अमेरिका ने लगाया बैन

कुल 24 कंपनियों पर निर्यात प्रतिबंध

पाक को परमाणु और मिसाइल तकनीक  दे रही कंपनियों पर अमेरिका ने लगाया बैन

अमेरिका के इस ऐलान से पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल असीम मुनीर को झटका लगा है जो पाकिस्तान की परमाणु ताकत को बढ़ा रहे हैं। अमेरिका के कामर्स डिपार्टमेंट ने कहा कि जिन कंपनियों पर अमेरिका ने बैन लगाया है, वे लाटविया, पाकिस्तान, रूस, सिंगापुर और स्विट्जरलैंड की हैं।

वॉशिंगटन। अमेरिका के बाइडन प्रशासन ने पाकिस्तान को खतरनाक परमाणु तकनीक देने के लिए कई पाकिस्तानी कंपनियों पर बैन लगा दिया है। अमेरिका ने कुल 24 कंपनियों पर निर्यात प्रतिबंध लगाया है। अमेरिका ने कहा कि ये कंपनियां रूस को सैन्य या रक्षा उद्योग को मदद कर रही थीं। साथ ही वे पाकिस्तान के परमाणु गतिविधियों या ईरान की एक इलेक्ट्रॉनिक कंपनी को मदद दे रही थी। बाइडन प्रशासन ने कहा कि ये कंपनियां पाकिस्तान के असुरक्षित परमाणु कार्यक्रम को सामानों की आपूर्ति कर खतरा पैदा कर रही थीं। इन कंपनियों पर पाकिस्तान के परमाणु कार्यक्रम और मिसाइल तकनीक के प्रसार से जुड़ी गतिविधियों में शामिल होने का खतरा है। पाकिस्तान में संदिग्ध गतिवधियों में शामिल किसी भी कंपनी ने अभी तक प्रतिक्रिया नहीं दी है। अमेरिका के इस ऐलान से पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल असीम मुनीर को झटका लगा है जो पाकिस्तान की परमाणु ताकत को बढ़ा रहे हैं। अमेरिका के कामर्स डिपार्टमेंट ने कहा कि जिन कंपनियों पर अमेरिका ने बैन लगाया है, वे लाटविया, पाकिस्तान, रूस, सिंगापुर और स्विट्जरलैंड की हैं। इन्हें अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा और विदेश नीति की चिंताओं को देखते हुए प्रतिबंधित किया गया है।

एक्यू खान ने उत्तर कोरिया को दी थी परमाणु तकनीक

अमेरिका ने यूक्रेन में भीषण हमले कर रहे रूस की मदद करने वाली कंपनियों पर भी बैन लगा दिया है। इनमें लाटविया की फाइबर आॅप्टिक सॉल्यूशन भी शामिल है जो रूस को उपकरणों की आपूर्ति करती है। अमेरिका ने रूसी सेना की मदद करने वाली कंपनियों को दंडित करने के लिए एक्सपोर्ट कंट्रोल नीति बनाई है। इन कंपनियों को अब अमेरिकी उपकरणों की खरीद में बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। बता दें कि पाकिस्तान की परमाणु तस्करी का इतिहास रहा है। यही वजह है कि अमेरिका समेत पश्चिमी देशों में पाकिस्तान को बहुत संदेह की दृष्टि से देखा जाता है। 

पाकिस्तान के परमाणु वैज्ञानिक एक्यू खान ने उत्तर कोरिया और लीबिया को परमाणु तकनीक की तस्करी की थी। जब इस खतरनाक मामले का खुलासा हुआ तो पाकिस्तानी परमाणु बम के जनक एक्यू खान को उनके घर में नजरबंद कर दिया गया था। पाकिस्तान ने परमाणु तकनीक देकर उत्तर कोरिया से मिसाइल तकनीक खरीदी थी ताकि भारत के खिलाफ अपनी तैयारी को मजबूत किया जा सके।

Tags: America

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News